Giloy Ke Fayde || गिलोय के फायदे || गिलोय के नुकसान

Ke Fayde || के फायदे || के नुकसान

हम आपको क्या है और इसके औषधिये गुणों के कारण मिलने वाले Ke Fayde  / के फायदे के बारे में जानकरी देने के साथ-2 के नुकसान के बारे में जानकारी देने जा रहे है |
संस्कृत में, को ‘अमृता’ यानि ‘अमरता की जड़’ के रूप में जाना जाता है क्योंकि इसके प्रचुर मात्रा में औषधीय गुण पाए जाते हैं ।

क्या है?

अमृतवल्ली अर्थात् कभी न सूखने वाली एक बड़ी लता है जो अन्य पेड़ो के सहारे चढ़ती है । इसका तना देखने में रस्सी जैसा लगता है। इसके कोमल तने तथा शाखाओं से जडें निकलती हैं। इस पर पीले व हरे रंग के फूलों के गुच्छे लगते हैं। इसके पत्ते कोमल तथा पान के आकार के और फल मटर के दाने जैसे होते हैं।
यह जिस वृक्ष पर चढ़ती है, उस वृक्ष के कुछ गुण भी इसके अन्दर आ जाते हैं इसीलिए नीम के पेड़ पर चढ़ी औषधीय उपयोग के लिए सबसे अच्छी मानी जाती है।
का तना अधिकतम उपयोगिता वाला है, लेकिन का रस और जड़ का उपयोग भी किया जाता है ।

Giloy Ke Fayde || गिलोय के फायदे || गिलोय के नुकसान

Ke Fayde || के फायदे

यहां ke Fayde / के 10 फायदे दिए गए हैं, जिनके बारे में जान कर आप जान सकते है की क्यों इतनी महत्वपूर्ण है :-

प्रतिरक्षा को बढ़ावा देता है गिलोय

गिलोय में एंटीऑक्सिडेंट भरपूर मात्रा में मौजूद होते है | यह Free Redicals से लड़कर शरीर की रक्षा करता है | आपकी कोशिकाओं को स्वस्थ रखने और बीमारियों से छुटकारा दिलाने और इम्युनिटी पावर को बढ़ाने में सक्षम है । गिलोय शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाने में मदद करता है, रक्त को शुद्ध करता है, इतना ही नहीं यह उन बैक्टीरिया से लड़ता है जो रोगों का कारण बनते है और यकृत रोगों और मूत्र मार्ग के Infection का मुकाबला करता है। गिलोय का उपयोग हृदय से संबंधित रोगों के उपचार में विशेषज्ञों द्वारा किया जाता है, और यह बांझपन के इलाज में भी उपयोगी है |

क्रोनिक बुखार का इलाज करता है गिलोय

गिलोय बुखार से छुटकारा पाने में मदद करता है। चूंकि गिलोय प्राकृतिक रूप से एंटी-पाइरेक्टिक है, इसलिए यह डेंगू, स्वाइन फ्लू और मलेरिया जैसे कई अन्य तरह के बुखार और रोगो को दूर करने में बहुत ही असरकारक औषधि की तरह कार्य करता है |

पाचन में सुधार करता है गिलोय

पाचन में सुधार कर कब्ज जैसी समस्याओं के इलाज में गिलोय बहुत फायदेमंद है । अच्छे परिणाम के लिए नियमित रूप से कुछ आंवले के साथ आधा ग्राम गिलोय पाउडर ले या कब्ज के इलाज के लिए गिलोय को या गिलोय के रस को गुड़ के साथ लेने से अपच एवं कब्ज की समस्या से राहत मिलती है |

() का इलाज करता है गिलोय

गिलोय एक हाइपोग्लाइकेमिक एजेंट के रूप में कार्य करता है और (विशेष रूप से टाइप 2 ()) के इलाज में मदद करता है । गिलोय का रस ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में अद्भुत कार्य करता है ।
लेकिन डायबिटीज की शिकायत हो, उन्हें गिलोय का सेवन करने पर अपने शुगर के स्तर पर सावधानीपूर्वक नजर रखनी चाहिए क्योंकि यह शुगर के स्तर को बहुत तेजी से कम कर सकता है |

मधुमेह के लक्षण

तनाव और चिंता को कम करता है गिलोय

क्या आप जानते हैं कि गिलोय का उपयोग एडाप्टोजेनिक जड़ी बूटी के रूप में भी किया जा सकता है? यह मानसिक तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है।
यह विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद करता है, स्मृति (Memory) को बढ़ाता है, आपको शांत करता है और अन्य जड़ी-बूटियों के साथ मिलकर एक उत्कृष्ट स्वास्थ्य टॉनिक का काम करता है।

श्वसन संबंधी समस्याओं से लड़ता है गिलोय

गिलोय अपने विरोधी भड़काऊ (Anti-Inflammatory) लाभों के लिए लोकप्रिय है और लगातार खांसी, सर्दी, टॉन्सिल जैसी श्वसन समस्याओं को कम करने में Ke Fayde भी बहुत है |

गठिया का इलाज में गिलोय के फायदे

गिलोय में एंटी-इंफ्लेमेटरी और Anti-Arthritic गुण होते हैं जो गठिया और इसके कई लक्षणों का इलाज करने में मदद करते हैं। जोड़ों के दर्द के लिए गिलोय के तने के पाउडर को दूध के साथ उबालकर सेवन किया जा सकता है। गठिया के इलाज के लिए अदरक के साथ इसका उपयोग किया जा सकता है। सोंठ के साथ सेवन करने से भी जोड़ों का दर्द मिटता है।

दमा के लक्षणों को कम करता है गिलोय

अस्थमा के कारण छाती में जकड़न, सांस लेने में तकलीफ, खांसी, घरघराहट आदि होती है, जिससे ऐसी स्थिति का इलाज करना बहुत मुश्किल हो जाता है। गिलोय की जड़ को चबाने या गिलोय का रस पीने से अस्थमा के रोगियों को मदद मिलती है और अक्सर विशेषज्ञों द्वारा इसकी सिफारिश की जाती है |

आँखों की रौशनी बढ़ाने में गिलोय के फायदे

गिलोय के औषधीय गुण आँखों के रोगों से राहत दिलाने में बहुत मदद करते हैं । भारत के कई हिस्सों में गिलोय के पौधे को आँखों पर लगाया जाता है क्योंकि यह दृष्टि स्पष्टता को बढ़ाने में मदद करता है। आपको बस इतना करना है कि गिलोय पाउडर को पानी में उबालें, इसे ठंडा होने दें और पलकों पर लगाएं।

एजिंग के लक्षण कम करता है गिलोय

गिलॉय प्लांट में एंटी-एजिंग गुण होते हैं जो काले धब्बे, पिंपल्स, फाइन लाइन्स और झुर्रियों को कम करने में मदद करते हैं। यह आपको वह निर्दोष, चमकदार त्वचा प्रदान करता है, जिसकी आप हमेशा से इच्छा रखते थे।

दोस्तों, यह थे ke fayde / गिलोय के फायदे | लेकिन जब तक गिलोय के नुकसान की जानकारी ना ले ले तब तक यह लेख पूरा नहीं होगा इसलिए आइये जानते है इसके कुछ नुकसानों के बारे में:- 

गिलोय के नुकसान

गिलोय के सेवन के कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं हैं क्योंकि यह एक प्राकृतिक और सुरक्षित हर्बल उपचार है। हालांकि, कुछ मामलों में गिलोय के नुकसान भी हो सकते हैंः-

  1. गिलोय डायबिटीज () को प्रभावशाली रूप से कम करता है इसलिए यदि आप के रोगी हैं और लंबे समय से गिलोय का सेवन कर रहे हैं, तो अपने रक्त शर्करा के स्तर की नियमित रूप से निगरानी करें।
  2. गर्भावस्था के दौरान भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  3. यदि आप स्तनपान करा रही हैं तब भी गिलोय से बचें ।

Source :- 10 Amazing Benefits of Giloy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *