गला खराब होना के उपचार ||  खराब गला तो काम आएंगे ये 4 घरेलू उपाय

गला खराब होना के उपचार || खराब गला तो काम आएंगे ये 4 घरेलू उपाय

73 / 100

गला खराब होने के कारण

गला खराब होने के कई कारण होते है इनमे से 3 कारण जो आपके गले को बहुत जल्दी खराब कर देते है वे है :-

  1. गर्म के ऊपर ठंडा पीना, 
  2. तली हुई चीजों को खाने के बाद पानी पीना,
  3. कसरत करने, दौड़ने, तेज चलने या किसी मेहनत वाला काम करने के एकदम बाद ठंडा पीने

बहुत से लोग चाहे उनकी इम्युनिटी कितनी ही स्ट्रांग क्यों न हो, वे इन 3 या इनमे से 1 भी काम कर ले तो उनका गला झट से खराब हो जाता है।
और इस तरह से गला खराब होने पर अगर इसका इलाज न किया जाये तो यह प्रॉब्लम और बढ़ती जाती है और फिर व्यक्ति को जुकाम , खांसी और बुखार तक हो सकता है।

गला खराब होना के उपचार, गला खराब होने के कारण, खराब गला

गला खराब होना के उपचार

अगर किसी भी कारण से आपका गला खराब होता है तो आप इन घरेलू उपायों को भी अपनाकर एक बार जरूर देखें। यह चारो घरेलु उपाय आपको नुकसान पहुंचाए बिना आपके गला खराब की समस्या को दूर करने में आपकी मदद करेंगे।

लौंग चूसना

लौंग में आपके मुंह और गले की सूजन से लड़ने की क्षमता होती है। गले में खराश, खांसी, जुकाम और साइनसाइटिस की प्रॉब्लम में लौंग काफी फायदेमंद होता है।

खराब गले से राहत पाने के लिए आपको बस इतना करना है की 1 लौंग ले कर उसे मुँह में रख ले और उसे हलके-२ चूसते रहे और फिर देखिये आपका खराब गला कैसे ठीक हो जाता है।

लौंग खाने से क्या फायदा होता है? || लौंग खाने के 9 फायदे

हल्दी, सैंधा नमक को पानी में मिलाकर उससे गरारे करे

खराब गले से राहत पाने के लिए अगर आप सिर्फ नमक के पानी के गरारे करते है तो उसमे सैंधा नमक के साथ थोड़ी सी हल्दी भी मिला ले | हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण होते है जो गले की सूजन से आराम दिलाने में काफी फायदेमंद होती है |

इसके लिए एक छोटा चम्मच हल्दी,1/2 चम्मच सैंधा नमक को 200-300 मिली पानी में मिलाकर उबाल ले | उसके गुनगुना होने पर, इस पानी से गरारे करने से लाभ मिलता है। दिन में 3-4 बार ऐसा करे। इससे गले के इन्फेक्शन को कम करने में मदद मिलती है।

बस एक बात का ध्यान रखे की गरारे करने से गले की सिकाई होती है और सिकाई की हुई जगह पर, सिकाई करने के कुछ देर तक हवा नहीं लगनी चाहिए।

Turmeric || 19 रोगो में हल्दी का उपयोग कैसे करे ?|| Haldi ke Fayde || Haldi ke Labh

मुलेठी

गले की बहुत सी समस्याओं को ठीक करने के लिए मुलेठी को सबसे कारगर औषधि माना जाता है। गले की प्रॉब्लम को ठीक करने के लिए 1 चम्मच मुलेठी पाउडर में शहद मिलाकर रोजाना ले | इसके थोड़ी देर बाद गुनगुने पानी से गरारे करें।

मेथी के दानो का काढ़ा 

अपने गुणों के कारण मेथी सेहत के लिए वरदान मानी जाती है | यह गले के लिए भी बेहद गुणकारी होती है। खराब गले से राहत पाने के लिए मेथी के दानों का काढ़ा बनाकर पीना फायदेमंद होता है |

काढ़ा बनाने के लिए 1 चम्मच मेथी दानों को 1 कप पानी में तब तक उबाले जब तक पानी उबाल-२ कर आधा न रह जाये | आधा रह जाने पर यह काढ़ा तैयार है इसे छान लें। मेथी दाने वाले इस गुनगुने काढ़े को पीने से गले की समस्या और दर्द में राहत मिलती है।

गले में अंदरुनी दर्द होने पर मेथी दानो के चूर्ण का इस्तेमाल करना भी फायदेमंद होता है | मेथी के दानों को पीसकर, कूटकर उसका चूर्ण बना लें | इस चूर्ण में काला नमक मिलाकर, हल्क़े गर्म पानी के साथ दिन में दो बार लेने से गले दर्द में राहत मिलती है |

Articles You May Like To Read:-

#HaldiMilk || हल्दी वाला दूध बनाने का सही तरीका और उसके सही होने के कारण

क्या आप जानते है हल्दी वाला दूध पीने के यह 9 फायदे?

सर्दी-खांसी और जुकाम से हैं परेशान, अपनाएं ये 11 घरेलू नुस्ख

जरूर जानिए सोंठ खाने के फायदे और नुकसान || सोंठ के हैरान कर देने वाले 15 फायदे || सोंठ की तासीर

Leave a Reply