प्याज के गुणों का भरपूर फायदा लेने के लिए कुछ विशेष बातों का ध्यान रखे

:- 

 

भोजन में अति प्राचीन काल से का उपयोग होता रहा है | शारीरिक स्वास्थ्य के लिए अति उत्तम है | वात, पित्त और कफ, इन तीनों विकारों में गुणकारी है | 


मगर सभी औषधियों की तरह इसका प्रयोग भी संभलकर करना चाहिए नहीं तो कई बीमारियों का कारण बन सकता है |

पाचन शक्ति और प्रकृति का ख्याल रखकर ही का उपयोग करना चाहिए | कुछ व्यक्ति के पोषक तत्व को पचा नहीं सकते | के उपयोग से उन्हें गैस हो जाती है | उन्हें को पचाने के लिए ज्यादा श्रम करना चाहिए या का कम मात्रा में उपयोग करना चाहिए | 

का अत्याधिक और निरंतर सेवन करने से रक्त तप जाता है और फोड़े, फुंसियां होने की संभावना रहती है | वीर्य पतला पढ़कर स्खलित हो जाता है | 

और दूध का एक साथ सेवन नहीं करना चाहिए | और दूध इन दोनों के सेवन के बीच में कम से कम 3-4 घंटे का अंतर होना चाहिए | दूध पीने के पहले या बाद में तुरंत ही खाने से कोढ़, रक्त दोष आदि विकार हो सकते हैं | 

आंखें दुखती हो तब भी का सेवन नहीं करना चाहिए | इससे आंखों की पीड़ा और बढ़ जाती है | 

को वायु नाशक माना गया है परंतु उस को पकाने, उस की सब्जी बनाने से वह वायु कारक बन जाता है जबकि कच्चा वायु नहीं करता |

काफी वक्त से काट कर रखे हुए का सेवन नहीं करना चाहिए | को काटकर तुरंत ही खा लेना चाहिए काट कर रख छोड़ने पर उसमें रहा हुआ तत्व उड़ जाते हैं |

ऊपर बताई गई बातों का ध्यान रखकर हम गुणकारी के गुणों का भरपूर फायदा उठा सकते हैं | 

धन्यवाद





Our YouTube Channel is -> A & N Health Care in Hindi
https://www.youtube.com/channel/UCeLxNLa5_FnnMlpqZVIgnQA/videos

Join Our Facebook Group :- Ayurveda & Natural Health Care in Hindi —- 
https://www.facebook.com/groups/1605667679726823/

Join our Google + Community :- Ayurveda and Natural Health Care —
https://plus.google.com/u/0/communities/118013016219723222428

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *