Hindi Kahaniya 4 || बारिश वाली पिकनिक

बारिश वाली पिकनिक || Hindi Kahaniya || Hindi Story For Children || Kahaniya

चूचू और उसके 5 दोस्त picnic पे जाने की तैयारी कर रहे थे | वो बहुत उत्साहित थे । वे सभी पिकनिक के लिए समान पैक की पैकिंग केर रहे थे। पिकनिक की तैयारी करते हुए उनमे से १ बोला ” मै रख लेता हूँ chocolate milk, फल, cake, sandwich और cookies को एक ढोलची में। हम इन्हें अपनी picnic पर खायेंगे।”

बारिश वाली पिकनिक || Hindi Kahaniya || Hindi Story For Children || Kahaniya

दूसरा बोला “Wow, ये तो बहुत ही Tasty लगता है।”

 

तीसरा बोला “मै ये गेंद ले चलता हूँ | हम इससे picnic मे खेलेंगे |”

 

चौथा बोला ” मेरे पास नया camera है जिस में बहुत clear फोटो आती है | मै picnic मे हम सबकी फोटो ले लूँगा।”

 

सभी बच्चे picnic को लेकर बहुत खुश थे। पर अचानक ही आसमान में काले बादल घिर आये और बारिश होने लगी।

 

सभी एकसाथ बोले ” अरे नहीं! बारिश हो रही है।! अब हमारी picnic का क्या होगा?”

 

चूचू के पिता ने देखा की बच्चे बहुत मायूस हो गए थे। वो जानते थे की बच्चे picnic को लेकर कितने उत्साहित थे। 

बच्चो का हौसला बढ़ाते हुए वे बोले “फिक्र मत करो बच्चों | जल्द ही बारिश रुक जायगी, तब तुम सब picnic पर जा सकते हो “|

पर बारिश नहीं रुकी | बड़ी बड़ी बूंदे आसमान से गिरती रहीं और चूचू ओर बाकी बच्चे निराश ही रहें |

उनमे से १ बोला ” मैंने इतनी सारी स्वादिष्ट चीज़ें अपनी picnic की टोकरी मे रखीं थी। वो हमारी picnic पर कितनी स्वादिष्ट लगती |”

दूसरा मायूसी से गेंद को देखते हुए बोला “अब ये गेंद भी किसी काम की नहीं है। “

तीसरा बोला ” हम इससे घर में भी नहीं खेल सकते |”

चौथा मायूसी से बोला ” और अब मै अपने camera से कोई मज़ेदार photo भी नहीं ले सकता। “

चूचू के पिता बच्चों को देख रहे थे वो सब बहुत उदास लग रहे थे। वो उन्हें खुश करना चाहते थे। तभी उन्हें एक एैसी तरकीब सुझी जिससे वो सब बारीश मे मस्ती कर सकते थे। चूचू और दूसरे बच्चो ने कुछ आवाजे सुनी |

ऐसा लग रहा है मानो बाहर कोई हंस रहा हो। 

चुचु बोला ” चलो! चलकर देखते हैं  कौन है|”

 

सभी बच्चे बाहर निकले, उन्हें ये देखकर कर विश्वास नहीं हुआ की उनके माता पिता बारिश में खेल रहे हैं |

सभी एकसाथ बोले “अरे देखो! हमारे माता पिता मिलकर football खेल रहे हैं। वो सब कितने मज़्ज़े कर रहे हैं!”

 

सभी के माता पिता बोले “आ जाओ! बच्चों! यहां आकर खेलो!”

 

सभी बच्चो ने अपने माता पिता के साथ फुटबाँल खेला, पानी के गड्ढों में कूदे और बारिश में खुब सारी मस्ती की। छपाक छपाक! 

सब ने बारिश के आने की ख़ुशी मनायी। बच्चों ने उस दिन बहुत मस्ती की। और कैमरा से बच्चो ने कुछ बढ़ियां तस्वीरे लीं। 

फिर सभी लोग पिछले आंगन मे एक साथ बैठे और बहुत ही बड़े से बगीचे कि छत्तरी के नीचे और फिर सभी ने मिल कर वो नाश्ता खाया जो चूचू ने picnic के ढोलची मे रखे थे। 

” ये है बारिश वाली मजेदार picnic हमारे घर में ” चुचु बोला |

 

” बारिश ने हमारा दिन और भी मज़ेदार बना दिया! “

 

सभी बच्चो ने उस दिन को शानदार अंदाज मे बीताया। उन्हें खुशी थी की उस दिन बारिश हुई। उन्होने चूचू के पिता को उनका होसला बढ़ाने के लिए धन्यवाद किया। और ये दिखाने के लिए भी की वो बारिश मे कितनी मस्ती कर सकते हैं |

 

धन्यवाद्!

 

स्वामी विवेकानंद के जीवन का प्रसंग …..OSHO

 

अच्छी अच्छी कहानियां

——————————-

जिसकी लाठी उसकी भैंस कहानी || Hindi Kahaniya 7

Hindi Kahaniya 6 || शेख चिल्ली का सपना (शेख चिल्ली के सपने)

Hindi Kahaniya 5 || चतुर बकरी

Hindi Kahaniya 4 || बारिश वाली पिकनिक

बच्चो का फैसला || Hindi Story For Children || Kahaniya

राजू की दिवाली || Hindi Story For Children || Stories For Kids || Hindi Kahani || Kahaniya

जादुई नारियल और लकड़हारा || Hindi Story For Children || Stories For Kids || Hindi Kahani || Kahaniya

Click This Link :- Hindi Story For Children

 

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips