टाइप-2 मधुमेह का सबसे बड़ा कारण :- इन्सुलिन प्रतिरोध की सम्पूर्ण जानकारी

इंसुलिन प्रतिरोध (Insulin Resistance in Hindi) – तीन अमेरिकियों में से एक, जिनमें 60 वर्ष और उससे अधिक उम्र के आधे लोग शामिल हैं, मधुमेह की एक ऐसी समस्या से पीड़ित है जिसे इंसुलिन प्रतिरोध (Insulin Resistance) के रूप में जाना जाता है ।

इंसुलिन प्रतिरोध | Insulin Resistance in Hindi

इंसुलिन प्रतिरोध (Insulin Resistance) से प्रीबायोटिक, टाइप 2 मधुमेह और अन्य गंभीर स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं के होने का खतरा बढ़ जाता है, जिसमें दिल का दौरा, स्ट्रोक और कैंसर जैसे गंभीर रोग भी शामिल हैं ।

इंसुलिन प्रतिरोध

इंसुलिन प्रतिरोध क्या है? | What is Insulin Resistance in Hindi

ग्लूकोज, जिसे रक्त शर्करा के रूप में भी जाना जाता है, शरीर के ईंधन का मुख्य स्रोत है जो हमें अनाज, फल, सब्जियां, डेयरी उत्पाद, और पेय से मिलता है |

इंसुलिन प्रतिरोध तब होता है जब आपकी मांसपेशियों, शरीर की वसा और यकृत (Liver) की कोशिकाएं उस संकेत का प्रतिरोध करती है या अनदेखी करती हैं जिसमे रक्त शर्करा (Glucose) को रक्तप्रवाह से बाहर निकलकर शरीर की कोशिकाओं के द्वारा इस्तेमाल किया जाना है, जो इंसुलिन नामक हार्मोन के द्वारा भेजा जाता है |

Insulin | इंसुलिन क्या है? मधुमेह की शुरुआत कैसे होती है?

इंसुलिन प्रतिरोध कैसे विकसित होता है?

शरीर का अतिरिक्त वजन, बहुत अधिक पेट की चर्बी, व्यायाम की कमी, आनुवांशिकी कारण, उम्र बढ़ना, धूम्रपान, और यहां तक ​​कि नींद की कमी भी इंसुलिन प्रतिरोध विकसित करने में भूमिका निभाते हैं |

शरीर में जैसे ही इंसुलिन प्रतिरोध विकसित होना शुरू होता है, आपका शरीर उस प्रतिरोध को समाप्त करने के लिए अधिक इंसुलिन का उत्पादन करके वापस लड़ता है ।

आपके अग्न्याशय में बीटा कोशिकाएं मौजूद होती है जो इन्सुलिन की मांग के हिसाब से इन्सुलिन का उत्पादन करती है | जैसे-2 शरीर में इन्सुलिन प्रतिरोध बढ़ता जाता है, इन्सुलिन की मांग भी बढ़ती जाती है और तब बीटा कोशिकाएं अधिक से अधिक इंसुलिन की मांग के साथ तालमेल नहीं रख पाती हैं । जिस कारण रक्त में रक्त शर्करा की मात्रा बढ़ती जाती है और आप प्रीडायबिटीज या टाइप 2 मधुमेह के शिकार हो जाते है ।

इसके साथ-२ आपके शरीर में Non-Alcoholic Fatty Liver Disease (NAFLD), भी विकसित हो सकती हैं, जो इंसुलिन प्रतिरोध से जुड़ी एक ऐसी समस्या जो यकृत (Liver) को नुकसान पहुंचाने के साथ-२ और हृदय रोग के जोखिम को बढ़ाती है ।

इंसुलिन प्रतिरोध के लक्षण | Symptoms of Insulin Resistance in Hindi

इंसुलिन प्रतिरोध आमतौर पर वजन, आयु, आलस, धूम्रपान और आनुवांशिकी से जुड़े कारकों के संयोजन (Combination) से उत्पन्न होता है |

1. एक बड़ी कमर (मोटापा) :-
विशेषज्ञ के अनुसार, क्या आपके शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध विकसित हो रहा है या नहीं हैं, यह बताने का सबसे अच्छा तरीका हैं कि बाथरूम के शीशे के सामने माप टेप (Measurement Tape) ले कर खड़े हो जाये और अपनी कमर को नापे | अगर आपकी कमर जो महिलाओं के लिए 35 इंच या उससे अधिक, पुरुषों के लिए 40 या उससे अधिक (यदि आप दक्षिण पूर्व एशियाई, चीनी या जापानी वंश के हैं तो महिलाओं के लिए 31.5 इंच और पुरुषों के लिए 35.5 इंच की माप ) या उससे अधिक है तो आपको इंसुलिन प्रतिरोध और चयापचय (Metabolism) सिंड्रोम होने की सम्भावना बहुत बढ़ जाती है |

2. उपापचयी सिंड्रोम (metabolic syndrome) :-
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार, एक बड़ी कमर के अलावा , यदि आपके पास निम्नलिखित में से तीन या अधिक हैं, तो आपको चयापचय सिंड्रोम की संभावना है, जो इंसुलिन प्रतिरोध का कारण बनता है ।

  • उच्च ट्राइग्लिसराइड्स (High triglycerides)
  • अच्छे कोलेस्ट्रॉल HDL के स्तर में कमी (Low HDLs)
  • उच्च रक्त चाप (High blood pressure)
  • उच्च रक्त शर्करा (High blood sugar)
  • खाली पेट उच्च रक्त शर्करा (High fasting blood sugar )

3. डार्क स्किन पैच :-
यदि इंसुलिन प्रतिरोध गंभीर है, तो आपको त्वचा में बदलाव दिखाई दे सकते हैं । इनमें आपकी गर्दन के पीछे या कोहनी, घुटनों, घुटनों या कांख पर काले रंग की त्वचा के पैच शामिल हैं ।

इंसुलिन प्रतिरोध से संबंधित स्वास्थ्य स्थितियां

  • अनुमानित 87 मिलियन अमेरिकी वयस्कों (Adults) को प्रीबायोटिक्स है | जिसमे से 30-50% लोग को पूर्ण विकसित टाइप 2 मधुमेह विकसित होने की पूरी-2 सम्भावना है ।
  • इसके अलावा, टाइप 2 डायबिटीज वाले 80% लोगों में NAFLD है, लेकिन ये इंसुलिन प्रतिरोध से उत्पन्न होने वाले एकमात्र खतरे नहीं हैं ।
  • उच्च रक्त शर्करा (high blood sugar), प्रीडायबिटीज (Prediabetes) और टाइप 2 मधुमेह वाले लोग को ह्रदय रोग होने की सम्भावना बहुत अधिक होती है । इंसुलिन प्रतिरोध दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को दोगुना कर देता है | इंटरनेशनल डायबिटीज़ फेडरेशन के अनुसार, ऐसे लोगो को आने वाला हार्ट अटैक या ‘ब्रेन अटैक’ बहुत ही घातक होता है ।
  • इस बीच, इंसुलिन प्रतिरोध और चयापचय सिंड्रोम (metabolic syndrome) भी मूत्राशय (Bladder), स्तन (Breast), बृहदान्त्र (Colon), गर्भाशय ग्रीवा (Cervix), अग्न्याशय (Pancreas), प्रोस्टेट और गर्भाशय (Uterus) के कैंसर के कारण बन सकते है ।
  • साथ ही इंसुलिन प्रतिरोध की शुरुआत में उच्च इंसुलिन का स्तर शरीर में ट्यूमर के बढ़ने और शरीर को बीमार करने वाली घातक कोशिकाओं को मारकर खुद को बचाने की क्षमता को दबाने का कारण बनता है |

इंसुलिन प्रतिरोध का उपचार | इंसुलिन प्रतिरोध को कैसे रोक या उलट सकते हैं?

वजन कम करना, नियमित व्यायाम करना और नींद पर कंजूसी नहीं करना, ये सब आपकी इंसुलिन संवेदनशीलता ( Insulin Sensitivity ) को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं । अकेले डाइटिंग या व्यायाम पर भरोसा न करें: इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ ओबेसिटी (Obesity) में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, अधिक वजन वाले लोग, जिन्होंने आहार और व्यायाम के माध्यम से अपना 10% वजन कम किया, उनमे इंसुलिन संवेदनशीलता ( Insulin Sensitivity ) में 80% सुधार देखा गया । अकेले आहार के माध्यम से वजन कम करने वालों में 38% सुधार देखा गया ।

ओबेसिटी सोसाइटी की 2015 की बैठक में प्रस्तुत एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि सिर्फ एक रात की नींद की कमी ने इंसुलिन प्रतिरोध को उतना बढ़ा दिया, जितना कि छह महीने तक उच्च वसा (High Fat) वाले खाद्य पदार्थ खाने से बढ़ता |

इंसुलिन प्रतिरोध का उपचार क्या है?

वजन कम करना, नियमित व्यायाम करना और नींद पर कंजूसी नहीं करना, ये सब आपकी इंसुलिन संवेदनशीलता ( Insulin Sensitivity ) को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं ।

इंसुलिन प्रतिरोध क्या है?

इंसुलिन प्रतिरोध तब होता है जब आपकी मांसपेशियों, शरीर की वसा और यकृत (Liver) की कोशिकाएं उस संकेत का प्रतिरोध करती है या अनदेखी करती हैं जिसमे रक्त शर्करा (Glucose) को रक्तप्रवाह से बाहर निकलकर शरीर की कोशिकाओं के द्वारा इस्तेमाल किया जाना है, जो इंसुलिन नामक हार्मोन के द्वारा भेजा जाता है |

Disclaimer
मधुमेह में चाय यानि शुगर में चाय पीना चाहिए कि नहीं
मधुमेह में चाय यानि शुगर में चाय पीना चाहिए कि नहीं – Sugar Mein Chai Peena Chahiye Ki Nahi
मधुमेह में चाय यानि शुगर में चाय पीना चाहिए कि नहीं (Sugar Mein Chai Peena Chahiye Ki Nahi) - भारत ...
Read More
शुगर में कौन सा जूस पीना चाहिए
डायबिटीज यानि शुगर में कौन सा जूस पीना चाहिए?
डायबिटीज यानि शुगर में कौन सा जूस पीना चाहिए - डायबिटीज में कौन सा जूस पीना चाहिए? शुगर वालों को ...
Read More
शुगर में अमरूद खा सकते हैं
शुगर में अमरूद खा सकते हैं
शुगर में अमरूद खा सकते हैं (Sugar me Amrud Kha Sakte hai)- अक्सर लोग सोचते है की डायबिटीज यानि शुगर ...
Read More
शुगर में टमाटर खाना चाहिए कि नहीं?
शुगर में टमाटर खाना चाहिए कि नहीं?
शुगर में टमाटर खाना चाहिए कि नहीं (Benefits of Tomato in Diabetes) - शुगर यानि डायबिटीज में टमाटर खाना चाहिए ...
Read More
मधुमेह टाइप 2
मधुमेह टाइप 2 के कारण, लक्षण, टेस्ट्स और बचाव के तरीके | Type 2 Diabetes
मधुमेह टाइप 2 - बहुत से भारतीय यह सोचते है की अमेरिका के लोगो का स्वास्थ्य भारतीओ के मुकाबले बहुत ...
Read More
शुगर में तुलसी के फायदे
शुगर में तुलसी के फायदे
शुगर में तुलसी के फायदे ( Sugar me Tulsi Ke Fayde ) - हिन्दू धर्म ग्रंथो में तुलसी के पौधे ...
Read More

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

कमर दर्द का इलाज

आम || Aam ke fayde || Uses and Benefits of Mango in Hindi

लहसुन के फायदे, विभिन्न रोगों में उपयोग की विधि | Uses and Health Benefits of Garlic in Hindi

अनार के फायदे और विभिन्न रोगो में प्रयोग की विधि की जानकारी

DMCA.com Protection Status