होने से पहले शरीर देता है ये संकेत… पहचाने की खराबी के ये लक्षण || :-

हमारे शरीर के अन्य अंगो की तरह हमारा भी शरीर में पाए जाने वाला महत्वपूर्ण अंगो में से एक है | इतना ही नहीं यानि यकृत आपके पाचन तंत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है | मनुष्य के शरीर में पाए जाने वाला सबसे बड़ा ऑर्गन होता है | यह हमारे पेट यानि की एब्डोमेन के ऊपरी राइट वाले हिस्से में मौजूद होता है | यह आपके आहार से पोषक तत्वों को परिवर्तित करने जैसे चयापचय कार्यों के लिए ज़िम्मेदार है ताकि आपका शरीर उन पोषक तत्वों का उपयोग कर सके और सुनिश्चित करें कि कोई भी नुकसान पहुंचाने से पहले विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल दिया जाए।

हमारा आहार में मौजूद सारी गंदगी और विषैले पदार्थों को फ़िल्टर करके हमारे खून को साफ और शरीर को स्वस्थ बनाए रखने का काम करता है | इतना ही नहीं हमारे शरीर द्वारा किए जाने वाले कई तरह के कार्य पूरी तरह हमारे लीवर पर ही निर्भर करते हैं | रक्त से विषाक्त पदार्थों को साफ करने, चोट लगने पर जख्मों को भरना, शरीर के हारमोंस का संतुलन बनाना, भोजन में मौजूद पोषक तत्वों को ग्रहण करना, शरीर का वजन घटाना, बढ़ाना या मसल्स का निर्माण करना, कोलेस्ट्रॉल और शुगर लेवल का बैलेंस बनाकर जरूरी विटामिन और मिनरल्स को स्टोर करके रखना, दवाइयों, जहरीले पदार्थों और खराब भोजन के बुरे असर से हमारे शरीर को बचा कर रखने जैसे बहुत से काम डायरेक्ट और इनडायरेक्ट तरीके से हमारे से जुड़े होते हैं |

के खराब होने के कारण:-

liver shaped food

खान-पान में लापरवाही बरतना, शराब या विषाक्त पदार्थों का अधिक सेवन, ऐसा आहार जिसमे वसा की मात्रा बहुत अधिक हो, हेपेटाइटिस जैसे कुछ वायरल संक्रमण, इन चीजों का हमारे पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है | चुकि हमारे शरीर के बहुत से महत्वपूर्ण कार्य पर ही निर्भर होते है इसलिए इसमें आई छोटी से छोटी खराबी भी गंभीर समस्या और बीमारियों को जन्म दे सकती है | कोई भी चीज जिसका काम गंदगी को साफ करना होता है समय के साथ-साथ वह खुद भी दूषित होता जाती है |

में खराबी आने के संकेत इतने साधारण होते हैं की अक्सर लोग इन लक्षणों पर ध्यान ही नहीं देते | वे समझ ही नहीं पाते की इन परेशानियों के पीछे की खराबी भी एक वजह हो सकती है | जब भी हमारे शरीर किसी भी अंग में कोई खराबी आती है तो हमारा शरीर उसके बारे में हमें अलग अलग तरह से चेतावनियां देता है | ऐसे कई लक्षण होते हैं जिनसे हम यह पता लगा सकते हैं कि हमारा () ठीक तरह से काम कर रहा है या नहीं |

damage liver
Damaged

आइये जानते है ऐसे संकेतों के बारे में जब हमारा () हमसे मदद की पुकार करता है :-

  1. पाचन क्रिया का खराब होना :-

  2. थकान और कमजोरी है () खराब होने के संकेत :-

  3. अचानक वजन बढ़ना (Weight Gain) चेतावनी का संकेत:-

  4. मुँह से बदबू आना (Bad Breath):-

  5. पैरो में सूजन (Leg and Ankle Swelling):-

  6. आंखे, त्वचा और पेशाब के रंग में बदलाव आना (Change in Colour of eyes,skin and Urine):-

  7. त्वचा में खुजली :-

  8. भूख कम लगना ( Loss of Appetite):-

  9. लाल हथेलियाँ (पामर इरिथेमा) red palms Warning signs:-

  10. स्पाइडर नेवी , उभरी हुई नसे और खून के थक्के (Bulging Veins & Bruising):-

आइये जानते है लीवर के खराब होने के संकेत:-

  1. पाचन क्रिया का खराब होना :-

    अक्सर पेट खराब रहना, बार-बार गैस बनना, डकार आना, खाना ठीक से न पचना, उल्टी जैसा लगना यह सब खराब पाचन क्रिया के संकेत है जो की होने के शुरुआती लक्षण होते हैं | आहार से विषैले पदार्थो को अलग करते-करते जब हमारे () में विषैले पदार्थों की मात्रा बढ़ जाती है तो हल्का सा ऊट-पटांग खाये गये खाने पर भी हमारे पेट बहुत ज्यादा खराब हो जाता है जिसके कारण हमारा पेट अक्सर खराब रहता है और कभी-कभी सर दर्द जैसी परेशानिया होने लगता है |
    () के टॉक्सिक होने यानि उसमे विषैले पदार्थो की मात्रा बढ़ जाने पर () के कार्य करने की गति धीमी हो जाती है और शरीर का मेटाबॉलिज्म धीमा होने लगता है जिसके कारण हमारी पाचन क्रिया खराब हो जाती है | अगर आपका रोजाना ठीक तरह से पेट साफ नहीं होता या आप पेट से संबंधित समस्याओं से लगातार परेशान रहते हैं तो इसका संबंध आपके लीवर से भी हो सकता है | ऐसी स्थिति में एक बार अपने () की जाँच जरूर करवानी चाहिए |

  2. थकान और कमजोरी है लिवर () खराब होने के संकेत :-

    दोस्तों, अगर आपको लगातार ज्यादा थकान और ज्यादा आलस आना शुरू हो जाये तो समझ लीजिये की आपका लिवर आपको सिग्नल दे रहा है की वह टॉक्सिक हो गये है | जिगर (Liver) की क्षति के सबसे अविश्वसनीय रूप से सामान्य लक्षणों में से एक पुरानी थकान है | वैसे आजकल की तनाव भरी जिंदगी में थकान और कमजोरी महसूस होना एक आम बात लेकिन जब भी रोज-रोज होने लगे और कभी-कभी शरीर में कमजोरी भी महसूस हो तो इसका संबंध हमारे लिवर (Liver) से भी हो सकता है | लिवर (Liver) में विषैले पदार्थो की मात्रा बढ़ने के कारण उसकी कार्य करने की क्षमता कमजोर होने लगती है जिस कारण शरीर के सभी दूसरे अंदरूनी अंगों का काम बढ़ जाता है और शरीर जल्दी थकने लगता है | अगर किसी व्यक्ति को 60 दिन से भी ज्यादा समय से लगातार बहुत ज्यादा थकान महसूस हो रही हो तो उसे एक बार अपने लिवर की जाँच जरूर करा लेनी चाहिए |

  3. अचानक वजन बढ़ना (Weight Gain) चेतावनी का संकेत:-

    यदि वजन में कमी या फिर अचानक वजन का बढ़ जाता है, तो यह एक संकेत हो सकता है कि आपको यकृत सिरोसिस है, एक बीमारी जो धीरे-धीरे विकसित होती है |
    जब हमारी लिवर (Liver) में विषैले पदार्थों की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है तो धीरे-धीरे लिवर (Liver) पर दबाव भी बढ़ने लगता है | तनाव बढ़ने की वजह से लिवर में मौजूद विषैले पदार्थ शरीर के फैट सेल्स में जमा होने लगते हैं और धीरे-धीरे चर्बी बढ़ने लगती है | जिस कारण शरीर का वजन और चर्बी बढ़ जाती है | इसलिए जिन लोगों को सब कुछ करने के बाद भी एक लंबे समय से बढे हुए मोटापे से छुटकारा नहीं मिल रहा उन्हें एक बार अपने लिवर का चेकअप जरूर करवा लेना चाहिए |

  4. मुँह से बदबू आना (Bad Breath):-

    मुँह से बदबू आने के कई कारण हो सकते है जिनमे से सबसे बड़ा है पेट की खराबी | लिवर (Liver) और पेट की खराबी साथ-साथ चलती है यानी कि होने पर पेट खराब होने की संभावना भी काफी बढ़ जाती है | पेट खराब होने पर हमारी सांसों से बदबू आने लगती है और यह लिवर (Liver) में किसी भी तरह की प्रॉब्लम का सबसे शुरुआती लक्षण होता है |

  5. पैरो में सूजन (Leg and Ankle Swelling):-

    जब हम लिवर के दिए हुए संकेतो को नजरअंदाज करते है तो वह खुद ही अपने आप को रिपेयर करने की कोशिश करने लगता है और नए टिशूज का निर्माण करता है जो की लिवर की लिए घातक होता है | अधिक टिशूज होने के कारण लिवर के काम में बाधा उत्पन्न होती है जिस वजह से शरीर का ब्लड प्रेशर बढ़ता है और बॉडी में मौजूद द्रव्य शरीर के निचले हिस्से में जमा होने लगता है जिस वजह से पैरों में सूजन पैदा होती है | इस तरह की सूजन को एडिमा कहा जाता है | अक्सर यह घुटनो के नीचे वाले हिस्से में ज्यादा होती है और इस तरह की सूजन में दर्द नहीं होता है |

  6. आंखे, त्वचा और पेशाब के रंग में बदलाव आना (Change in Colour of eyes,skin and Urine):-

    वैसे तो जब हमारी आंख और त्वचा का रंग पीला होने लगता है तो इसे जॉन्डिस यानि पीलिया का लक्षण माना जाता है | आपको बता दे की पीलिया होने की निशानी होती है | कमजोरी लिवर (Liver) शरीर में बिलुरुबिन की मात्रा को बढ़ा देता है | बिलुरुबिन ऐसा तत्व है जो लिवर की मर चुकी लाल रक्त कोशिकाओं के टूटने से बनता है | के चलते शरीर में बिलुरुबिन की मात्रा बढ़ती है और यह हमारी आंखों और त्वचा में पीलापन पैदा करने लगती है | बड़े हुए बिलुरुबिन को कम करने के लिए हमारा शरीर मल और पेशाब के जरिए बाहर निकालने की कोशिश करता है | इसकी वजह से पेशाब का कलर पीला या ब्राउन नजर आने लगता है |

  7. लाल हथेलियाँ (पामर इरिथेमा) red palms Liver Warning signs:-

    क्या आपके हाथ बिना किसी कारण के एकदम लाल हो जाते है? मोटे तौर पर लिवर सिरोसिस वाले एक चौथाई लोगों में पामर इरिथेमा विकसित होता है – हथेलियों की त्वचा का लाल होना । फैटी लिवर की बीमारी की एक अवस्था है जिसमें लिवर कोशिकाओं में बहुत अधिक वसा शामिल होता है जो ऐसे लोगों को प्रभावित करता है जो मुश्किल से शराब पीते हैं – या पूरी तरह शराब से बचते हैं |

  8. त्वचा में खुजली :-

    त्वचा में खुजली होने का कारण त्वचा का सुखपान, इंफेक्शन या बैक्टीरिया भी हो सकता है लेकिन अगर यह खुजली नियमित रूप से होती रहे तो इसके पीछे (Liver) भी एक वजह हो सकती है | विशेष रूप से खुजली वाली त्वचा लिवर (Liver) में विषैले पदार्थों का बढ़ जाने या लिवर के खराब होने का एक संकेत है | जब हमारी लिवर (Liver) में टॉक्सिन यानि विषैले पदार्थों की मात्रा बढ़ती है तो इसका असर हमारी त्वचा पर भी होने लगता है |

  9. भूख कम लगना ( Loss of Appetite):-

    लिवर (Liver) की खराबी के सबसे आम लक्षणों में से एक भूख में कमी आना है | हमारे लिवर (Liver) के ठीक से काम करने और काम न करने का सीधा असर हमारी पाचन क्रिया पर पड़ता है | भोजन ठीक तरह से नहीं पचने की वजह से धीरे-धीरे भूख कम होती जाती है, डाइट में कमी, बार-बार चक्कर आना या फिर खाने के बाद उल्टी जैसा महसूस होना का संकेत माना जाता हैं |

  10. स्पाइडर नेवी , उभरी हुई नसे और खून के थक्के (Bulging Veins & Bruising):-

    स्पाइडर नेवी (छोटी मकड़ी के आकार की धमनियां जो त्वचा पर गुच्छों में दिखाई देती हैं)। मकड़ी के पैर की तरह केंद्र से निकलने वाली रक्त वाहिकाओं के साथ स्पाइडर नेवी एक लाल बिंदु की तरह दिखती है । वे स्वस्थ महिलाओं में आम हो सकते हैं, लेकिन जब वे शरीर के ऊपरी आधे हिस्से में या पुरुषों में बड़ी संख्या में पाए जाते हैं तो वे लिवर (Liver) के खराब होने का संकेत हो सकती हैं ।
    साथ ही त्वचा पर खून के थक्के जमने या निल पड़ने का कारण चोट लगने को माना जाता है लेकिन अगर यह बिना वजह से शरीर पर नज़र आने लगे या हलकी फुलकी चोट से ही त्वचा पर नीला पढ़ना शुरू हो जाए, तो यह लिवर (Liver) के कमजोर होने का संकेत होता है |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *