|| अखरोट खाने के लाभ :-

अखरोट एक प्रकार का सूखा मेवा है जो खाने के लिये उपयोग में लाया जाता है । ऊर्जा से भरपूर अखरोट में हमारी रोज की खाने पीने की समस्याओं को दूर करने की क्षमता है | अखरोट में विटामिन और खनिज तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं | अखरोट सिर्फ एक मेवा ही नहीं बल्कि एक उत्तम औषधि भी है । अखरोट कई आहार खनिजों से भरपूर होता है | अखरोट में कॉपर, मैगनीज, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फास्फोरस, बायोटिन, कैल्शियम, विटामिन B 6, विटामिन E, विटामिन C, विटामिन A, विटामिन K तथा आयरन भी पर्याप्त मात्रा में होते है। अखरोट हमारे शरीर के कई रोग भी दूर करता है। इसके सेवन से स्मरण शक्ति बढ़ती है, आंखों की ज्योति बढ़ती है तथा खून की लाली भी बढ़ती है और यह अस्थमा में एंटी इंफ्लामेन्ट्री के तौर पर काम करता है |

आइए आपको इसके औषधीय प्रयोग भी बताते हैं :-

ब्रेन फूड :-

अखरोट में विटामिन E के मौजूद होने की वजह से यह दिमाग को तेज और तंदुरुस्त रखता है | साथ ही ओमेगा 3 से भरपूर होने के कारण अखरोट एक बेहतरीन ब्रेन फूड है |

पथरी :-

गुर्दे में पथरी की समस्या में आराम के लिए अखरोट का उसके छिलके सहित पाउडर बना लें और दिन में दो बार पानी के साथ लें | अखरोट खाकर ठंडा पानी पीने से कुछ दिनों में पथरी निकल जाती है ।

पेट की मरोड़:-

अखरोट को गर्म पानी के साथ पीसकर नाभि पर लेप करने से पेट की मरोड़ दूर होती है । हल्का रेचक होने के कारण अखरोट को खाने से कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है |

दांतों :-

अखरोट के छिलके की राख दांतों पर रगड़ने से दांतों में चमक बढ़ती है व खून मवाद आना भी बंद होता है।

गर्भवती महिलाओं :-

अखरोट खाने से जी मिचलाना भी दूर होता है। गर्भवती स्त्रियों के लिए यह एक उत्तम औषधि है । गर्भवती महिलाओं को अखरोट खाने की सलाह दी जाती है | इससे बच्चे को एलर्जी नहीं होती है और पोषक तत्व भी मिलता है |

त्वचा में निखार :-

अखरोट स्किन के लिए भी फायदेमंद है | कच्चे अखरोट के दूध की मालिश से त्वचा में निखार आता है तथा त्वचा पर फोड़े-फुंसी भी नहीं होते ।

नव शक्ति का संचार :-

अखरोट का सेवन करने से वृद्धावस्था में भी शरीर की कार्यप्रणाली सुचारू रूप से चलती है । पचास वर्ष से अधिक आयु वालों को प्रतिदिन तीन अखरोट पांच बादाम के साथ खाना चाहिए । इससे वृद्धावस्था में नव शक्ति का संचार होता है तथा स्मरण शक्ति भी बढ़ती है । अखरोट के सेवन से लाइफ बढ़ती है |

फुंसियां :-

शरीर पर अधिक फुंसियां निकलने पर सुबह-शाम तीन-तीन अखरोट दूध के साथ सेवन करें, चंद दिनों में ही फुंसियां जड़ से गायब होने लगेंगी।

बच्चों के लिए फायदेमंद :-

बच्चों को रात्रि में अखरोट खिलाने से नींद अच्छी आती है तथा वे बिस्तर में पेशाब भी नहीं करेंगे । अखरोट शरीर को रिलैक्स रखता है जिससे नींद अच्छी आती है |

टी.बी. :-

अखरोट और लहसुन समान मात्रा में पीसकर सेवन करने से यक्ष्मा (टी.बी.) रोग में लाभ होता है।

जुकाम :-

अखरोट के वृक्ष की पत्तियां मसल कर सूंघने से जुकाम भी गायब होने लगता है।

मिरगी रोग :-

मिरगी रोग में इसके वृक्ष की पत्तियां सुंघाने से लाभ होता है। रोगी जल्दी होश में आ जाता है।

कम करे :-

अखरोट खाने से कम होता है | अखरोट कम करने में मदद करता है। एक औंस यानी करीब 28 ग्राम अखरोट में 2.5 ग्राम ओमेगा 3 फैटी एसिड, 4 ग्राम प्रोटीन और 2 ग्राम फाइबर होता है जिससे लंबे समय तक तृप्त‍ि की भावना बनी रहती है । कम करने के लिए जरूरी है कि आपका पेट भरा रहे । तो अगर आप कम करना चाहते हैं, तो आपको अखरोट को अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए ।

बालों के लिए फायदेमंद :-

अखरोट बालों के लिए भी फायदेमंद है | अखरोट में विटामिन बी 7 होता है जो आपके बालों को मजबूत बनाने का काम करता है । विटामिन बी 7 बालों का गिरना रोककर उन्हें बढ़ाने में मदद करता है ।

ये है अखरोट खाने का सही तरीका :-

1)
– सबसे पहले धीमी आंच में एक पैन में 15 ग्राम अखरोट को एक गिलास दूध में उबाल लें |
– मिश्री पाउडर, केसर मिलाकर दोबारा उबालें |
– तैयार है अखरोट का हेल्दी ड्रिंक | इसे गुनगुना ही पिएं |

2)
– एक और तरीका यह है कि अगर आप आठ अखरोट, चार बादाम और दस मुनक्का खाने के बाद गर्म दूध पी लेंगे, तो इससे भी आपको बहुत फायदा मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *