Mint पुदीने के फायदे पुदीना के घरेलु नुस्खे Upchar
Ayurveda, औषधिया, सब्जी
77 / 100

और के अर्क के फायदे और घरेलु नुस्खे

अद्भुत गुणों वाला एक ऐसा वनस्पति पौधा है जो गर्मियों में हमारे शरीर के लिए अत्यंत उपयोगी होता है | इसका प्रयोग गर्मी के मौसम में सबसे अधिक किया जाता है | ग्रीष्म काल प्रारंभ होने के साथ ही बाजारों में अपनी हरित आभा और खुशबू से जनमानस को उल्लासित करता प्रतीत होता है | की उपयोगिता मात्र पदार्थ के रूप में नहीं बल्कि भोजन के स्वाद को बढ़ाने के साथ-2 औषधि के रूप में भी है | दोस्तों,  ऐसा हो नहीं सकता की आपने के चटनी के बारे में न सुना हो यह एक मशहूर व्यंजन है जो ना सिर्फ खाने के स्वाद को बढ़ाती है बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी बहुत उपयोगी है | शरीर में और वायु से होने वाली बीमारियों को दूर करने में बहुत उपयोगी सिद्ध होता है |

में पाये जाने वाले पोषक तत्व:-

की हरी सुगंधित पत्तियों में विटामिन ‘ए’, ‘बी’, ‘सी’, ‘डी’ और ‘ई’ मौजूद रहते हैं | इसके साथ ही कैल्शियम, फास्फोरस और आयरन भी होता है |  में मेंथॉल काफी मात्रा में रहता है | इसमें विद्यमान विटामिन और खनिज तत्व इसके औषधीय गुणों को और अधिक बढ़ा देते हैं | काफी स्वास्थ्यवर्धक गुणों से भरपूर होता है | इसमें प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, कैलोरी आदि काफी मात्रा में पाए जाते हैं | 

में विटामिन ‘A’ अधिक मात्रा में पाया जाता है | में कैलोरी, फाइबर, आयरन, मैंगनीज,फोलेट जैसे खनिज भी पाए जाते है | में पाया जाने वाला एंटीऑक्सिडेंट, ऑक्सीडेटिव तनाव से हमारे शरीर की सुरक्षा करते हैं |

अगर आप स्वस्थ रहना चाहते है तो विटामिन ‘A’ की कमी न होने दे

विटामिन की दृष्टि से दुनिया के समस्त रोगों से रक्षा करने वाली एक जड़ी बूटी के समान है | अपच को मिटाता है | इस के रस के सेवन से जमा हुआ कफ पिघल जाता है | हब्बा हब्बा ( बच्चों का रोग ) और दमा के रोग से राहत दिलाता है | का रस या अर्क कफ, सर्दी एवं मस्तिष्क की सर्दी में अत्यंत उपयोगी सिद्ध होता है | का रस पीने से खांसी, उल्टियां, लूज मोशन (दस्त ) और हैज़े में लाभ होता है | पेट की और कीड़े मिटते हैं |

पुदीने के फायदे

आइए आपको के अर्क से बनने वाली कुछ औषधियों के बारे में बताते हैं :-

  1. का ताजा रस में मिलाकर प्रति 2 घंटे में देने से निमोनिया से होने वाले अनेक विकारों की रोकथाम होती है और बुखार शीघ्र मिटता है |
  2. को खाना और चबाना उनके लिए काफी फायदेमंद होता है जिन्हे बनती हो । पेट फूलना, दर्द होना ,खट्टी डकारें आना इन सब बातों में फायदेमंद है।
  3. 10 पत्ते, छोटी इलायची के साथ पानी में  उबाल कर पानी को छानकर पी लेने से जी मतलाने या उल्टी आने की शिकायत दूर हो जाती है।
  4. पुदीने का ताजा रस के साथ मिलाकर सेवन करने से आंतो ( Intestine ) की खराबी और पेट के रोग मिटते हैं | आंतों की लंबे अरसे से शिकायत वाले रोगियों के लिए पुदीने के ताजे रस का सेवन अमृत के समान गुणकारी माना गया है |
  5. 5 ग्राम, अदरक का रस 5 ग्राम और सेंधा नमक 1 ग्राम मिलाकर पीने से किसी भी तरह का पेट दर्द मिटता है |
  6. पुदीना, राम तुलसी और श्याम तुलसी का रस निकालकर पिलाने से टाइफाइड में लाभ होता है |
  7. पुदीने के रस की बूंदे नाक में डालने से जुकाम यानी पीनस में लाभ होता है |
  8. दाद पर बार-बार लगाते रहने से दाद जल्दी ठीक होता है |
  9. प्रसव के दौरान पिलाने से प्रसव आसान हो जाता है |
  10. पुदीना खून साफ करता है। खून से खराब तत्व (Toxins) को बाहर  निकालता है।

अगर आपको यह जानकारी पसंद आई तो क्रपया इसे अन्य लोगो के साथ भी शेयर कीजिये |
धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *