शरीर के लिए क्या है बेहतर ठंडा पानी या गरम पानी ?

कभी ना कभी हम सभी के दिमाग में एक सवाल जरूर उठ कर आता है कि स्वस्थ रहने के लिए हमारे शरीर के लिए क्या है बेहतर ठंडा पानी या गरम पानी ?

 हम एक उदाहरण से आपको इस सवाल का जवाब देने की कोशिश करने जा रहे हैं | 

इसके लिए हमें 4 चीजों की जरूरत है :-

  1. प्लास्टिक की बोतल
  2. पिघला हुआ मक्खन
  3. ठंडा पानी और गरमा गर्म पानी
  4. फ्रिज

दोस्तों,
पिघले हुए थोड़े से मक्खन को बोतल में डाल कर अच्छे से हिला लें ताकि मक्खन बोतल की दीवारों पर लग जाए | अब इसमें पानी भर कर इसे कुछ घंटे के लिए फ्रीजर में रख कर जमा दीजिए |
बर्फ जमी बोतल को निकालकर उल्टा कर दीजिए | बोतल में से न पानी बाहर निकलेगा और न मक्खन |
अधिक ठंडा पानी पीने से यही होता है |

ठंडा पानी पीने से हमारे शरीर की आंते, नालियां, फूड पाइप, मांसपेशियां संकुचित हो जाती है | साथ ही भोजन के बाद वसा और अन्य कण भोजन नली आदि में चिपके रह जाते हैं ठंडा पानी उन्हें नहीं निकाल पाता | साथ ही ठंडा पानी शरीर की अग्नि को कम कर देता है जिससे खाना ठीक तरह से नहीं पचता है और बदहजमी और कब्ज जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है जो कई अन्य बीमारियों की जड़ है ।

साथ ही ठंडा पीने पर शरीर के अंदर का तापक्रम कम हो जाता हैं, जिसको फिर से सामान्य करने के लिये शरीर को उर्जा व्यव करनी पड़ती हैं । बार-बार यह प्रक्रिया दोहराने के कारण स्वास्थ्य पर इसका विपरीत प्रभाव पड़ता हैं ।

अब आप इस बोतल को सीधा कर के तब तक के लिए छोड़ दीजिए जब तक कि बर्फ पानी नहीं बन जाती और पानी नॉर्मल टेंपरेचर पर नहीं आ जाता | अब आप बोतल को उल्टा कीजिए पानी के साथ साथ थोड़ा सा मक्खन भी बाहर निकल आएगा मगर फिर भी बहुत सा मक्खन बोतल की दीवारों पर चिपका रह जाएगा |
अब आप इसमें गरमा गरम पानी डाल दीजिए | कुछ सेकंड रुकने के बाद बोतल को उल्टा कर दीजिए | अब आप देखेंगे कि पानी के साथ-साथ ज्यादातर मक्खन भी बोतल से बाहर आ गया है |
दोस्त यही होता है हमारे शरीर के साथ भी | जब हम गर्म पानी का सेवन करते हैं तो खाने की नली का समेत जहां से भी गरम पानी गुजरता है हमारे शरीर को साफ करता हुआ जाता है | वसा तथा अन्य कण जिन्हे ठंडा पानी चिपका हुआ छोड़ जाता है, गर्म पानी उन्हें अपने साथ लेता है और शरीर को साफ करता हुआ जाता है |
मगर दोस्तों आपको बता दू की गर्म पानी का अत्यधिक सेवन से शरीर में खुश्की पैदा हो सकती है और किसी भी चीज अत्यधिक सेवन करने से चाहे वह पानी ही क्यों ना हो नुकसान हो सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *