चक्कर आने पर घरेलू उपचार || Vertigo in Hindi || चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार

चक्कर आने पर घरेलू उपचार || Vertigo in Hindi || चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार || घरेलू और उसे लेने की विधि

Vertigo in Hindi

दोस्तों आज मैं आपको अपने एक दोस्त के बारे में बताने जा रहा हूं जो चक्कर आने की बीमारी से पीड़ित था | जब उसे पहली बार चक्कर आए तब डॉक्टरों ने उसके चक्कर आने का कारण BP Low हो जाना बताया और उसकी दवाई दी | जिससे उसके चक्कर कुछ दिनों के लिए बंद हो गए | मगर कुछ दिन के बाद उसे दोबारा चक्कर आए और चक्कर आने पर उसने तुरंत ही अपना BP चेक करवाया जो कि नॉर्मल निकला |

अब उसे कारण बताया गया सर्वाइकल | मालिश, व्यायाम और कुछ दवाइयों से के इस्तेमाल से कुछ दिनों तक तो उसे आराम रहा, मगर कुछ दिनों के बाद दोबारा चक्कर आने लगे |मालिश और व्यायाम से इस बार कुछ भी फर्क नहीं पड़ा और इस बार चक्कर लेटने पर, बैठने पर, चलने पर और पूरे दिन हर वक्त आने लगे |

चक्कर आने पर घरेलू उपचार || Vertigo in Hindi || चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार || घरेलू और उसे लेने की विधि
Vertigo in Hindi

मुझे जब उसकी चक्कर आने की बीमारी के बारे में पता लगा तो मैंने उसे एक तो उसे चक्कर आने पर घरेलू उपचार यानि चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार और उसे लेने की विधि के बारे में बताया |

पहली खुराक लेने से मात्र से ही उसे बहुत आराम मिला और मेरे पास मौजूद जानकारी के अनुसार 7-8 दिन लगातार लेने से पूरी तरह ठीक हो चुका है |

Triphala Powder || अलग-२ ऋतुओ में त्रिफला चूर्ण लेने का तरीका और उसके फायदे || त्रिफला से कायाकल्प

दोस्तों, हम आपको

चक्कर आने पर घरेलू उपचार || चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार

और उसे लेने की विधि के बारे में बताने जा रहे हैं :-

चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार के लिए तीन चीजों की आवश्यकता है :-
1) सूखा आंवला जिसकी गुठली निकली हो |
2) सूखा धनिया (आधा कुटा हुआ)
3) मिश्री

आंवला :- स्वास्थ्य और सौंदर्य का रक्षक

चक्कर आने पर घरेलू उपचार तैयार करने की विधि 

सूखे आंवले और कटे हुए सूखे धनिया को बराबर मात्रा में (तकरीबन 6 ग्राम ) लेकर उसे अच्छे से धोकर साफ करके एक गिलास पानी में भिगोकर रात भर के लिए रख दें | सुबह-सुबह आंवले और धनिए को उसी पानी में मसल कर उस पानी को छान ले |

चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार के सेवन की विधि

अब इस पानी में अपने स्वाद के अनुसार मिश्री मिलाकर सुबह-सुबह खाली पेट पीने से एक ही दिन में आराम महसूस होगा और 3-4 दिन में ही आपका सर घूमना और चक्कर आना बिल्कुल ठीक हो जाएगा मगर आपको यह पानी 7 से 8 दिन तक लगातार लेना जिससे कि यह चक्कर आने की बीमारी दोबारा ना हो |

तो दोस्तों यह है चक्कर आने पर घरेलू उपचार || Vertigo in Hindi || चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार || घरेलू और उसे लेने की विधि


 

आपके लिए अन्य जानकारी :-

शहद में भीगे आंवले के हैं ये अद्भुत फायदे || आंवले और शहद का मुरब्बा

रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ || प्रतिरक्षा प्रणाली बढ़ानेको मजबूत बनाने वाले खाद्य पदार्थ

इन उपायों से पेट की गैस और एसिडिटी को स्थाई रूप से दूर करे

ह्रदय रोग के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय और क्या खाये, क्या नहीं

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips