सर्दी-खांसी और जुकाम
Ayurveda, My Blogs, औषधिया, रोग

सर्दी-खांसी और जुकाम से हैं परेशान, अपनाएं ये 11 घरेलू नुस्खे ||

90 / 100

सर्दी-खांसी और जुकाम से हैं परेशान, अपनाएं ये 11 घरेलू नुस्खे || सर्दी जुकाम का इलाज

कमजोर इम्युनिटी से ग्रसित व्यक्तियों को बदलते मौसम की सबसे बड़ी समस्या सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम जैसी आम समस्याओ का सामना करना पड़ता है | गले में दर्द और फ्लू (Flu) की समस्या भी इसी दौरान अधिकतर लोगो को अपना शिकार बनाती है |

ऐसे में कुछ ऐसे घरेलु नुस्खे हैं जिनकी सहायता से आप ऐसी समस्याओ को आसानी से दूर कर सकते है। उन्ही में से 11 रामबाण घरेलू नुस्खों के बारे में जानकारी दे रहे है । आइये दोस्तों उससे पहले जानते है सर्दी जुकाम के क्या-२ लक्षण होते है :-

सर्दी जुकाम के लक्षण?

सर्दी जुकाम का इलाज
सर्दी जुकाम


यदि आपको बताये गए निम्नलिखित लक्षण दिखाई देते हैं तो शायद आप सर्दी जुकाम से पीड़ित हो गए हैं। जिसके उपचार के लिए कुछ घरेलु नुस्खे अपना सकते है। जिनकी जानकारी भी आगे दी गई है |

सर्दी जुकाम के लक्षण

  • गले में खराश
  • आवाज बैठना
  • खाँसी
  • हल्का बुखार
  • कान में दर्द
  • सर में दर्द
  • बार-बार छींक आना
  • बंद ना
  • लाल, भरी गीली आखें
  • नाक से बलगम आपके गले में निकल रहा है
  • भूख में कमी
  • शारीरिक थकान।

सर्दी जुकाम के कारण


सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम हर बदलते मौसम के साथ आने वाली समस्या है। खांसी

  • बैक्टीरियल या वायरल इन्फेक्शन,
  • ऐलर्जी,
  • साइनस इन्फेक्शन या
  • ठंड
    के कारण हो सकती है

खांसी जुकाम का इलाज


दोस्तों, भारतीय रसोई में कई ऐसे घरेलु नुस्खे (Home Remedies) छिपे होते हैं जिनसे खांसी-जुकाम, सर्दी जुकाम जैसी छोटी-मोटी बीमारियां घर पर ही आसानी से ठीक की जा सकती है । तो आइए हम आपको बताते हैं सर्दी जुकाम में रामबाण ये 11 घरेलू नुस्खे…

गर्म पानी

गर्म पानी का रोजाना सेवन कई बीमारीओं को दूर रखने और ठीक करने में सहायक होता है । बदलते मौसम के साथ आने वाली सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम को दूर करने में गर्म पानी रामबाण घरेलु नुस्खा है |

गर्म पानी शरीर के अंदर जमा कफ को अन्य जहरीले तत्व (Toxins) के साथ शरीर से बाहर निकाल देता है | इसलिए न सिर्फ बदलते मौसम में बल्कि हो सके तो पूरी सर्दिया गर्म पानी का सेवन ही करे।

मोटी इलाइची का काढ़ा

मोटी इलाइची का काढ़ा
मोटी इलाइची का काढ़ा

दोस्तों यह नुस्खा एक बहुत ही पुराना और असरकारक उपचार है जिसे हम आज भी अपने घर पर इस्तेमाल करते है। इसके लिए आपको एक मोटी काली इलाइची ले कर उसे १ कप पानी में उबालना है तब तक जब तक की वह उबल उबल कर एक चौथाई कप बचे।

इस काढ़े में स्वादानुसार थोड़ी सी चीनी मिला कर इसे ठंडा होने पर रात को सोने से पहले पी कर सो जाये। सुबह तक आपको सर्दी खांसी और जुकाम में आराम मिल जायगा। ध्यान रखियेगा की मोटी इलाइची की तासीर काफी गर्म होती है इसलिए इस काढ़े को ठंडा कर के ही पिए और इसको पीने के बाद कुछ भी न खाये न पिए

शहद, नींबू और इलायची का मिश्रण

एक चम्मच शहद में एक चुटकी भर इलायची पाउडर और कुछ नीबू के रस की कुछ बूंदे मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लीजिये । इस मिश्रण का दिन में तीन बार सेवन करने से आपको खांसी-जुकाम से काफी राहत मिलेगी।
सावधानी :- ध्यान रखे इस मिश्रण को लेने के आधे घंटे तक कुछ भी न खाये न पिए |

हल्दी वाला दूध

हल्दी वाला दूध || सर्दी जुकाम का इलाज
हल्दी वाला दूध

हल्दी वाला दूध सदियों से शरीर के इम्यून सिस्टम को बढ़ाने वाली एक कारगर औषधि रही है और उसका कारण है इसके एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल और एंटीआॅक्सीडेंट्स गुण जो बैक्टीरियल या वायरल इन्फेक्शन, ऐलर्जी, कीटाणुओं और ठंड से हमारी रक्षा करते हैं। इसकी एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज सर्दी, खांसी और जुकाम के लक्षणों में आराम पहुंचाती है|

इसी कारण बचपन में नानी-दादी घर के बच्चों को सर्दी के मौसम में रोज हल्दी वाला दूध पीने के लिए देती थी। । रात को सोने से पहले इसे पीने से सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम में तेजी से आराम पहुचता है |

गर्म पानी और सैंधा नमक से गरारे

गर्म पानी में चुटकी भर सैंधा नमक मिला कर गरारे करने से खांसी-जुकाम के दौरान काफी राहत मिलती है। इससे गले congestion दूर करने में सहायता मिलती है और खांसी से भी आराम मिलता है। यह भी काफी पुराना नुस्खा है।

सावधानी :- ध्यान रखे की गर्म पानी से गरारे करने के बाद कम से कम १५ मिनट्स तक गले, मुँह और नाक को अच्छे से ढक कर रखे नहीं तो खांसी जुकाम में आराम आने की बजाए नुकसान भी हो सकता है |

शहद और ब्रैंडी

ब्रैंडी तो पहले ही शरीर गर्म करने के लिए जानी जाती है। इसके साथ शहद मिक्स करने से जुकाम पर काफी असर होगा। सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम से लड़ने के लिए आप शहद और ब्रांडी के मिश्रण का भी प्रयोग कर सकते हैं।

ब्रांडी तो पहले ही शरीर गर्म करने के लिए जानी जाती है और शहद में कफ से लड़ने के प्राकृतिक गुण मौजूद होते हैं। इसलिए इन दोनों के मिश्रण का प्रभाव काफी असरकारक होता है । इस मिश्रण से आप आसानी से सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम से प्रभावी रूप से निपट सकते हैं।

तुलसी, अदरक और काली मिर्च की चाय

सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम को दूर करने के लिए अदरक, तुलसी, काली मिर्च मिला कर चाय तैयार कीजिये और उसका का सेवन कीजिए | यह तीनो आयुर्वेदा की सबसे प्रभावी औषधियों में से है | इसमें मौजूद एंटी- इनफ्लमेटरी, एंटी बैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण इम्यूनिटी को स्ट्रांग करके सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम को दूर करने में मदद करती है | इनके सेवन से सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम में काफी राहत मिलती है।

भुना हुआ लहसुन

लहसुन को घी में भून लें और गर्म-गर्म ही खा लें। यह स्वाद में खराब हो सकता है लेकिन स्वास्थ्य के लिए एकदम शानदार है।

भुना हुआ लहसुन || खांसी जुकाम का इलाज
भुना हुआ लहसुन

ठंड के मौसम में देसी घी में भुना हुआ लहसुन सर्दी-खांसी और जुकाम को दूर करने में बहुत ही प्रभावशाली घरेलु नुस्खा है |इसके लिए आपको लहसुन की कुछ कलियों को देसी घी में तब तक भूनना है जब तक की उनका रंग हल्का भूरा नहीं हो जाता। फिर भुने हुए लहसुन को बाहर निकाल कर तब तक रखे जब तक यह लहसुन उतना गर्म न रह जाये की आप उसे आसानी से चबा कर खा सके |

भुना हुआ लहसुन खाने में थोड़ा कड़वा लग सकता है, लेकिन ठंड के मौसम में सर्दी-खांसी और जुकाम को दूर करने में ये नुस्खा बहुत ही कारगर है |

गेहूं की भूसी

जुकाम और खांसी के उपचार के लिए गेहूं की भूसी का उपयोग भी लाभदायक होता है । थोड़ा सी गेहूं की भूसी, 4-5 लौंग और थोड़ा सा सैंधा नमक लेकर २ कप पानी में मिलाकर इसका काढ़ा बनाएं। जब यह काढ़ा एक कप रह जाये तब इसे गुनगुना होने पर पी ले। इसे पीने से आपको तुरंत आराम मिलेगा।

आंवला

आंवले को आयुर्वेद में श्रेष्ठ स्थान प्राप्त हुआ है | आंवला त्रिदोष नाशक यानि वात, पित्त और कफ के दोषो का नाश करने वाला होता है |
आंवला में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी (Vitamin C) पाया जाता है और यही कारण है कि यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है। आंवला शरीर में खून के संचार को बेहतर करता है इसके साथ-२ इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स भी होते हैं जो शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता (Immunity Power) को बढ़ाने में सहायक होते है |

अलसी 

अलसी का पानी पीने से सांस की बीमारी व खांसी जैसी मौसमी बीमारीओं में आराम मिलता है । रात को दो चम्मच अलसी के बीजों को एक कप पानी में भिगोकर रख दे | सुबह इस पानी को छानकर पी लें। इससे दमे के मरीजों को भी फायदा होता है।

अलसी के बीजों को तब तक उबाले जब तक वे फूलकर मोठे न हो जाये | फिर उसमें नीबू का रस और शहद मिलाकर इसका सेवन करें। जुकाम और खांसी से आराम मिलेगा।

अलसी को भूनकर शहद के साथ चाटने से खांसी दूर होती है।

Short FAQ

 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *