अनचाहे बाल अब नहीं

अनचाहे बाल हटाने का तरीका (Anchahe Baal Htane ka Trika) – सौंदर्य पर ग्रहण लगाते अनचाहे बालों से छुटकारा के लिए आज तरह-तरह के उपाय व जरिए मौजूद हैं लेकिन क्या आप पूरे आत्मविश्वास से यह कह सकती हैं कि आप जिस तकनीक से शरीर के अनचाहे बाल निकालती हैं, वह पूरी तरह ठीक व सुरक्षित है? आप अनचाहे बालों को निकालने से जुड़ी अन्य तकनीकों पर भी जरूर गौर फरमाना चाहेंगी? आइए, जानते हैं अवांछित बालों से पीछा छुड़ानेवाली नयी-पुरानी तकनीकों और उनके फायदे-नुकसान के बारे में

अनचाहे बाल हटाने का तरीका | Anchahe Baal Htane ka Trika

अनचाहे बाल हटाने की दौड़ में महिलाओ के साथ-२ आजकल पुरुष भी शामिल हो गए है। पार्लर में इन बालो को हटाने के लिए शेविंग, थ्रेडिंग, प्लकिंग, वैक्सिंग जैसे अनेको नए और पुराने तरीके अपनाये जाते है।

आइये जानते है इन तरीको की ABCD क्योकि इन तरीको की जानकारी जैसे इनके फायदे, नुकसान और शरीर के किस हिस्से के बाल हटाने के लिए कौन सा तरीका अपनाया जाना चाहिए, की बेसिक जानकारी आपको होना अत्यंत आवश्यक है ताकि इन बालों को हटाने के चक्कर में आप अपना स्वास्थ्य न बिगाड़ बैठे।

अनचाहे बाल | Anchahe Baal

Table of Contents

शरीर के हर अंग पर बाल होते हैं। चेहरा तक इन अनचाहे बालों से अछूता नहीं है। लेकिन यही बाल अगर मोटे व काले हों, तो देखने में बुरे लगते हैं।

कई मामलों में यह समस्या वंशानुगत भी होती है और कई बार हारमोनल असंतुलन से अनचाहे बालों की समस्या बढ़ जाती है। मेनोपॉज के दिनों में, खासतौर पर अनचाहे बाल चेहरे पर अपनी छाप छोड़ने लगते हैं।

अनचाहे बालों से छुटकारा पाने की कई तकनीकें हैं, लेकिन इन सभी को इस्तेमाल में लाने से पहले इनके बारे में सही और पूरी जानकारी का पता होना बेहद जरूरी है।

शरीर के बाल हटाने का उपाय | बाल निकालने के अस्थायी तरीके

अनचाहे बाल हटाने का तरीका

शेविंग

  • हाथ-पैरों के बालों को शेव करके निकालने से बाल का केवल ऊपरी हिस्सा यानी शाफ्ट ही कटता है।
  • मार्केट में तरह-तरह के रेजर उपलब्ध हैं, जैसे डिस्पोजेबल रेजर, डिस्पोजेबल ब्लेडवाले रेजर व इलेक्ट्रिक रेजर
  • रेजर से बाल साफ करने हैं, तो शेव करने से कम से कम 3 मिनट पहले तक वालों को गीला रखें। इससे बाल आसानी से करेंगे।
  • इसके बाद बालों पर शेविंग जैल या साबुन लगाएं।
  • बाल हमेशा उगने की दिशा में ही निकालें।
  • पैरों के बाल निकाल रही हैं, तो टखनों से घुटनों तक रेजर से बाल निकालें।
  • रेजर हमेशा हल्के हाथ से चलाएं। ज्यादा दबाव देने से त्वचा पर कट लग सकता है।
  • ठंडे पानी से धो कर मॉइश्चराइजर लगाएं।
  • अगर कट लग जाए, तो एंटीसेप्टिक साबुन से प्रभावित हिस्सा धो लें। उसके बाद मॉइश्चराइजर लगा लें।
  • खून ज्यादा निकले, तो उस हिस्से पर बर्फ मले । बर्फ मलने के बाद भी खून ना रुके, तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। हो सकता है कि कट ज्यादा गहरा हो।

किन हिस्सों पर करें शेविंग

  • हाथों, टांगों, बगलों व बिकनी एरिया के बालों को शेव करके निकाला जा सकता है।

शेविंग के फायदे

  • त्वचा एकदम साफ हो जाएगी, लेकिन कुछ ही दिनों में बाल फिर से उगने लगेंगे।
  • इनग्रोन बालों की समस्या कम आती हैं।
  • रेजर का इस्तेमाल बाल निकालने का एक सस्ता उपाय है।
  • इनको इस्तेमाल में लाने के लिए आपको चाहिए एक मग गुनगुना पानी, शेविंग जैल या क्रीम। इसे आप घर में अपने आप इस्तेमाल में ला सकती हैं।
  • वैसे रेजर इस्तेमाल करना काफी आसान है और इसमें समय भी कम लगता है। लेकिन रेजर से शेव करने की सही तकनीक की जानकारी होना बेहद जरूरी है।

शेविंग के नुकसान

ज्यादातर महिलाएं रेजर का इस्तेमाल इसीलिए करती हैं, क्योंकि यह एक दर्दरहित प्रक्रिया है और इसमें समय भी कम लगता है। लेकिन इसके कुछ नुकसान भी है जैसे:-

  • रेजर के इस्तेमाल से त्वचा कट सकती है, जलन हो सकती है और अगर बाल जड़ से कट जाए, तो इनग्रोन बालों की समस्या हो सकती है।
  • रेजर करने के बाद बाल रफ आते हैं।

शेविंग करते समय बरते ये सावधानिया

  • ऐसे ब्लेड देखें, जिसमें सेफ्टी गार्ड तार लगे हों, जिससे त्वचा के कटने की संभावनाएं कम हों।
  • गुनगुने पानी से स्रान करने के बाद रेजर से बाल निकालने पर एकदम क्लोज शेव होती है।
  • इस तकनीक को आप या आपके पति भी अपना कर देख सकते हैं।
  • कट्स से बचने के लिए ब्लेड को समय से बदलना जरूरी है साथ ही बाल निकालने के बाद त्वचा मॉइश्वराइज जरूर करें, जिससे बाल मुलायम हो
  • अकसर रेजर वालों की ग्रोथ है, जबकि की ग्रोथ की तरफ रेजर चलाने से इनग्रोन वालों की समस्या नहीं आती।
  • अगर ऐसा हो, तो त्वचा को एक्सफोलिएट करे, इससे इनग्रोन बाल बाहर की ओर आएंगे, जिन्हें प्लकर निकाला जा सकता है।

केमिकल डेपिलेटरीज

  • इनमें रासायनिक तव होते है, जिससे बाल घुल जाते है। इन्हे कभी भी चेहरे पर प्रयोग में नहीं लाना चाहिए
  • अगर त्वचा संवेदनशील है या उस पर रैशेज, चोट एक्ने की समस्या है तो इन्हें प्रयोग ना लाएं।
  • जलन हो, तो डेपिलेटरी को तुरंत साफ दें।
  • इनके इस्तेमाल से त्वचा बदरंग भी हो सकती है, इसलिए इनका प्रयोग करने से पहले सावधानी बरतना जरूरी है।

एपिलेटरीज

इसमें एक छोटी सी मशीन का प्रयोग किया जाता है। इसे घर पर ही इस्तेमाल में लाया जा सकता है। लेकिन इसका प्रयोग चेहरे पर नहीं किया जाना चाहिए। बाल लंबे होने से पहले ही इसे प्रयोग में लाये तो परिणाम बेहतर आएंगे। ज्यादा बड़े बाल होने पर निकालते वक्त दर्द महसूस सकता है।

थ्रेडिंग

  • मध्य पूर्व में प्राचीन काल से ही थ्रेडिंग के जरिए बालों को निकाला जाता था।
  • थ्रेडिंग बाल जड़ से निकल जाते हैं।

किन हिस्सों पर कराएं थ्रेडिंग

  • कई महिलाएं पूरे चेहरे, ऊपरी होंठ व भवों की थ्रेडिंग कराती हैं, लेकिन शरीर के बाकी हिस्सों के बालों को थ्रेडिंग से निकालना आसान नहीं है।

थ्रेडिंग के फायदे

  • थ्रेडिंग बाल निकालने का स्थायी उपाय नहीं है।
  • इस तकनीक से बालों के फॉलिकल्स कमजोर होते हैं और आगे चल कर बाल मुलायम आते हैं।
  • भवों को हर 3 हफ्तों में चेहरे को महीने में एक बार व ऊपरी से 3 हफ्तों में बेड करा लेना चाहिए।
  • अनचाहे बालों से कुछ दिनों के लिए निजात मिल जाती है।

थ्रेडिंग के नुकसान

  • जो बाल महिलाएं निकलवा देती है, ये दरअसल त्वचा की रक्षा करते हैं। ऐसे में जब बालों को निकाला जाता है, तो त्वचा के लिए यह किसी शॉक से कम नहीं होता है।
  • इसके अलावा थ्रेडिंग कराने से पहले अपनी त्वचा का प्रकार जानना है, वरना मुंहासे या कोई भी एलर्जी हो सकती है।
  • अगर त्वचा पर मुंहासे हैं, तो उन दिनों थ्रेडिंग ना कराएं। त्वचा पर जलन बढ़ सकती है।
  • थ्रेडिंग में वैक्सिंग या प्लकिंग जितना दर्द नहीं होता।
  • नाक के नीचे जहां नसें मिलती हैं, थ्रेड करने पर बहुत दर्द होता है।
  • दर्द बालों की ग्रोथ पर भी निर्भर करता है।

थ्रेडिंग से पहले ध्यान दें

  • हमेशा कुशल सौंदर्य विशेषज्ञा से ही थ्रेडिंग कराएं।
  • थ्रेडिंग कराते वक्त उस हिस्से की त्वचा को टाइट रखना जरूरी है, वरना कट लग सकता है।

प्लकिंग क्या है?

  • प्लकिंग में बालों को प्लकर से खींच कर जड़ से निकाला जाता है। ये ठोड़ी व भौंहों के बाल निकालने के लिए एक अच्छा उपाय है।
  • प्लक करने से पहले रुई के फाहे में एस्ट्रिजेंट ले कर उसे भौंहों पर फिराएं। इसी से प्लकर को भी साफ करें।
  • कभी भी ऊपरी होंठ के बाल प्लक करके ना निकालें।
  • मस्सों पर उगे बालों को प्लक करके कभी ना निकालें।

प्लकिंग का फायदा

  • एक-एक बाल को प्लक करके निकालना बहुत थका देनेवाला काम है, फिर भी यह एक सस्ता उपाय है।

किन हिस्सों पर करें प्लकिंग

  • इस तकनीक का इस्तेमाल आप भवों, ऊपरी होंठ, ठोड़ी या चेहरे पर उग आए 2-4 बालों को निकालने के लिए कर सकती हैं।

प्लकिंग के नुकसान

  • प्लकिंग को हाथ-पैरों के बाल निकालने के लिए इस्तेमाल में नहीं लाना चाहिए।
  • अगर प्लक करते समय त्वचा के अंदर बाल टूट जाए, तो इनग्रोन बालों यानी त्वचा के अंदर रह गए बालों की समस्या हो सकती है।

प्लकिंग से पहले ध्यान दें

  • प्लकर या ट्वीजर को स्टरलाइज जरूर करें।
  • इसके लिए आप अल्कोहल का इस्तेमाल भी कर सकती हैं।

वैक्सिग क्या है

  • वैक्स को बालों के ऊपर उसी दिशा में फैला कर लगाया जाता है, जिस दिशा में बालों की ग्रोथ है।
  • इस वैक्स पर कपड़ा या सैलोफिन स्ट्रिप को अच्छे से लगा कर विपरीत दिशा में खींचा जाता है, जिससे बाल जड़ से निकल जाते हैं व मृत त्वचा भी हटती है।
  • आप हॉट या कोल्ड वैक्स इस्तेमाल में ला सकती हैं। चेहरे या आईब्रो पर स्ट्रिप का प्रयोग नहीं किया जाता है।

वैक्सिंग के फायदे

  • वैक्सिंग से बाल निकालने से मृत त्वचा भी साफ़ होती है।
  • इससे बालों की ग्रोथ भी कम होती है और अन्य तकनीकों के मुकाबले काफी दिनों तक बाल नहीं उगते ।
  • लगातार कई सालों तक वैक्सिग कराते रहने से बालों की ग्रोथ एकदम ना के बराबर हो जाती है ।

वैक्सिंग के नुकसान

  • इससे बाल निकालने में सबसे बड़ा नुकसान उसमें होनेवाला दर्द है।
  • दर्द को कम करने के लिए वैक्स करने से पहले त्वचा पर पाउडर लगाएं।
  • इसके बाद थोड़े- बहुत लाल रैशेज, जलन व सूजन एक दिन से ले कर 20 दिन तक भी रह सकती है।
  • बेहतर होगा इसे खुद करने के बजाय पार्लर में कराएं।
  • अगर डाइबिटीज है, तो वैक्सिग ना कराएं, क्योंकि इन्फेक्शन हो सकता है।
  • मुंहासों पर अगर ट्रेटिनॉइन या आइसोट्रेटिनॉइन लगा रही हैं, तो वैक्स ना कराएं, क्योंकि इससे त्वचा ज्यादा संवेदनशील हो जाती है।
  • वैक्स की स्ट्रिप खींचते ही दर्द व जलन सी महसूस होती है, लेकिन यह भी त्वचा की संवेदनशीलता पर निर्भर करता है।

किन हिस्सों पर कराएं वैक्सिग

  • वैक्सिंग के जरिए ना केवल हाथ-पांव व बगलों के बाल निकाले जाते हैं, बल्कि विदेशों में थ्रेडिंग के अलावा आईब्रो वैक्स भी की जाती है।

वैक्सिग से पहले ध्यान दें

  • वैक्स कराने से पहले त्वचा को एक्सफोलिएट जरूर करें।
  • वैक्स से पहले त्वचा पर साबुन इस्तेमाल ना करें। ऐसा करने से रोमछिद्र बंद सकते हैं और त्वचा निस्तेज हो सकती है, जिससे वैक्स कराते वक्त दर्द ज्यादा महसूस होता है।
  • वैक्स बहुत ज्यादा गरम ना हो, इससे त्वचा जल सकती है। जब वैक्स हल्की ठंडी हो जाए, तो इसे उंगली पर टेस्ट करके देखें।
  • वैक्स हमेशा बटर नाइफ या स्पैट्युला से बालों के उगने की दिशा में लगाएं।
  • इस पर सूती पट्टी अच्छे से चिपकाएं और बाल उगने की विपरीत दिशा में खींच दें।
  • वैक्स करने के बाद उस हिस्से को गीले कपड़े से साफ करके बर्फ मल लें, इससे रोमछिद्र बंद होते हैं। बाद में पैक लगाएं।
  • बेहतरीन परिणामों के लिए बालों की लंबाई कम से कम 6 मिलीमीटर होने दें, फिर वैक्स कराएं। इसके लिए कुछ हफ्ते तो आपको इंतजार करना ही होगा।
  • वैक्स कराने के बाद कम से कम 3 से 4 हफ्ते तक बाल नहीं उगते हैं।
  • वैक्स के बाद हो सकता है त्वचा लाल हो जाए या उस पर रैशेज पड़ जाएं, लेकिन घंटेभर में ये ठीक हो जाते हैं।
  • टांगों, बिकनी एरिया व पीठ को वैक्स कराएं।
  • कभी भौंहों पर वैक्स ना करें।
  • वैक्स या तो माहवारी शुरू होने के एकदम बाद या शुरू होने से कुछ दिन पहले ही कराएं, क्योंकि इन दिनों पानी शरीर में एकत्रित रहता है और वैक्स कराने से स्नायु कोशिकाएं प्रभावित हो सकती हैं।
  • अगर गर्भनिरोधक गोलियां ले रही हैं, तो ऊपरी होंठ वैक्स कराने के बाद ढेर सारा सनस्क्रीन जरूर लगाएं, ताकि ऊपरी होंठ की त्वचा ब्राउन ना हो जाए।

घर पर बनाएं वैक्स

  • 2 कप चीनी, 3/4 कप पानी, 1/4 कप नीबू का रस व 1 छोटा चम्मच ग्लिसरीन लें।
  • इन सभी को एक सॉसपैन में लें और हल्की आंच पर गरम करें। इस घोल को लगातार तब तक हिलाती रहें, जब तक चीनी घुल ना जाए और घोल गाढ़ा ना हो जाए।
  • अब 1 छोटा चम्मच मिक्सचर ले कर पानी में डालें। अगर यह सतह पर मोती की तरह बैठ जाता है, तो इसका मतलब वैक्स बन कर तैयार है।

हेअर रिमूवल क्रीम

  • बालों को निकालने के लिए क्रीम का इस्तेमाल भी किया जाता है।
  • ये क्रीम व लोशन बालों की प्रोटीन संरचना पर रिएक्शन करते हैं, जिससे बाल घुल कर निकल जाते हैं।

हेअर रिमूवल क्रीम के फायदे

  • हेअर रिमूवल क्रीम व लोशन महंगे नहीं हैं और ये मार्केट में आसानी से उपलब्ध हैं।
  • कुछ ऐसे हेअर रिमूवल लोशन भी हैं, जिन्हें ठोड़ी के बालों को निकालने के लिए भी इस्तेमाल में लाया जाता है, लेकिन बिना जानकारी के स्वयं इस्तेमाल में कभी ना लाएं।

हेअर रिमूवल क्रीम के नुकसान

  • इससे बदबू आती है और बहुत चिपचिपा महसूस कर सकती हैं।
  • संवेदनशील त्वचा है, तो लोशन में मौजूद रसायनों के कारण त्वचा पर जलन या रैशेज पड़ सकते हैं।
  • अगर बाल रूखे व कड़े हैं, तो जरूरी नहीं यह कारगर साबित हो ।
  • कई बार जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करने पर त्वचा बदरंग भी हो जाती है, खासतौर पर बगलों की त्वचा।

किन हिस्सों पर लें उपचार

  • इससे टांगों, बगलों व बिकनी एरिया के बाल निकाले जा सकते हैं।

हेअर रिमूवल क्रीम इस्तेमाल करने से पहले ध्यान दें

  • हेअर रिमूवल लोशन पर दिए गए निर्देश ठीक से पढ़ें और उतने समय के लिए ही त्वचा पर लगाएं, जितना बताया गया है।

ब्लीचिंग

  • चेहरे के बालों के लिए ब्लीच एक बेहतरीन उपाय है। इसके अलावा हाथ-पांवों के बालों को भी ब्लीच करके हल्का दिखाया जा सकता है, लेकिन बाल बेहद हल्के हों, तो ही हाथ-पांवों पर ब्लीच फायदेमंद रहता है।
  • चेहरे पर ब्लीच लगाने से पहले इससे हाथ पर पैच टेस्ट करके देखें।
  • अगर जलन नहीं होती, तो इसे चेहरे पर लगाने में कोई हर्ज नहीं है।
  • ब्लीच पर दिए गए निर्देश अच्छे से पढ़ें और उसके अनुसार क्रीम व साथ में दिया गया सॉल्ट मिलाएं।
  • अगर आंख या नाक से पानी आने लगे, तो क्रीम ज्यादा मिला लें।
  • अकसर मात्रा में गड़बड़ी होने के कारण चेहरा जल सकता है और चेहरे पर जलन और खुजली हो सकती है।
  • संवेदनशील त्वचा है या त्वचा पर मुंहासे हैं, तो डॉक्टरी राय के बिना ब्लीच प्रयोग में ना लाएं।
  • ब्लीच करने के बाद त्वचा पर बर्फ मल लें या हल्के हाथों से मसाज कर लें।

हमेशा के लिए अनचाहे बाल हटाना | अनचाहे बाल निकालने के स्थायी तरीके

इलेक्ट्रोलिसिस

  • इस तकनीक में सूई से इलेक्ट्रिक करंट के जरिए बाल को जड़ से खत्म किया जाता है।
  • कुछ सिटिंग्स दे कर अनचाहे बालों से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है।
  • इसमें सिर्फ ऊपरी होंठ के बाल हटाने में ही 10 घंटे तक लग सकते हैं और सकते हैं। बिकनी एरिया के बाल हटवाने में 16 घंटे तक लग

किन हिस्सों पर कराएं इलेक्ट्रोलिसिस

हेअर लाइन, भवों, गालों, ऊपरी व निचले होंठ, ठोड़ी, कंधे, पीठ, छाती, पेट, बाजू, टांगों, बिकनी एरिया आदि जगहों पर इलेक्ट्रोलिसिस से बाल निकलवाए जा सकते हैं।

इलेक्ट्रोलिसिस के फायदे

  • इससे अनचाहे बालों से हमेशा के लिए छुटकारा मिलता है।

इलेक्ट्रोलिसिस के नुकसान

  • यह बहुत महंगा उपचार है, जिसमें समय भी बहुत ज्यादा लगता है।
  • इस उपचार से सिर्फ ऊपरी होंठ, भवाँ व बगलों के बाल निकलवाने चाहिए। पूरे शरीर पर इसका प्रयोग नहीं किया जाता है।
  • इससे त्वचा रूखी हो सकती है और त्वचा पर जलन होने की शिकायत के साथ निशान पड़ सकते हैं।

इलेक्ट्रोलिसिस इस्तेमाल करने से पहले ध्यान दें

  • सूई की नोक के कारण निशान भी पड़ सकते हैं।
  • गरमियों में इलेक्ट्रोलिसिस कराने के कम से कम 24 घंटे तक धूप में ना निकलें।
  • इलेक्ट्रोलिसिस कराने से पहले अपने डॉक्टर की राय जरूर लें।
  • अगर दर्द हो, तो डॉक्टरी सलाह पर एंटीसेप्टिक क्रीम का प्रयोग करें और उसे लगाने के बाद त्वचा पर प्लास्टिक रैप लगा दें।
  • हमेशा कुशल इलेक्ट्रोलिसिस्ट से ही इलेक्ट्रालिसिस कराएं। यह एक लंबी, मगर बेहद असरदार प्रक्रिया है।

परमा ट्वीज़

  • चेहरे के बाल निकालने की यह प्रक्रिया ज्यादा पुरानी नहीं है।
  • इसमें ट्वीजर को बिजली से चलाया जाता है।
  • इसमें सूई का प्रयोग नहीं किया जाता है, इसलिए त्वचा पर किसी भी प्रकार के निशान पड़ने की संभावनाएं नहीं रहती हैं।

लेजर

  • लेजर को त्वचा के जरिए हेअर फॉलिकल तक पहुंचाया जाता है, जहां वालों की ग्रोथ रोकी जाती है।
  • गोरे लोगों पर यह तकनीक ज्यादा असरदार साबित होती है, क्योंकि बालों में मौजूद मेलानिन रोशनी जल्दी जज्ब कर लेता है, जिससे उपचार ज्यादा असरदार रहता है।

किन हिस्सों पर कराएं लेजर

  • लेजर से पीठ, चेहरे, टांगों, बगलों व विकनी एरिया के बाल निकलवाए जा सकते हैं।
  • ठोड़ी पर उग आए अनचाहे बालों को निकालने के लिए लेजर एक बेहतरीन उपाय है।

लेजर के फायदे

  • लेजर से स्थायी तौर पर बालों से छुटकारा पाया जा सकता है, लेकिन परिणाम कब तक आएंगे यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने अंतराल पर उपचार लेती हैं।
  • अमूमन 4 से 12 हफ्तों का समय पूरे शरीर के बालों के उपचार में लग जाता है और परिणाम 14 सिटिंग में दिखायी देने लगते हैं। कुछ लोगों में यह परिणाम आने में सालभर भी लग सकता है।
  • इसका असर लंबे समय तक रहता है और एक ही समय में शरीर के ज्यादा से ज्यादा भाग को कवर किया जा सकता है।

लेजर के नुकसान

  • यह बहुत महंगा उपचार है।
  • साइड इफेक्ट्स में त्वचा पर जलन हो सकती है या त्वचा लाल हो सकती है, क्योंकि लेजर से निकलनेवाली किरणें त्वचा में जज्ब हो जाती हैं।
    यह समस्या 15 मिनट से 1 दिन तक ही रहती है। अगर दवाएं ले रही हैं, तो उपचार लेने से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें।
  • लेजर उपचार लेते वक्त दर्द कम महसूस होता है। कुछ-कुछ ऐसा जैसे किसी ने चिकोटी काटी हो। इसलिए इस उपचार को बिना किसी डर के प्रयोग में लाया जा सकता है।

लेजर इस्तेमाल करने से पहले ध्यान दें

  • लेजर उपचार लेने के बाद खासतौर पर शुष्क व ठंडे मौसम में त्वचा को मॉइश्वराइज करने की ज्यादा जरूरत होती है, क्योंकि लेजर उपचार से त्वचा रूखी हो सकती है।
  • कोल्ड पैक्स से त्वचा में आराम मिलता है। उपचार लेने से पहले धूप में ना जाने से भी परिणाम अच्छे आएंगे।
  • यह उपचार हमेशा कुशल विशेषज्ञ से लें। पैसा बचाने के चक्कर में गलत हाथों से लिया गया उपचार महंगा पड़ सकता है।
  • स्थायी तौर पर बाल निकलवाने में थोड़ा समय लग सकता है, इसलिए धैर्य रखें।
  • परिणाम कितने सकारात्मक आएंगे, यह काफी हद तक विशेषज्ञ की निपुणता पर भी निर्भर करेगा।

पुरुषो के लिए अनचाहे बाल निकालने के उपाय | पुरुष के लिए बाल निकालने के उपाय

  • आजकल लड़कों में भी शरीर के बाल निकालने का क्रेज बढ़ा है।
  • फिल्मी सितारे जैसे सलमान खान, शाहरुख खान भी शरीर के बाल निकालते हैं।
  • हाइजीन को मद्देनजर रखते हुए लड़कों को बगलों के बाल जरूर निकालने चाहिए।
  • बाल निकालने के लिए हेअर रिमूवल क्रीम या रेजर का इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन वैक्सिंग काफी दर्दयुक्त प्रक्रिया है, इसलिए पुरुषों को काफी दर्द हो सकता है।
  • बड़ी उम्र के पुरुषों को भी बगलों के बाल जरूर निकालने चाहिए। इसके अलावा जननांगों के बालों को भी साफ किया जाना बेहद जरूरी है।

अनचाहे बाल आयुर्वेद | जड़ी-बूटियों से उठाएं लाभ

  • रोजाना हल्दी का बारीक पेस्ट तैयार करके त्वचा पर नियम से रगड़ने से शरीर के बाल हल्के होते हैं।
  • बहुत हल्के बालों को स्क्रब और एक्सफोलिएट करके निकाला जा सकता है। इनके नियमित इस्तेमाल से बाल हल्के होते जाते हैं।
  • अगर नवजात बच्चे के चेहरे और शरीर पर रोएं हों, तो आटे की छोटी सी लोई बना कर हल्के हाथ से बच्चे के शरीर पर फिराएं। बालों की ग्रोथ कम होगी।
  • दही और बेसन मिला करइसमें चुटकी भर हल्दी मिलाये। इसे लगाकर सूखने पर धो दे। त्वचा रूखी है तो हफ्ते में २ बार दोहराये। त्वचा टेलिए है तो रोजाना प्रयोग में ला सकते है।
  • ३ छोटे चम्मच जो के आटे में १ छोटा चम्मच ठंडा दूध और २-३ छोटे चम्मच निम्बू का रस मिलाये। इसे २० मिनट्स तक लगा रहने दीजिये और फिर ठन्डे पानी से धो दे। इसे हफ्ते में २-३ बार दोहराये। नियमित प्रयोग से बालों की ग्रोथ कम होती है।
  • शहद और खुबानी से बना पील ऑफ़ मास्क लगाए। यह चेहरे के हलके बालों को और कम करने में लाभदायक होगा और लगातार प्रयोग करने से बालों की ग्रोथ कम होती है।
  • इस मास्क में मौजूद शहद त्वचा को नमी प्रदान करता हैऔर खुबानी कसावट लाती है।
  • शहनाज हुसैन का शपीलप्रयोग में लाये। यह पील ऑफ़ पैक है इसे शहद और खुबानी से बनाया जाता है ।
  • इसे चेहरे पर लगाए और सूखने पर पील करके उतर दे। इससे चेहरे के बाद कम होते है।

क्या आप जानती है

  • बाल निकलवाने के लिए बेशक आप कोई भी तकनीक क्यों न आजमाए, लेकिन बेटी पार्लर में पैसा खर्च करके खुबसुरद दिखने की चाहत में कहीं आप अपने लिए तकलीफो को न्योता तो नहीं दे रहीं। इसलिए कुछ बातों को ध्यान में जरूर रखें, जिससे पार्लर में कुछ भी उपचार लेते समय आपको किसी भी प्रकार का संक्रमण न हो।
  • सौंदर्य विशेषज्ञ टीना चटर्जी का मानना है की वैक्सिंग मुलायम त्वचा पाने का सबसे सरल तरीका है, लेकिन वेक्स करवाने से पहले कुछ बातों पर गौर किया जाना जरुरी है।
  • इसके अलावा सेपटुएला को जरूर चेक करे। स्पैटुएला वह चीज होती है जिससे वेक्स को त्वचा पर लगाया जाता है। वह साफ़ होना चाहिए और किसी दूसरे का इस्तेमाल किया हुआ ना हो।
  • ऐसा कई पार्लरों में होता है कि आपके साथ अगर कोई अन्य महिला भी वैक्स करा रही है, तो ब्यूटीशियन उसी स्पैट्युला का इस्तेमाल कर लेती है। ऐसे में त्वचा के संक्रमण एक से दूसरे को तुरंत पहुंच जाते हैं।
  • ऐसे पार्लर में जाएं, जहां इन बातों पर खास ध्यान दिया जाता हो, जैसे वैक्स का डिब्बा, स्पैच्युला अलग हों, वैक्स की स्ट्रिप या तो डिस्पोजेबल हो या फिर अच्छे से धो कर स्टरलाइज की गयी हो। बेशक यह पता लगाने के लिए आपको थोड़ी मेहनत तो करनी ही होगी।
  • अपर लिप वैक्स कराते वक्त भी ध्यान दें कि स्पैच्युला किसी अन्य महिला का इस्तेमाल किया हुआ ना हो ।
  • अपर लिप को वैक्स करने के लिए अमूमन वैक्स की मोटी परत उंगली से दबा कर लगायी जाती है, तो वहीं ठोड़ी आदि के बाल निकालने के लिए आइसक्रीम स्टिक या चाट खाने के लिए प्रयोग में लाए जानेवाले चम्मच का इस्तेमाल भी किया जाता है।
  • बाल निकालना स्वास्थ्य की दृष्टि से भी बेहद जरूरी है।
  • ऐसा करने से बाल तोड़ होने की समस्या हो सकती है, जोकि गंभीर रूप धारण कर सकती है। इसलिए आज ही से सजग हो जाएं और शरीर की सफाई पर ध्यान दें।
  • अगर त्वचा संवेदनशील है, तो त्वचा विशेषज्ञ से सलाह करने के बाद ही किसी प्रकार की बाल निकालने की तकनीक को प्रयोग में लाएं।
  • महिलाओं के पेट या छाती पर बाल अमूमन हारमोनल बदलावों के कारण आते हैं, इसलिए इन्हें भूल कर भी रेजर या हेअर रिमूवल क्रीम से निकालने का प्रयास ना करें। बेहतर होगा कि डॉक्टर से इसका इलाज कराएं।
  • हमेशा हेअर रिमूवल क्रीम या खरीदने से पहले उसकी जारी करने की तारीख और एक्सपायरी तिथि पर नजर जरूर डालें।
  • थ्रेडिंग के बाद त्वचा की मसाज जरूर कराएं।
  • लेकिन थ्रेडिंग के बाद मसाज कराने से पहले एस्ट्रिजेंट लगाएं, जिसमें एंटीसेप्टिक गुण होते हैं और इसके प्रयोग से त्वचा हीलअप होती है।
Disclaimer

Specially For You:-

गुलाब जल के फायदे और नुकसान
गुलाब जल के फायदे और नुकसान
गुलाब जल के फायदे और नुकसान (Gulab Jal ke Fayde Aur Nuksan) - गुलाब जल को अधिकतर लोग त्वचा और ...
Read More
सन बर्न का इलाज
सन बर्न का इलाज
सन बर्न का इलाज (Sunburn Ka Ilaj) - गर्मियों में सूर्य की किरणों का सीधा हमारी त्वचा पर पड़ता है, ...
Read More
खुजली के घरेलू उपाय
खुजली के घरेलू उपाय
खुजली के घरेलू उपाय (Khujli ke Gharelu Upay) - गर्मियां आते ही खुजली होना एक आम समस्या है। खुजली के ...
Read More
अनचाहे बाल हटाने का तरीका
अनचाहे बाल अब नहीं
अनचाहे बाल हटाने का तरीका (Anchahe Baal Htane ka Trika) - सौंदर्य पर ग्रहण लगाते अनचाहे बालों से छुटकारा के ...
Read More
आंवला : स्वास्थ्य और सौंदर्य का रक्षक
आंवला :- स्वास्थ्य और सौंदर्य का रक्षक
आंवला के फायदे (Awla ke Fayde) - विटामिन 'C' से भरपूर आंवला अपने खट्टे स्वाद और औषधीय गुणों के कारण ...
Read More
milk benefits for skin in hindi
दूध की मदद से सौंदर्य निखारने के 12 बेहतरीन उपाय
Milk benefits for skin in Hindi Milk benefits for skin in Hindi दूध [Dudh] पीने के बहुत से फायदे होते ...
Read More
pink lips 2
होठों को गुलाबी करने के आसान तरीके || Pink Lips Home Remedies Tips in Hindi
होठों को गुलाबी करने के आसान तरीके || Pink Lips Remedies Tips in Hindi :- इंसान का चेहरा कितना भी ...
Read More
skin
बादाम दूध – त्वचा के लिए रामबाण || चेहरे का सांवलापन दूर करने और निखार लाने का सर्वोत्तम उपाय
बादाम दूध - त्वचा के लिए रामबाण || चेहरे का सांवलापन दूर करने और निखार लाने का सर्वोत्तम उपाय :- ...
Read More
pink lips
मानव शरीर की रचना और इसकी सम्पूर्ण जानकारी (Part 3):- कुछ लोग गोर और कुछ लोग काले क्यों ? हमें त्वचा की साफ सफाई क्यों करनी चाहिए ?
मानव शरीर की रचना और इसकी सम्पूर्ण जानकारी (Part 3 ):- कुछ लोग गोर और कुछ लोग काले क्यों ? हमें ...
Read More

कमर दर्द का इलाज

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

लो ब्लड प्रेशर के कारण, लक्षण और उपचार

आम || Aam ke fayde || Uses and Benefits of Mango in Hindi

लहसुन के फायदे, विभिन्न रोगों में उपयोग की विधि | Uses and Health Benefits of Garlic in Hindi

External Link:-

DMCA.com Protection Status