पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पेट में गैस बनने की समस्या एक आम समस्या है जिसका मुख्य कारण हमारी गलत जीवनशैली और गलत खानपान है। इस समस्या से लगभग हर इंसान परेशान रहता है। भोजन को पचाने वाली क्रिया के दौरान बनने वाली गैस पेट में अफारा, पाद, पेट दर्द, शरीर में दर्दो का कारण बन सकती है। ऐसे में पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय की जानकारी आपके लिए फायदेमंद हो सकती है।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के घरेलु उपाय काफी कारगर सिद्ध हुए है। रसोई में पाई जाने वाली काली मिर्च, अजवाइन, हींग, जीरा, सौंफ, अदरक, लहसुन और बहुत सी अन्य वस्तुए पेट की गैस की समस्या में फायदेमंद होती है। पेट में गैस बनना एक आम समस्या है | इस समस्या में घरेलू उपाय का इस्तेमाल तक़रीबन हर घर में किया जाता है। आइये जानते है गैस भगाने के घरेलू उपाय।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

Table of Contents

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने का सबसे बढ़िया उपाय तो खाना खाने की नियमो का पालन करना ही है। आयुर्वेदा के अनुसार सही समय पर, सही मात्रा में और सही तरीके से खाया गया खाना शरीर को सभी रोगो से मुक्त रखता है और मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।

इतना ही नहीं भारतीय रसोई में बहुत से ऐसे उपाय छुपे हुए है जिनकी मदद से पेट की गैस की समस्या को जड़ से खत्म कर सकते है। इन मसालों का इस्तेमाल, खाना हजम करने के उपाय अपनाकर और थोड़ी सी सावधानी से पेट की गैस की समस्या को खत्म किया जा सकता है।

आजकल के जमाने में जानकारी ही बचाव है तो आइये जानते है पेट की गैस ( Pet Ki Gas ) के बारे में।

पेट की गैस Pet Ki Gas

पेट की गैस | Pet Ki Gas

जो कुछ भी हम खाते है, उसे दांतो से लेकर शरीर में बनने वाले पाचन रस की मदद से पचा कर, शरीर उसमे मौजूद पोषक तत्वों को निकालकर इस्तेमाल कर लेता है। इस पाचन क्रिया के दौरान कुछ गैस भी निकलती है जो इतनी कम मात्रा में होती है की उससे कोई परेशानी नहीं होती। जब यह पेट की गैस ( Pet Ki Gas ) अधिक बनने लगती है तो अनेको समस्याएं पैदा हो जाती है।

गलत खानपान और पाचन क्रिया के सही से कार्य न करने के कारण पाचन के दौरान अधिक मात्रा में गैस का उत्सर्जन होता है | यह पेट की गैस सिर्फ पेट ही नहीं शरीर में भी बहुत से रोगो का कारण बनती है।

पेट में गैस के कारण | पेट में गैस क्यों बनती है ? | Gas Banne Ka Karan

आपके पेट में गैस बनती है, पेट में गैस के कारण (Gas Banne Ka Karan) जानना चाहते है और यह सोचते है की पेट में गैस क्यों बनती है ? तो जान ले की इसका कोई एक जवाब हो ही नहीं सकता। पेट में गैस बनने के बहुत से कारण हो सकते है जिनमे से अत्यधिक भोजन करना, असमय भोजन करना, खराब पाचन क्रिया, मैदे से बनी वस्तुओ का अधिक सेवन, ज्यादा देर तक भूखा रहना, ज्यादा मसालेदार भोजन करना उनमे से कुछ है।

पेट में गैस के कारण पेट में गैस क्यों बनती है ? Gas Banne Ka Karan

आइये और अधिक जानते है पेट में गैस के कारण :-

  • भोजन का सही से न पचना यानि अपच पेट में गैस बनने का सबसे बड़ा कारण होती है। अपच के कारण सिर्फ गैस ही नहीं बल्कि एसिडिटी, मोटापा और पेट खराब जैसे समस्याएं भी पैदा हो जाती है।
  • गलत समय पर पानी पीना भी गैस और एसिडिटी की समस्या का कारण बन सकता है। इसलिए भोजन करने के दौरान अधिक मात्रा में पानी पीने से भोजन को पचाने के लिए शरीर में बनने वाला पाचन रस अपना कार्य सही से नहीं कर पाता जिससे अपच और गैस की समस्या पैदा हो जाती है।
  • पेट को भोजन पचाने के लिए सिकुड़ने और फैलने की क्रिया करनी पड़ती है अत्यधिक मात्रा में भोजन करने से भोजन पचाने की क्रिया में रूकावट आती है। जिससे भोजन सही से नहीं पचता और अधपचा भोजन गैस का कारण बनता है ।
  • वे व्यक्ति जो बिना सोचे समझे, जब भी कोई खाने की चीज मिले, उसे खा जाते है, उनकी पाचन क्रिया गड़बड़ा जाती है और पाचन सम्बन्धी रोग जैसे गैस, कब्ज, एसिडिटी, उन्हें जकड़ लेते है।
  • मैदे के अंदर शरीर के लिए आवश्यक कोई भी पोषक तत्व नहीं होता। यह पचने में भारी होता है और गैस और एसिडिटी का कारण बनता है इसलिए अधिक मात्रा में इसका सेवन न करे तो बेहतर होगा।
  • ज्यादा मसालेदार भोजन भी शरीर में गैस का कारण बनता है।
  • कुछ ऐसी सब्जिया, दाल, अनाज और आहार है जिनके सेवन से शरीर में अत्यधिक मात्रा में गैस बनने लगती है। जैसे सफ़ेद छोले, राजमा, आलू, अरबी, कटहल आदि।
  • Physical Activity की कमी भी पेट में गैस का कारण बनती है।
  • प्रतिदिन अधिक समय तक एक ही जगह पर बैठे रहना, कम शारीरिक श्रम, व्यायाम की कमी आदि भी हमारी पाचन क्रिया को प्रभावित करते है और पेट में गैस कारण बनते है।
  • एक व्यक्ति को प्रतिदिन कम से कम 8 घंटे की अच्छी नींद तो अवश्य ही लेनी चाहिए। नींद की कमी से पूरा शरीर प्रभावित होता है।
  • गैस की समस्या हमेशा पाचन क्रिया की गड़बड़ी का कारण ही नहीं होती बल्कि कई दूसरी बीमारिया भी गैस के अधिक बनने का कारण होती है जैसे पेप्टिक अल्सर, पित्त की थैली की पथरी, भोजन की थैली में कैंसर, पैंक्रियाज की बीमारी, आंत की बीमारी, हार्ट और न्यूरोलॉजिकल गड़बड़ी।
  • कुछ दवाइयों के प्रभाव के कारण भी पेट में अधिक गैस बनने लगती है।

गैस बनने से क्या क्या लक्षण होते हैं ?

गैस बनने से क्या क्या लक्षण होते हैं

शरीर में गैस बनने पर यह गैस यानि वायु एक जगह नहीं रूकती। यह इधर उधर विचरती रहती है और जहां भी जाती है वहीँ दर्द पैदा करती है। आइये जानते है गैस के कुछ लक्षण :-

  • पेट फूला हुआ प्रतीत होना।
  • सुबह पेट सही से साफ़ न होना
  • पेट में ऐंठन और पेट दर्द का आभास होना।
  • बार-2 पाद आना।
  • पाद में बदबू का आना
  • अधिक डकार आना
  • पेट का दर्द कभी इधर तो कभी उधर होना तथा कभी-कभी उल्टी होना।
  • सिर में दर्द रहना।
  • पूरे दिन आलस जैसा महसूस होना।
  • छाती में दर्द होना।

पेट में गैस बनने वाली चीजों के नाम

  • दूध मुख्य रूप से भैस का दूध पचने में भारी होता है और पेट में गैस की समस्या होने पर दूध का सेवन बंद कर देना चाहिए या उसमे सही मसले डालकर ही उसका सेवन करना चाहिए।
  • राजमा, काली माँ की दाल, माँ धुली दाल, लोबिया, सफ़ेद छोले और मटर। ये ऐसे आहार है जिनके सेवन से पेट में गैस के मरीज को बचना चाहिए। ये पचने में भारी होती है और इनके सेवन से शरीर में अत्यदिक मात्रा में गैस बनती है।
  • सब्जियों गोभी परिवार से: सफेद गोभी, बैंगनी गोभी, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, फूलगोभी, गोभी, पालक, साग, शतावरी, ककड़ी या मिर्च ऐसे सब्जिया हैं जिनके सेवन से अधिक मात्रा में गैस बनती है।
  • अनाज में सबसे पहला नाम आता है मैदे का। आयुर्वेदा के अनुसार मैदे में शरीर के लिए आवश्यक कोई भी पोषक तत्व नहीं होता और इसको पचना भी भारी होता है। लेकिन बाजार में मिलने वाले अधिकतर समान मैदे में ही तैयार किया जाता है और उन्हें हम बड़े चाव से खुश हो कर खाते है।
  • आलू, अरबी, शकरकंद, मूली या कच्चे प्याज आदि पचने में भारी होते है और पेट में गैस बनाते है।
  • किसी भी तरह का नॉन वेज पचने में भारी होता है और पेट में गैस का कारण बनता है।
  • चॉकलेट, कोक, बीयर , शराब आदि के सेवन से भी पेट में गैस बनती है।

खाना खाने के बाद पेट में गैस बनना

खाना खाने के बाद पेट में गैस बनना आजकल एक आम समस्या है। पुरे विश्व में कैंसर, डायबिटीज, ह्रदय के रोग की समस्या से भी अधिक लोग खाना खाने के बाद पेट में गैस बनने की समस्या से पीड़ित है। इस समस्या का सबसे बढ़ा कारण खाना खाने के नियमो का पालन ना करना है।

खाना खाने के दौरान और उसके आसपास अधिक मात्रा में पानी का सेवन करना, भोजन को अच्छे से चबा कर ना खाना, अत्यधिक मात्रा में भोजन का सेवन करना, अधिक मसालेदार और चटपटी वस्तुओ का सेवन करना, भोजन के साथ कोल्ड ड्रिंक का सेवन करना, धूम्रपान करना आदि खाना खाने के बाद पेट में गैस बनने के कुछ मुख्य कारण है।

सिर्फ खाना खाने के नियमो को अपनाकर ही आप खाना खाने के बाद गैस बनने की समस्या को बहुत हद तक ठीक कर सकते है।

पेट में गैस बनने से क्या क्या बीमारी होती है ?

पेट में गैस बनना कोई आम बीमारी नहीं है, बल्कि यह बहुत सी बीमारियों की जड़ है | वात, वायु या गैस के कारण शरीर में 80 तरह के अलग-२ रोग पैदा हो जाते है। अधिकतर पेट की गैस पिछले मार्ग से या डकार के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाती है जो की शरीर के लिए सबसे बढ़िया होता है। यही कारण है की पाद आना एक स्वास्थ्यवर्धक क्रिया है। हाँ, इससे कुछ शर्मिंदगी तो होती है लेकिन यह क्रिया शरीर को बहुत से रोगो से बचा लेती है।

पेट की गैस अगर किसी वजह से शरीर से बाहर ना निकले तो यह शरीर में इधर उधर विचरती रहती है। यह शरीर में जहां भी जायगी दर्द पैदा करेगी। जब तक यह पेट में विचरती रहेगी यानि घूमती रहेगी, आपके पेट में कभी इधर तो कभी उधर दर्द होता रहेगा। यही गैस जब पेट से ऊपर की और जाती है तो बहुत से रोगो और दर्दो का कारण बनती है।

आइये जानते है की पेट में गैस बनने से क्या क्या बीमारी होती है?

  • पेट फूलना।
  • पेट दर्द।
  • भूख कम लगना।
  • पेट की गैस ऊपर की और जाना |
  • पेट में ऐंठन |
  • उलटी होना |
  • छाती में सुई चुभने जैसे पीड़ा |
  • शरीर में जकड़न |
  • सिरदर्द |
  • चक्कर आना |
  • उबासी आना |
  • हिचकी |
  • नींद ना आना |

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पेट में गैस बनना एक शारीरिक क्रिया है। भोजन को पचते समय थोड़ी बहुत गैस तो सभी के शरीर में बनती है। समस्या तब पैदा होती है जब यह गैस अत्यधिक मात्रा में बनने लगती है और डकार और पाद के माध्यम से निकलने की बजाय सीने में या सर पर चढ़ जाती है और बहुत सी समस्याओ का कारण बनती है। अगर आपको भी अधिक गैस बनती है तो आप जरूर जानना चाहेंगे पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के का सबसे बढ़िया उपाय तो यही है की आप खाना खाने की नियमो का पालन करे जैसे खाना खाने के दौरान और उसके आस पास अधिक मात्रा में पानी पीने से बचे, खाने को चबा-२ कर खाये और एक बार खाने के बाद कम से कम 3 घंटे के बाद की कुछ और मुँह में डाले। इसके अलावा रसोई में मौजूद अजवाइन, हींग, काली मिर्च, जीरा, इलाइची, अदरक, लहसुन आदि वस्तुए आपकी गैस बनने की समस्या को दूर करने के घरेलु उपायों के रूप में काफी कारगर सिद्ध हुए है।

आइये और अधिक जानते है पेट की गैस के घरेलु उपाय | पेट की गैस को जड़ से ख़त्म करने के उपायों को हम दो हिस्सों में बांटकर बता रहे है :-

प्राकृतिक उपचार

खाना खाने के नियम खाना हजम करने के उपाय

खाना खाने के नियम बहुत ही सरल और आसान होते है। बस आपको थोड़ा सब्र से काम लेना है और आप देखंगे की कैसे आपके पाचन सम्बन्धी सभी रोग कुछ ही दिनों में अपने आप खत्म हो जायँगे। बस खाना खाने के नियमो का पालन कीजिये और पेट की गैस को जड़ से खत्म कीजिये।

सुबह की सैर

सुबह की सैर आपको बहुत से रोगो से छुटकारा दिला सकती है। वे लोग जिनका अधिकतर समय एक ही स्थान पर बैठे, काम करते हुए बीत जाता है उनके लिए सुबह की सैर किसी वरदान से कम नहीं है। यह पाचन क्रिया को मजबूत बनाने का सर्वोत्तम प्राकृतिक उपाय है।

पेट गैस के लिए योग – pet ki gas nikalne ke liye yoga

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के लिए आपको रोजाना सुबह उठकर योग अभ्यास और योग आसन करने चाहिए। योग तथा आसन पेट में गैस को दूर रखने का रामबाण इलाज साबित होंगे ।

पश्चिमोत्तानासन,धनुरासन, उत्तानपादासान, भुजंगासन, हलासन, नौकासन, मयूरासन, मुक्तासन आदि आसन, पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय है।

अत्यधिक तेलीय, वसा युक्त और अधिक मसालेदार खाद्य पदार्थो के सेवन से बचे

अत्यधिक तेलीय, वसा युक्त और अधिक मसालेदार खाद्य पदार्थो के सेवन से बचे। जहां तक हो सके घर का बना सादा और कम तेल वाले भोजन का ही सेवन करे। अधिक तेल वाला भोजन को पचाना भारी होता है और यह पेट में गैस का कारण बनता है।

दो बार शौच यानि पेट साफ़ करेपेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पेट में गैस की समस्या को दूर करने का यह एक बेहतरीन उपाय है जिसको आप आसानी से टेस्ट कर सकते है। बस आपको करना इतना है की हर 12 घंटे के बाद टॉयलेट जाये यानि अपना पेट साफ़ करे। अधिक समय से पड़ा हुआ मल भी पेट में गैस पैदा करता है इसलिए इसे शरीर से बाहर निकाल देना ही आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है।

पेट में गैस बनाने वाले खाद्य पदार्थो के सेवन से बचे

अगर आप पेट में गैस की समस्या से पीड़ित है तो बेहतर होगा की आप ऐसी चीजों का सेवन न करे जो पचने में भारी होती है और पेट में गैस की समस्या का कारण बनती है।

कच्ची सब्जिओ का सलाद

भोजन करते समय कच्ची सब्जियों का सेवन करना पाचन के लिए काफी फायदेमंद होता है। इस सलाद के ऊपर अगर नमक और निम्बू निचोड़कर उसक रस भी डाल दिया जाये तो यह सोने पे सुहागे वाली बात हो जाती है। सलाद भोजन को स्वस्थ भोजन बनता है और पेट में गैस की समस्या को दूर भगाता है।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के आयुर्वेदिक उपाय

हरड़पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पाचन से जुडी समस्याओ में हरड़ काफी फायदेमंद होती है। छोटी काली हरड़ को मुंह में डालकर चूसने और पानी से निगल लेने पर भी पेट में गैस की समस्या में फायदा मिलत है।

त्रिफला चूर्णपेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

आयुर्वेदा का चमत्कार है त्रिफला चूर्ण जो पाचन सम्बन्धी सभी समस्याओ को दूर कर शरीर को सम्पूर्ण अवस्थी की और ले जाता है। पेट की गैस में तो यह रामबाण उपाय है जो पेट की गैस को जड़ से खत्म कर देता है।

गर्म पानी – पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

खाना खाने के बाद सिर्फ एक कप गरमा गर्म पानी का सेवन करने से पेट में गैस की समस्या से तुरंत आराम मिलता है। इतना ही नहीं यह पाचन से जुडी सभी समस्याओ को दूर करने का बेहतरीन उपाय है।

लहसुनपेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

आयुर्वेदा के अनुसार हमारे शरीर में वायु विकार ( पेट में गैस की समस्या ) के कारण ही सबसे अधिक रोग शरीर को जकड़ते है। लहसुन वायु का नाश करने वाली सबसे बढ़िया औषधि है। आगे बताये गए 2 तरीको से लहसुन का उपयोग करके आप पेट में गैस की समस्या से छुटकारा पा सकते है।

  • ठंडे पानी में 5 बूंदे लहसुन का रस मिलाकर पीने से आराम मिलता है।
  • सुबह-२ खाली पेट 5 से 6 लहसुन की कलियां पानी के साथ पीने से भी पेट में गैस की समस्या दूर होती हैं।
हींग – पेट दर्द और गैस की दवा

हींग अपच, बदहजमी, पेट खराब और पेट में गैस जैसी समस्याओं में फायदेमंद होती है। भोजन बनाते समय हींग का इस्तेमाल करना और गुनगुने पानी में हींग मिलाकर पीने से पेट में गैस की समस्या से तुरंत राहत मिल जाती है। साथ ही एक चम्मच पानी में एक या दो दाने हींग के मिलाकर पेट पर नाभि के आसपास लगाने से गैस की समस्या में तुरंत आराम आता है।

अजवाइनपेट की गैस का तुरंत इलाज

अजवाइन आपकी पाचन क्रिया को मजबूत बनाने में सहायक होती है। यह पेट की गैस, एसिडिटी और अपच से तुरंत राहत प्रदान करती है। अजवायन में सक्रिय एंजाइम, थाइमोल, गैस्ट्रिक जूस बनने में मददगार होते है। जिससे पाचन में सुधार आता है और पेट की किसी भी समस्या से छुटकारा मिलता है। पेट की गैस की समस्या में आराम पाने के लिए अजवाइन के चूर्ण को पानी के साथ सेवन करना फायदेमंद रहता है।

अदरक – पेट की गैस का तुरंत इलाज

अदरक पेट में गैस की समस्या को दूर करने में काफी फायदेमंद होती है। इसके लिए आप अदरक को कई तरह से इस्तेमाल कर सकते है :-

  • भोजन बनाते समय उसमे अदरक का इस्तेमाल करने से भोजन को पचाने और पेट में गैस की समस्या को दूर करने में फायदा मिलता है।
  • अदरक के टुकड़े को पानी में उबालकर, इस हल्के गर्म पानी का सेवन करने से फायदा होता है।
  • अदरक के छोटे-२ टुकड़ो पर निम्बू और काला नमक छिड़ककर , हल्का गुलाबी होने पर खाना खाने से पहले सेवन करने से पेट की गैस समेत पाचन से जुडी सभी समस्याओ में आराम मिलता है ।
सौंफ- पेट की गैस की अचूक दवा

सौंफ पेट की गैस की समस्या का रामबाण इलाज है। इसका इस्तेमाल करने के तरीके :-

सौंफ का काढ़ा बनाकर, दिन में २ बार इसका सेवन करने से पेट में गैस की समस्या को दूर करने में फायदा मिलता है।
खाना खाने क बाद सौंफ और मिश्री का सेवन करने से भी खाना खाने के बाद पेट में गैस बनना की समस्या में आराम मिलता है।

छाछ – pet gas ka ilaj me chanch

आयुर्वेद में सिर्फ एक ही तरल पदार्थ को भोजन के साथ सेवन करने की बात कही गई है और वह है छाछ। छांछ को पेट की गैस और भोजन को पचाने के लिए रामबाण बताया गया है। प्रतिदिन छाछ में एक चम्मच अजवाइन और काला नमक मिलाकर इसका सेवन भोजन करते समय करने से पाचन सम्बन्धी समस्याओ और पेट में गैस की समस्या दूर भाग जाती है और भोजन को पचाना आसान हो जाता है।

गुड़ – पेट की गैस को जड़ से खत्म करने का उपाय

पुराने जमाने से ही भोजन के बाद गुड़ खाने का चलन रहा है। इसका कारण है की गुड़ भोजन को पचाने में सहायक होता है और भोजन सही से पचता है तो गैस की समस्या पैदा ही नहीं होती।

पुदीना – पेट की गैस को जड़ से खत्म करने में

पुदीना में विटामिन ए और बहुत से पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते है। अगर आप गैस की समस्या से परेशान हैं तो आपके लिए पुदीना बहुत ही फायदेमंद हो सकता है।

  • पुदीने की पत्ती का काढ़ा या चाय बनाकर सेवन करने से पेट की गैस में फायदा मिलता है।
  • पुदीना की चटनी को भोजन के साथ सेवन करने का चलन तो बरसो पुराना है क्योकि पुदीना पाचन सम्बन्धी समस्याओ में काफी फायदेमंद होता है।
जीरा और दही – pet me gas thik karne ke gharelu upay

पेट में गैस की समस्या से निदान पाने के लिए जीरा और दही का मिश्रण काफी कारगर उपाय है।

  • जीरे की तासीर ठंडी होती है और यह हमारे पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए काफी फायदेमंद होता है। दही भी हमारी पाचन क्रिया को मजबूत बनाने में सहायक होता है।
  • दही में भुना हुआ जीरा छिड़ककर, उसमे थोड़ी सी काली मिर्च और नमक मिलाकर भोजन के साथ सेवन करने से भोजन पचाने में सहायता मिलती है और पेट की गैस की समस्या से छुटकारा मिलता है।
Disclaimer

पेट में बहुत गैस बनता है क्या करें?

रसोई में पाई जाने वाली काली मिर्च, अजवाइन, हींग, जीरा, सौंफ, अदरक, लहसुन और बहुत सी अन्य वस्तुए पेट की गैस की समस्या में फायदेमंद होती है, इनका सही तरीके से इस्तेमाल करे।

गैस का रामबाण इलाज क्या है?

हींग अपच, बदहजमी, पेट खराब और पेट में गैस जैसी समस्याओं का रामबाण इलाज है। भोजन बनाते समय हींग का इस्तेमाल करना और गुनगुने पानी में हींग मिलाकर पीने से पेट में गैस की समस्या से तुरंत राहत मिल जाती है। साथ ही एक चम्मच पानी में एक या दो दाने हींग के मिलाकर पेट पर नाभि के आसपास लगाने से गैस की समस्या में तुरंत आराम आता है।

पेट में गैस बनने से क्या क्या परेशानी होती है?

 पेट में गैस बनने से क्या क्या बीमारी होती है?
पेट फूलना, पेट दर्द, भूख कम लगना, पेट की गैस ऊपर की और जाना , पेट में ऐंठन , उलटी होना , छाती में सुई चुभने जैसे पीड़ा , शरीर में जकड़न , सिरदर्द , चक्कर आना , उबासी आना , हिचकी , नींद ना आना |

Ayurveda And Natural Health Tips