Diabetes vs Daalchini || शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी || दालचीनी के 4 फायदे

शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी || दालचीनी का उपयोग कैसे करें?
80 / 100

डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए कमाल है दालचीनी

दोस्तों, इस लेख में हम आपको जानकारी देने जा रहे है की दालचीनी के कौन-२ से गुणों की वजह से यह रक्त शर्करा (Blood Sugar) के स्तर को कंट्रोल करने का एक प्रभावशाली मसाला माना जाता है और इस काम के लिए इसका उपयोग करने के तरीके के बारे में भी बतायंगे ।

शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी

दालचीनी एक लोकप्रिय मसाला है जिसका उपयोग स्वादिष्ट व्यंजनों और पेय (Drink) के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा, इस सुगंधित मसाले का लंबे समय से पारंपरिक दवाओं और खाद्य संरक्षक (traditional medicines and food preservatives) में उपयोग किया जाता है।

वास्तव में, यह पता चला है, दालचीनी (cinnamon) मधुमेह के प्रबंधन (कंट्रोल करने ) के लिए एक बढ़िया मसाला है।

मधुमेह (Diabetes) एक ऐसी बीमारी है जिसमे खून में ग्लूकोस का स्तर काफी बढ़ जाता है । दालचीनी एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होती है जो मधुमेह सहित कई बिमारिओ के होने के खतरे को कम करती है।

सिर्फ फायदा चाहिए तो इतनी मात्रा में करें दालचीनी का सेवन, नहीं तो पड़ सकते हैं लेने के देने

वास्तव में, कई अध्ययनों से पता चला है की दालचीनी खून में ग्लूकोस के स्तर में सुधार लाती है और कुछ बताते हैं कि यह इंसुलिन प्रतिरोध को कम करके रक्त शर्करा के स्तर को कंट्रोल कर सकती है।

आइये दोस्तों, हम आपको बताते हैं कि दालचीनी रक्त शर्करा के स्तर को कंट्रोल करके मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए एक अच्छा मसाला क्यों है यानि शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी :-

दालचीनी के गुण

दालचीनी के गुण जो दालचीनी को मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी बनाते हैं:-

1. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है दालचीनी

दालचीनी में बड़ी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो शरीर को ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद करते हैं, कोशिकाओं को होने वाला एक प्रकार का नुकसान जो मुक्त कणों (Free Redicals) के कारण होता है। ऑक्सीडेटिव तनाव को टाइप -2 मधुमेह सहित कई पुरानी बीमारियों के विकास के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है।

2. यह इंसुलिन संवेदनशीलता (insulin sensitivity) बढ़ा सकता है

मधुमेह वाले लोगों में, अग्न्याशय पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर पाता या कोशिकाएं इंसुलिन का ठीक से जवाब नहीं दे पाती, जिससे खून में रक्त शर्करा का स्तर बढ़ जाता है। एनसीबीआई के अनुसार, दालचीनी, सेवन के तुरंत बाद इंसुलिन संवेदनशीलता बढ़ाती है।

3. यह भोजन के बाद रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है

आपके द्वारा ग्रहण किए गए भोजन के आधार पर, रक्त शर्करा (Blood Sugar) का स्तर काफी बढ़ जाता है। दालचीनी भोजन के बाद होने वाले इन ब्लड शुगर स्पाइक्स को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है। वैज्ञानिक रूप से कहा जाए तो यह पाचन क्रिया को धीमा कर ब्लड शुगर स्पाइक्स को कंट्रोल करने में मदद करता है।

4. मधुमेह से जुड़ी अन्य बीमारियों के खतरे को कम करता है

दालचीनी हृदय रोगों और रक्तचाप (Blood Pressure) जैसी अन्य स्वास्थ्य स्थितियों के जोखिम को कम करने में भी मदद करती है। एक अध्ययन में पाया गया कि 12 सप्ताह तक कम से कम दो ग्राम दालचीनी का सेवन करने से सिस्टोलिक और डायस्टोलिक दोनों प्रकार के रक्तचाप कम होते हैं।

दोस्तों ये है शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी | आइये दोस्तों अब आपको जानकारी देते है की :-

शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी || दालचीनी का उपयोग कैसे करें?

शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी || दालचीनी का उपयोग कैसे करें?

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए दालचीनी का उपयोग कैसे करें?


दालचीनी का उपयोग करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है दालचीनी की एक छोटी छाल को एक गिलास पानी में मिलाकर इसे रात भर छोड़ दें। इसे सबसे पहले सुबह खाली पेट पीएं।

आप अपने व्यंजन, मिठाई और पेय (Drinks) पर दालचीनी पाउडर भी छिड़क सकते हैं और इसके सभी गुणों का लाभ उठा सकते हैं।

यह कहने की आवश्यकता नहीं है कि आपको रक्त शर्करा (Blood Sugar) के स्तर को कंट्रोल में रखने के लिए अपने खान-पान पर पूरी तरह से ध्यान देना होगा और रोजाना कम से कम कुछ हलके फुल्के व्यायाम जरूर करने चाहिए जैसी की सुबह की सैर |

डायबिटीज का होता है इन अंगों पर असर, जानें कैसे करें इलाज और बचाव || 8 IMPORTANT COMPLICATIONS OF DIABETES

दोस्तों , दालचीनी का अत्यधिक सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है, खासकर यदि आप यकृत (Liver) की समस्याओं से जूझ रहे हैं। इसके अलावा, इसमें एक संभावित हानिकारक पदार्थ होता है जिसे Coumarin कहा जाता है जो यकृत के लिए विषाक्त हो सकता है। इसलिए शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी में जानने के बाद भी इस मसाले का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य ले ले |

Disclaimer:-

सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। हम इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करते |

मधुमेह – विकिपीडिया

 

Related Topics YOu May interested:- 

Cinnamon And Honey Benefits

Sugar ke lakshan in Hindi || मधुमेह के लक्षण || डायबिटीज के 10 लक्षण || Diabetes ke lakshan

डायबिटीज रोगियों के लिए जरूरी 12 टिप्स

#Diabetes || #मधुमेह को नियंत्रण में रखने के लिए क्या खाये क्या नहीं || Food for Diabetes

Diabetes || मधुमेह यानि डायबिटीज में लाभ पहुंचाने वाले करेले और जामुन के कुछ घरेलू नुस्खे

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *