मोटापा - कुछ रोचक जानकारी

को बढ़ाने और शरीर के को खराब करने का सबसे बड़ा कारण :-

दोस्तों, आजकल की सबसे बड़ी बीमारी है मोटापा | जिसे यह रोग लग गया, वह शरीर धीरे-धीरे सभी बीमारियों का घर बन जाता है | दोस्तों, आपने बहुत जगह और बहुत बार सुना होगा की “हमें एक साथ भरपेट भोजन करने की बजाय 3-4 घंटे के बाद थोड़ा-थोड़ा खाना चाहिए” | हम आपको इस बात से अवगत करवाने जा रहे है की कैसे इस स्वास्थ्यवर्धक वाक्य को हम लोगो ने को बढ़ाने और शरीर के को खराब करने का सबसे बड़ा कारण दिया है |

दोस्तों,

एक साथ भरपेट खाना खाने की बजाए अगर 3-4 घंटे के बाद अगर हल्का नाश्ता कर लिया जाए तो वह भोजन शरीर की ऊर्जा की जरूरतों को पूरा भी करता है और शरीर स्वस्थ और एक्टिव भी रहता है | ज्यादातर लोग इस वाक्य का गलत मतलब निकाल लेते हैं की 3-4 घंटे के बाद थोड़ा थोड़ा खाना खाना चाहिए और 3 से 4 घंटे की बजाय थोड़ी थोड़ी देर के बाद जो भी सामने आए उठा कर मुंह में डाल लेते हैं | वह लोग शरीर की बेसिक क्रिया से जुडी इस बात पर ध्यान ही नहीं देते की एक बार खाए गए भोजन को पचाने के लिए शरीर को कम से कम 3 से 4 घंटे लगते हैं और अगर 3 से 4 घंटे से पहले कुछ भी खाया जाता है शरीर की को डिस्टर्ब कर देता है | जिसकी वजह से खाना सही से पच नहीं पाता और मोटापा, का खराब हो जाना, पेट की गैस, अम्लपित्त यानि Acidity, रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी जैसी अनेक बीमारियां शरीर को जकड लेती है इसीलिए दोस्तों अगर आप जैसी खतरनाक बीमारी से बचना चाहते हैं या उसे दूर करना चाहते हैं तो एक बार खाना खाने के कम से कम 3 से 4 घंटे के बाद ही कुछ खाया पिया करे मगर पानी एक विकल्प है | खाना खाने के 45 मिनट के बाद आप जितना चाहे उतना पानी पी सकते हैं | इस छोटी सी बात को ध्यान में रखने मात्र से ही अन्य बहुत सी बिमारिओ से आप बचे रह सकते हैं और उन्हें दूर कर सकते हैं |

Constipation || कब्ज के क्या कारण हैं ? || कब्जियत किन कारणों से होती है ?
दस्त का इलाज || दस्त (Loose Motion) रोकने के घरेलू उपाय || दस्त के रोगी के लिए कुछ जानने योग्य जरुरी बातें

Our YouTube Channel is -> A & N Health Care in Hindi
https://www.youtube.com/channel/UCeLxNLa5_FnnMlpqZVIgnQA/videos

Join Our Facebook Group :- Ayurveda & Natural Health Care in Hindi —-
https://www.facebook.com/groups/1605667679726823/

Join our Google + Community :- Ayurveda and Natural Health Care —
https://plus.google.com/u/0/communities/118013016219723222428

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *