दिमाग तेज करने के उपाय हिंदी में

दिमाग तेज करने के उपाय हिंदी में (How To Sharpen Your Mind In Hindi)- आजकल की तेज भागती दुनिया में हर एक व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक रूप से तेज और एक्टिव होना बहुत जरुरी है। ऐसे में याददाश्त में थोड़ी सी कमी या भूलने की आदत या समय पर कुछ याद न आने से आप परेशानी में पड़ सकते है। इस लेख में दिमाग तेज करने के उपाय हिंदी में, How To Sharpen Your Mind In Hindi और दिमाग तेज कैसे करे? की जानकारी देने जा रहे है ताकि हर व्यक्ति अपने दिमाग को तेज और फुर्तीला बना सकते हैं।

दिमाग तेज करने के उपाय हिंदी में। How To Sharpen Your Mind In Hindi

तनाव कम करने, नई नई भाषाएँ सिखने, नए खेल खेलने, समय पर अच्छी नींद लेने, रोजाना व्यायाम करने, योग करने, पौष्टिक भोजन ग्रहण करने, गाय का दूध, घी ग्रहण करने, बादाम अखरोट आदि का नियमित सेवन करने आदि के साथ-२ कुछ आयुर्वेदिक औषधियों से दिमाग तेज करने में सहायता मिलती है।

दिमाग तेज करने के उपाय | Sharpen Your Mind In Hindi

दिमाग तेज करने के उपाय हिंदी में How To Sharpen Your Mind In Hindi

अगर आपका दिमाग सही से कार्य कर रहा है, आप मानसिक रूप से बहुत एक्टिव है, बहुत जल्दी किसी भी बात को समझ जाते है और आपकी याददाश्त कमाल की है, तो यकीन मानिये आप चाहे किसी भी फिल्ड में क्यों न हो, आपके सामने कोई भी ठहर भी नहीं पाएगा।

लेकिन आजकल की तनाव भरी जिंदगी में जहां अपने लिए समय निकाल पाना भी बहुत मुश्किल है, अपने दिमाग को फिट और एक्टिव रखना कुछ लोगो के लिए लगभग असंभव होता है।

इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे है जिनकी सहायता से आपके दिमाग की कार्यक्षमता में बहुत सुधार आ जायगा और आपका दिमाग तेज और एक्टिव हो जायगा।

याददाश्त बढ़ाने का घरेलू उपाय है अच्छी नींद लेना।

नींद में कमी या अच्छी नींद न ले पाने पर याददाश्त कमजोर हो जाती है, संज्ञानात्मक कौशल, स्मृति, और स्पष्ट रूप से सोचने या संवाद करने की क्षमता भी प्रभावित होती है।

यदि आप एक अच्छी और पूरी नींद नहीं लेते तो इसका असर सीधा आपके दिमाग की क्षमता को प्रभावित करता है। इसलिए याददाश्‍त बढ़ाने और दिमाग तेज करने के लिए नींद बहुत जरूरी होती है। प्रत्येक व्यस्क को प्रतिदिन सात से नौ घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए।

तनाव कम करने के लिए ध्यान का अभ्यास करें।

अध्ययनों से पता चलता है कि तनाव मस्तिष्क को नुकसान पहुंचा सकता है, इसलिए जहां तक हो सके तनाव से बचे और कम से कम 10 से 20 मिनट तक रोजाना ध्यान लगाए। ध्यान की क्रिया आपके मस्तिष्क की तनाव से रक्षा करती है और मस्तिष्क को मजबूत करने में मददगार होती है। आप सांस-केंद्रित व्यायाम, माइंडफुलनेस मेडिटेशन, योग, ताई ची का अभ्यास कर सकते हैं या प्रार्थना जैसे आध्यात्मिक अभ्यास या अनुष्ठान में संलग्न हो सकते हैं।

नई नई चीजे सीखना ।

नई नई चीजे सिखने से दिमाग की प्लास्टिसिटी बनी रहती है और दिमाग तेज रहता है। ब्रेन प्लास्टिसिटी से तात्पर्य किसी व्यक्ति के जीवनकाल में मस्तिष्क की लगातार बदलने की क्षमता से है। नई नई चीजे सिखने से आपकी बौद्धिक क्षमता में काफी सुधार होता है।

जैसे शतरंज खेलना, नई भाषा सीखना, डांस सीखना या करतब दिखाना शुरू कर सकते हैं। और कई प्रकार की गेम्स खेल सकते है जिनमे आपके हाथ-आंख के समन्वय को बढ़ाने की क्रिया में दिमाग काफी एक्टिव हो जाता है। आप कुछ आसान भी कर सकते हैं जैसे उलटे हाथ से टाइप करना या लिखना।

अपने शरीर का व्यायाम करें—अपने मस्तिष्क के लिए।

शोध से पता चलता है कि शारीरिक व्यायाम दिमाग तेज करने में काफी सहायक होते है। जैसे बाहर उबड़-खाबड़ जगह पर घूमें ताकि आप अपना संतुलन सही करने के लिए अपने पैर-आंख के समन्वय पर ध्यान दे सके।

योग और ताई ची आपको समन्वय, गति के प्रवाह, संतुलन का अभ्यास करने में सक्षम बनाते हैं। डांस और कुछ एरोबिक व्यायाम करना न भूलें, सप्ताह में कुछ बार कम से कम 15 मिनट के लिए।

सुनने पर ध्यान दे और बातचीत का अभ्यास करें।

जब भी आप किसी से बातचीत करते है और उस पर पूरा ध्यान देते है तो आपके मस्तिष्क के न्यूरॉन्स को सक्रीय होना चाहिए। मस्तिष्क में चोट या बहुत अधिक तनाव इन न्यूरॉन्स की सक्रियता में बाधा पैदा कर सकता है और आपके लिए बोलना, सुनना, संकेतों को समझना और जानकारी को एकीकृत करना अधिक कठिन बना सकता है।

ध्यान तनाव प्रतिक्रिया की सक्रियता को कम कर सकता है और मन को शांत कर सकता है। इसलिए आपको नियमित रूप से मन को शांत करने का अभ्यास करना चाहिए ताकि न्यूरॉन्स अपना काम अच्छे से कर सकें।

किसी से सफलतापूर्वक बातचीत करने का तरीका है जिसमे :-

  • बातचीत करते समय जल्दबाजी न करें। – रुको; विराम लो।
  • सांस लेना। – गहरी सांस लें और पूरी तरह से सांस छोड़ें, जिससे मन शांत हो जाए।
  • अपने दिल से सुनो। – ध्यान दें कि सामने वाले के शब्द आपको कैसा महसूस कराते हैं। अपनी सभी इंद्रियों को महसूस करने का प्रयास करें।
  • पहले लिखें। – यदि आप भावनात्मक रूप से आवेशित महसूस करते हैं, तो आप बोलने से पहले स्पष्टता हासिल करने में मदद करने के लिए जो महसूस कर रहे हैं उसे संक्षेप में लिखे।
  • शेखी बघारने के लिए एक सुरक्षित जगह खोजें। – आप एक दोस्त, चिकित्सक, या परामर्शदाता चुन सकते हैं जिसे आप हो और आप इस चिंता के बिना सुरक्षित रूप से बात कर सकते हैं कि आपको आंका जा सकता है।

बस इन बातों को ध्यान में रखने पर ही आप पाएंगे कि किसी को भी आप अधिक आसानी से सुन सकते हैं और उससे संवाद कर सकते हैं।

अधिक मात्रा में चीनी का सेवन न करें।

अधिक मात्रा में चीनी का सेवन करना मस्तिष्क के लिए हानिकारक हो सकता है। यह सूजन, ऑक्सीडेटिव तनाव और इन्सुलिन की समस्या का कारण बन सकता है। इसलिए, ऐसे आहार का सेवन करे जो आपको इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करने और सूजन को कम करने में मदद करता है। जैसे की मछली, कुछ मांस, ढेर सारी सब्जियां, कुछ मेवा और बीज, कुछ फल और बहुत कम अनाज खाना।

अपने मस्तिष्क के लिए एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर भोजन ग्रहण करे।

आपका मस्तिष्क चीनी के कम सेवन करने के साथ-साथ अधिक एंटीऑक्सिडेंट वाले भोजन को ग्रहण करने से भी लाभान्वित होता है, जो आपकी याददाश्त, सीखने और समग्र संज्ञानात्मक प्रदर्शन को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

एंटीऑक्सिडेंट युक्त खाद्य पदार्थों में जामुन शामिल हैं; फल और सब्जियां जैसे गाजर, पालक, और लाल अंगूर; और ग्रीन टी, रेड वाइन और कॉफी जैसे पेय; साथ ही डार्क चॉकलेट।

नशे से दूर रहे

अगर आप दिमाग तेज करने के उपाय जान रहे है तो कुछ ऐसी बातें भी जान ले जो आपके दिमाग को कमजोर बनाने का कारण बनती है जैसे शराब, सिगरेट, तम्बाकू या किसी भी प्रकार का नशा आपकी याददाश्त को कमजोर बनाकर आपके सोचने समझने की ताकत को कम कर सकते है।

याददाश्त बढ़ाने और दिमाग तेज करने के आयुर्वेदिक नुस्खे

आइये अब बात हो जाये दिमाग तेज करने के कुछ आयुर्वेदिक नुस्खों के बारे में:-

याददाश्त बढ़ाने और दिमाग तेज करने में फायदेमंद होती है हल्‍दी – इसमें मौजूद करक्यूमिन गुण दिमाग तेज करने में भी सहायक होता है।
याददाश्त तेज करने का घरेलू उपाय है शंखपुष्‍पी – इसमें कई एंटीऑक्‍सीडेंट मौजूद होते हैं जो मस्तिष्‍क के स्वास्थ्य को बढ़ाने और उम्र बढ़ने के कारण याददाश्‍त में आने वाली कमजोरी को दूर करने में सहायक होते है।
दिमाग तेज करने का उपाय है जिनसेंग – जिनसेंग मस्तिष्‍क की कोशिकाओं के बीच होने वाले संकेतो के आदान प्रदान को बढ़ाने में सहायक होता है जिससे चीजों को याद रखने में आसानी होती है।
दिमाग तेज करने का वर्षो पुराना घरेलू उपाय है ब्राहृमी – दिमाग तेज करने,याददाश्‍त बढ़ाने और बौद्धिक क्षमता में सुधार लाने के लिए ब्राह्मी सबसे बेहतरीन आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में से एक है।

हम उम्मीद करते है दिमाग तेज करने के उपाय हिंदी में ( How To Sharpen Your Mind In Hindi ) के विषय पर लिखा गया यह लेख आपके लिए फायदेमंद रहा होगा। आपसे निवेदन है की इस जानकारी को आप अपने दोस्तों, सगे-सम्बन्धियों आदि के साथ भी शेयर करे ताकि वे भी इस जानकारी का लाभ उठा सके।

Disclaimer

दिमाग तेज करने के लिए कौन सा फल खाना चाहिए?

सेब में क्‍यूरसेटिन नामक एंटीऑक्‍सीडेंट मौजूद होता है जो दिमाग की कोशिकाओं काे नुकसान से बचाता है और पार्किंसन और अल्‍जाइमर जैसी बीमारियों के खतरे को कम करने की शक्‍ति रखता है।

Especially For You:-

ज्यादा मीठा खाने के नुकसान
ज्यादा मीठा खाने के नुकसान
ज्यादा मीठा खाने के नुकसान (Jyada Mitha Khane Ke Nuksan) - मीठा सभी को पसंद होता है लेकिन अधिक मात्रा ...
Read More
खीरे का जूस के फायदे
खीरे का जूस के फायदे
खीरे का जूस के फायदे (Kheere ka Juice) - क्या आप जानते है की खीरे का रस का सेवन करने ...
Read More
सुबह खाली पेट दही खाने के फायदे
सुबह खाली पेट दही खाने के फायदे
सुबह खाली पेट दही खाने के फायदे (Khali Pet Dahi Khane Ke Fayde) - कुछ लोग आपको यह सलाह देते ...
Read More
शुगर में कौन सा फल नहीं खाना चाहिए
शुगर में कौन सा फल नहीं खाना चाहिए
डायबिटीज यानि शुगर में कौन सा फल नहीं खाना चाहिए (Sugar me kon sa fal nahi khana chahiye)- एक गलत ...
Read More
शुगर में मटन खाना चाहिए या नहीं
डायबिटीज यानि शुगर में मटन खाना चाहिए या नहीं
शुगर में मटन खाना चाहिए या नहीं (Sugar Patients Can Eat Mutton in Hindi) - अगर आप मीट खाने के ...
Read More
प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं
जानिए प्रेग्नेंसी में क्या खाएं और क्या नहीं
प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं (Pregnancy me kya khana chahiye or kya nahi) - एक गर्भवती स्त्री ...
Read More

कमर दर्द का इलाज

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पुदीना के औषधीय उपयोग || Pudina

आम || Aam ke fayde || Uses and Benefits of Mango in Hindi

लहसुन के फायदे, विभिन्न रोगों में उपयोग की विधि | Uses and Health Benefits of Garlic in Hindi

References:-

DMCA.com Protection Status