Giloy Ke Fayde || गिलोय के फायदे || गिलोय के नुकसान

कोरोना वायरस और उसी तरह के लक्षणों वाली बीमारिया डेंगू, बुखार आदि के इलाज के लिए लोगों ने अधिक से अधिक आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का इस्तेमाल शरीर की इम्युनिटी पावर को बढ़ाने के लिए करना शुरू कर दिया है। इन्ही में से एक जड़ी बूटी है गिलोय। जिसके तने और जड़ का काढ़ा बनाकर खूब इस्तेमाल किया जा रहा है। आइये जानते है गिलोय क्या है? Giloy ke fayde क्या है ? गिलोय के फायदे और नुकसान बताये ?

गिलोय एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसका इस्तेमाल भारतीय चिकित्सा में सदियों से किया जाता रहा है। गिलोय का तना सबसे ज्यादा उपयोगी होता है, लेकिन इसकी जड़ का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर सर्दी-जुकाम , खांसी, बुखार के इलाज में सहायक होता है गिलोय। यह पाचन क्रिया को सुधारता है, दमा रोग में फायदेमंद होता है, तनाव और चिंता को कम करता है, गठिया और मधुमेह के इलाज में भी सहायक होता है।

Giloy Ke Fayde || गिलोय के फायदे

संस्कृत में, गिलोय को ‘अमृता’ यानि ‘अमरता की जड़’ के रूप में जाना जाता है क्योंकि इसके प्रचुर मात्रा में औषधीय गुण पाए जाते हैं । इसमें पाए जाने वाले औषधीय गुणों के कारण यह हमारे शरीर की विभिन्न रगो से रक्षा करती है। आइये जानते है इसके बारे में :-

गिलोय क्या है?

गिलोय अमृतवल्ली अर्थात् कभी न सूखने वाली एक बड़ी लता है जो अन्य पेड़ो के सहारे चढ़ती है । इसका तना देखने में रस्सी जैसा लगता है। इसके कोमल तने तथा शाखाओं से जडें निकलती हैं। इस पर पीले व हरे रंग के फूलों के गुच्छे लगते हैं। इसके पत्ते कोमल तथा पान के आकार के और फल मटर के दाने जैसे होते हैं।

यह जिस वृक्ष पर चढ़ती है, उस वृक्ष के कुछ गुण भी इसके अन्दर आ जाते हैं इसीलिए नीम के पेड़ पर चढ़ी गिलोय, जिसे नीम गिलोय के नाम से भी जाना जाता है, औषधीय उपयोग के लिए सबसे अच्छी मानी जाती है। गिलोय का तना अधिकतम उपयोगिता वाला है, लेकिन गिलोय का रस और जड़ का उपयोग भी किया जाता है ।

Giloy Ke Fayde || गिलोय के फायदे || गिलोय के नुकसान
गिलोय

Giloy Ke Fayde || गिलोय के फायदे

गिलोय एक बहुत ही फायदेमंद औषधि है जो शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने, चिकनगुनिया और डेंगू के इलाज में फायदेमंद और खून में प्लैटलैट्स की संख्या को बढ़ाने की चमत्कारी औषधि है। यहां Giloy ke Fayde / गिलोय के 10 फायदे दिए गए हैं, जिनसे आप यह जान सकते है की क्यों गिलोय इतनी फायदेमंद है :-

1. प्रतिरक्षा को बढ़ावा देता है गिलोय

गिलोय में एंटीऑक्सिडेंट भरपूर मात्रा में मौजूद होते है | यह Free Redicals से लड़कर शरीर की रक्षा करता है | आपकी कोशिकाओं को स्वस्थ रखने और बीमारियों से छुटकारा दिलाने और इम्युनिटी पावर को बढ़ाने में सक्षम है । गिलोय शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाने में मदद करता है, रक्त को शुद्ध करता है, इतना ही नहीं यह उन बैक्टीरिया से लड़ता है जो रोगों का कारण बनते है और यकृत रोगों और मूत्र मार्ग के Infection का मुकाबला करता है। गिलोय का उपयोग हृदय से संबंधित रोगों के उपचार में विशेषज्ञों द्वारा किया जाता है, और यह बांझपन के इलाज में भी उपयोगी है |

2. क्रोनिक बुखार का इलाज करता है गिलोय

गिलोय बुखार से छुटकारा पाने में मदद करता है। चूंकि गिलोय प्राकृतिक रूप से एंटी-पाइरेक्टिक है, इसलिए यह डेंगू, स्वाइन फ्लू और मलेरिया जैसे कई अन्य तरह के बुखार और रोगो को दूर करने में बहुत ही असरकारक औषधि की तरह कार्य करता है |

3. पाचन में सुधार करता है गिलोय

पाचन में सुधार कर कब्ज जैसी समस्याओं के इलाज में गिलोय बहुत फायदेमंद है । अच्छे परिणाम के लिए नियमित रूप से कुछ आंवले के साथ आधा ग्राम गिलोय पाउडर ले या कब्ज के इलाज के लिए गिलोय को या गिलोय के रस को गुड़ के साथ लेने से अपच एवं कब्ज की समस्या से राहत मिलती है |

4. मधुमेह (diabetes) का इलाज करता है गिलोय

गिलोय एक हाइपोग्लाइकेमिक एजेंट के रूप में कार्य करता है और diabetes (विशेष रूप से टाइप 2 मधुमेह (diabetes)) के इलाज में मदद करता है । गिलोय का रस ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में अद्भुत कार्य करता है ।

लेकिन डायबिटीज की शिकायत हो, उन्हें गिलोय का सेवन करने पर अपने शुगर के स्तर पर सावधानीपूर्वक नजर रखनी चाहिए क्योंकि यह शुगर के स्तर को बहुत तेजी से कम कर सकता है |

पैरों पर मधुमेह प्रभाव के 7 लक्षण और सावधानिया || शुगर के लक्षण

https://healthcareinhindi.com/pairo-par-madhumeh-prbhav/embed/#?secret=nZVcc6atlN

मधुमेह के लक्षण

5. तनाव और चिंता को कम करता है गिलोय

क्या आप जानते हैं कि गिलोय का उपयोग एडाप्टोजेनिक जड़ी बूटी के रूप में भी किया जा सकता है? यह मानसिक तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है।
यह विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद करता है, स्मृति (Memory) को बढ़ाता है, आपको शांत करता है और अन्य जड़ी-बूटियों के साथ मिलकर एक उत्कृष्ट स्वास्थ्य टॉनिक का काम करता है।

6. श्वसन संबंधी समस्याओं से लड़ता है गिलोय

गिलोय अपने विरोधी भड़काऊ (Anti-Inflammatory) लाभों के लिए लोकप्रिय है और लगातार खांसी, सर्दी, टॉन्सिल जैसी श्वसन समस्याओं को कम करने में Giloy Ke Fayde भी बहुत है |

7. गठिया का इलाज में गिलोय के फायदे

गिलोय में एंटी-इंफ्लेमेटरी और Anti-Arthritic गुण होते हैं जो गठिया और इसके कई लक्षणों का इलाज करने में मदद करते हैं। जोड़ों के दर्द के लिए गिलोय के तने के पाउडर को दूध के साथ उबालकर सेवन किया जा सकता है। गठिया के इलाज के लिए अदरक के साथ इसका उपयोग किया जा सकता है। सोंठ के साथ सेवन करने से भी जोड़ों का दर्द मिटता है।

8. दमा के लक्षणों को कम करता है गिलोय

अस्थमा के कारण छाती में जकड़न, सांस लेने में तकलीफ, खांसी, घरघराहट आदि होती है, जिससे ऐसी स्थिति का इलाज करना बहुत मुश्किल हो जाता है। गिलोय की जड़ को चबाने या गिलोय का रस पीने से अस्थमा के रोगियों को मदद मिलती है और अक्सर विशेषज्ञों द्वारा इसकी सिफारिश की जाती है |

9. आँखों की रौशनी बढ़ाने में गिलोय के फायदे

गिलोय के औषधीय गुण आँखों के रोगों से राहत दिलाने में बहुत मदद करते हैं । भारत के कई हिस्सों में गिलोय के पौधे को आँखों पर लगाया जाता है क्योंकि यह दृष्टि स्पष्टता को बढ़ाने में मदद करता है। आपको बस इतना करना है कि गिलोय पाउडर को पानी में उबालें, इसे ठंडा होने दें और पलकों पर लगाएं।

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए क्या खाएं ||आंखों के लिए आहार || आँखों की रौशनी तेज करने के लिए क्या खाना चाहिए?

https://healthcareinhindi.com/ankhon-ki-roshni-bdhane-ke-liye-kya-khaye/embed/#?secret=25jyh426DA

10. एजिंग के लक्षण कम करता है गिलोय

गिलॉय प्लांट में एंटी-एजिंग गुण होते हैं जो काले धब्बे, पिंपल्स, फाइन लाइन्स और झुर्रियों को कम करने में मदद करते हैं। यह आपको वह निर्दोष, चमकदार त्वचा प्रदान करता है, जिसकी आप हमेशा से इच्छा रखते थे।

दोस्तों, यह थे Giloy ke fayde / गिलोय के फायदे | लेकिन जब तक गिलोय के नुकसान की जानकारी ना ले ले तब तक यह लेख पूरा नहीं होगा इसलिए आइये जानते है इसके कुछ नुकसानों के बारे में:- 

गिलोय के नुकसान

गिलोय के सेवन के कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं हैं क्योंकि यह एक प्राकृतिक और सुरक्षित हर्बल उपचार है। हालांकि, कुछ मामलों में गिलोय के नुकसान भी हो सकते हैंः-

  1. गिलोय डायबिटीज (मधुमेह) को प्रभावशाली रूप से कम करता है इसलिए यदि आप मधुमेह के रोगी हैं और लंबे समय से गिलोय का सेवन कर रहे हैं, तो अपने रक्त शर्करा के स्तर की नियमित रूप से निगरानी करें।
  2. गर्भावस्था के दौरान भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  3. यदि आप स्तनपान करा रही हैं तब भी गिलोय से बचें ।

Source :- 10 Amazing Benefits of Giloy

गिलोय के नुकसान क्या है?

गिलोय के सेवन के कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं होते क्योंकि यह एक प्राकृतिक और सुरक्षित हर्बल उपचार है। फिर भी अधिकता हर वास्तु की बुरी होती है और गिलोय के अधिक और बगैर सोचे समझे सेवन करने से आपको कुछ साइड इफेक्ट्स झेलने पड़ सकते है। वैसे गर्भवती स्त्रियों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए शुगर के मरीज इसका सेवन करने के दौरान अपनी शुगर वैल्यू पर नजर रखे नहीं तो नुकसान हो सकता है।

गिलोय की तासीर क्या है?

गिलोय की तासीर गर्म होती है।

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips