कमाल के है आम की गुठली के फायदे | Aam ki Guthli ke 9 Fayde

इस लेख को पढ़ने के बाद आप भी आम की गुठलियों को फेंकने की बजाय उनसे मिलने वाले स्वास्थ्य लाभों का फायदा जरूर उठाना चाहेंगे, तो आईए जानते हैं आम की गुठली के फायदे के बारे में..

आम गर्मियों के मौसम में मिलने वाला एक ऐसा फल है जिसे बच्चो से लेकर बूढ़े तक बड़े चाव से खाना पसंद करते है। यह लगभग सभी का पसंदीदा फल है। ज्यादातर लोग आम को सिर्फ एक स्वादिष्ट फल के रूप में ही जानते है लेकिन स्वादिष्ट होने के साथ-साथ आम हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। आम में पाए जाने वाले विटामिन्स, मिनरल्स, एंटीऑक्सीडेंट्स और बहुत से अन्य पोषक तत्व हमारे शरीर के स्वास्थ्य को बनाये रखने में बहुत ही फायदेमंद होते है। इतना ही नहीं आम का प्रत्येक भाग छिलका, गुठली, गुदा अपना विशेष महत्व रखते हैं।

आम के सेवन से शरीर को मिलने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में तो बहुत से लोगो को जानकारी होगी, लेकिन आम के पत्तो और आम की गुठलायो से मिलने वाले स्वास्थ्य लाभों की जानकारी बहुत ही कम लोगो को होगी इसीलिए ज्यादातर लोग आम खाकर गुठलियां यूं ही कूड़े में फेंक देते हैं।

आम की गुठली

आयुर्वेदा के अनुसार आम की गुठली की मिंगी (गिरी ) कषाय, मधुर, थोड़ी खट्टी होती है। यह उल्टी (Vormeting), दर्द निवारक तथा हृदय के दाह जैसी परशानियों को शांत करने वाली होती है।

इसकी गुठली की गिरी में पाया जाने वाला तेल खाने लायक होता है तथा विशेष रुप से हृदय व ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।

आम की गुठली के पोषक तत्व

आम की गुठली में अनसैचुरेटेड फैटी एसिड, बायोएक्टिव, फेनोलिक और एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो की आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक होते हैं। इतना ही नहीं इसमें एंटी-इंफ्लमैशन गुण भी पाया जाता है । इसके गूदे में

प्रोटीन 5%

मौजूद रहते हैं।

वसा 6 से 7%,

रेशे 1 से 2%

राख 2 से 3%

टेनिन 0.19-0.44 %

आम की गुठली के फायदे | Aam ki Guthli ke Fayde

आम की गुठली के फायदे

नकसीर में फायदेमंद

नकसीर की समस्या होने पर आम की गुठली की गिरि निकालकर, इस गिरि का रस नाक के छेदो में टपकाने से नाक से खून बहना बंद हो जाता है।

पेट दर्द में फायदेमंद

पेट दर्द होने पर आम की गुठली का सेवन करना काफी फायदेमंद हो सकता है। आपको बस इतना करना है की आम की गुठली को आग में भून ले। अच्छे से भून जाने पर, इस में नमक मिलाकर खाने से पेट दर्द में लाभ होता है।

दांतों को रखें स्वस्थ

दांतो के स्वास्थ्य के लिए आम की गुठली काफी फायदेमंद होती है। दांत का हिलना, दांतो में दर्द होना और मसूड़ों से खून निकलना जैसी दांतों की समस्याओ के इलाज में आम की गुठली का चूर्ण बनाकर, उसमे आम के पत्तो को सुखाकर उनका भी चूर्ण बनाकर मिला ले। इस मिश्रण को कपडे में छान ले और इसे किसी छोटी बॉटल या डिब्बे में भरकर रख ले। रोजाना सुबह इस पाउडर से मंजन करने से दांतो की समस्याओ में आराम मिलता है और दांत सफ़ेद और मजबूत बनते है।

जुओं को दूर भगाए

बालो में जुए होना एक बड़ी समस्या है जिसका इलाज आप आम की गुठली से भी कर सकते है। आपको बस इतना करना है की आम की गुठली के बीज को धूप में सुखाकर उसका चूर्ण बना ले। इस चूर्ण में निम्बू का रस मिलाकर पेस्ट बनाये। इस पेस्ट को अपने बालों में लगा ले। कुछ देर तक लगा रहना के बाद इसे अच्छे से धो ले। बस इतना करने भर से जुए खत्म होने में मदद मिलती है। इतना ही नहीं यह लेप आपको बाल झड़ने की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है।

दस्त से दिलाए छुटकारा

दस्त की परेशानी होने पर आम की गुठली का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद सिद्ध हो सकता है। इसके लिए आप आम की गुठली का चूर्ण बनाकर, उसे २ तरीको से इस्तेमाल कर सकते है।

  1. इस चूर्ण को एक गिलास पानी में मिलाकर, इसमें थोड़ा सा शहद भी मिला ले। ध्यान रखे की एक बार में 1 ग्राम चूर्ण से अधिक चूर्ण का सेवन ना करें। डायरिया की समस्या में आराम मिलेगा।
  2. आम की गुठली के चूर्ण में बेल गिरी और मिश्री को बराबर मात्रा में पीसकर मिला ले। दिन में 3-4 बार 2-2 चम्मच की मात्रा में इसका सेवन करें। इससे दस्त में आराम मिलेगा।

ह्रदय रोग से बचाव में सहायक

दिल के रोगो से ग्रस्त व्यक्ति के लिए आम की गुठली काफी फायदेमंद सिद्ध हो सकती है। यह न सिर्फ दिल की बीमारी होने की सम्भावना को कम करती है बल्कि हाई बी पी से लेकर कोलेस्ट्रॉल की समस्या में भी काफी लाभदायक होती है। इसके सेवन से हाई बी पी और कोलेस्ट्रॉल दोनों को नियंत्रण में रखने में सहायता मिलती है।

पीरियड्स आम की गुठली के फायदे | Aam ki Guthli ke Fayde

पीरियड्स की अनियमितता और उसके दौरान बहुत ज्यादा ब्‍लीडिंग होने की समस्या में आम की गुठली के चूर्ण का प्रयोग बहुत फायदेमंद हो सकता है।

  • दही में आम की गुठली के चूर्ण को और नमक को मिला कर, उनका सेवन करने से आपको पीरियड्स के दर्द और ब्लीडिंग में राहत मिलेगी।
  • आम की गुठली की गिरी को गर्म रख में भूनकर खाने से मासिक धर्म की अनियमितता दूर होती है।

मोटापा कम करने में सहायक

बढ़ता हुआ वजन अपने साथ अनेक बीमारिया ले कर आता है। ऐसे में मोटापे को दूर करने के लिए आम की गुठली की गिरि के रस का इस्तेमाल करना बढ़ते वजन को नियंत्रण में रखने में काफी फायदेमंद साबित होता है।

पिम्पल्स और खुजली में फायदेमंद

अगर आपको एक्ने, पिम्पल्स या खुजली की समस्या है तो आम की गुठली का उपयोग करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। आपको बस इतना करना है की आम की गुठली के बीज का लेप शरीर के उस हिस्से पर करना है जहा आपको यह परेशानिया है। इससे आपको फायदा मिलेगा।

आम की गुठली का चूर्ण कैसे बनाएं?। आम की गुठली का चूर्ण बनाने का तरीका

आम की गुठली का चूर्ण बनाने के २ तरीके है:-

  • आम की गुठली को फोड़कर उसकी गिरी निकाल ले। इस गिरी को धूप में सुखाकर उसका चूर्ण बना ले।
  • आम की गुठली की गिरी निकालकर इसे भून ले। अच्छे से भून जाने के बाद इसे पीसकर या कूटकर इसका चूर्ण बना ले।
disclaimer

गर्मियों के मौसम में मिलने वाला स्वादिष्ट फल आम लगभग सभी का पसंदीदा फल है। आम की गुठली के फायदे ( Aam ki Guthli ke Fayde) अगर आप नहीं जानते थे तो अब जान गए होंगे। अपने चिकित्सक या वैद्य से परामर्श करके आप इसके फायदों का पूरा लाभ उठा सकते है।

आम की गुठली का चूर्ण कैसे बनता है?

आम की गुठली को फोड़कर उसकी गिरी निकल ले। इस गिरी को धूप में सुखाकर उसका चूर्ण बना ले।
आम की गुठली की गिरी निकालकर इसे भून ले। अच्छे से भून जाने के बाद इसे पीसकर या कूटकर इसका चूर्ण बना ले।

आम की गुठली कैसे खाएं?

आम की गुठली का चूर्ण बनाकर अलग-२ रोगो को दूर करने में इसका उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा आम की गुठली की गिरी को निकालकर, उसको छोटे-२ टुकड़ो में काटकर, पकवान बनाने में भी इसका उपयोग कर सकते है।

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips