शुगर में पपीता खाना चाहिए या नहीं | Papaya for Diabetes in Hindi

शुगर के रोगी को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, यह जानकारी होना अत्यंत आवशयक है क्योकि शुगर में परहेज करना, डायबिटीज यानि मधुमेह के रोग को दूर करने का सबसे आसान और बढ़िया उपाय है। ऐसे में अगर आप जानना चाहते है की शुगर में पपीता खाना चाहिए या नहीं ( Sugar mein Papita Khana Chahiye ya Nahi ), तो यह आपकी डायबिटीज यानि मधुमेह के खिलाफ जारी जंग में आपके लिए काफी सहायक हो सकता है।

शुगर में पपीता खा सकते हैं क्या ? (Papaya for Diabetes in Hindi ) जी हाँ, शुगर में पपीता खा सकते है क्योकि पपीते में ऐसे-२ गुण भरे हुए है जो डायबिटीज यानि मधुमेह के कारण होने वाली समस्याए जैसे ऑंखें कमजोर होने की समस्या, इम्युनिटी कमजोर होने की समस्या, हार्ट प्रॉब्लम आदि को दूर करने में फायदेमंद होते है।

क्या शुगर हमेशा के लिए ठीक हो सकता है ? 

शुगर में पपीता खाना चाहिए या नहीं | Papaya for Diabetes in Hindi

मधुमेह के रोगी को अपने खानपान का बहुत ध्यान रखना चाहिए। उन्हें उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थों से सावधानीपूर्वक बचना चाहिए और अपने शरीर में ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रण में रखने का प्रयास करना चाहिए। पपीता उन्ही कुछ फलो में से है जो शुगर यानि मधुमेह के रोगी के लिए फायदेमंद होता है।

शुगर में कितनी रोटी खानी चाहिए?

शुगर में पपीता खा सकते हैं क्या ? | पपीता मधुमेह के लिए क्यों फायदेमंद है?

शुगर में पपीता खाना चाहिए या नहीं Papaya for Diabetes in Hindi

पपीता का ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) की वैल्यू 60 होती है, इसलिए यह ब्लड शुगर को बहुत जल्दी नहीं बढ़ाता। इसलिए पपीता एक मीठा फल होने के बावजूद डायबिटीज में फायदेमंद (sugar me papita khana chahiye) होता है।

पपीता में शुगर की मात्रा कितनी होती है ?

पपीता एक आयुर्वेदिक औषधि भी है। एक कप पपीते में 8 ग्राम से लेकर 11 ग्राम तक शुगर पाई जाती है। यह इस बात पर निर्भर करता है की जो पपीता आप खा रहे है वो कितना मीठा है।

शुगर में पपीता के फायदे

आइये जानते है कुछ और कारण जिनकी वजह से पपीता डायबिटीज में फायदेमंद ( Papaya for Diabetes in Hindi ) होता है :-

कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स

पका पपीता मीठा हो सकता है लेकिन यह मिठास हानिकारक नहीं होती। पपीते में फ्रुक्टोज होता है, जो एक प्रकार का प्राकृतिक ग्लूकोस होता है जो आपको तब तक नुकसान नहीं पहुंचा सकती जब तक आप इसका अधिक मात्रा में सेवन नहीं करते। साथ ही, इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जिसका मतलब है कि जब आप इसे खाते हैं, तो आपका ब्लड शुगर लेवल तेजी से नहीं बढ़ता ।

डायबिटीज में फायदेमंद पोषक तत्वों से भरपूर पपीता

पपीता पोषक तत्वों का भंडार है और इसमें शरीर के लिए आवश्यक फोलिक एसिड, विटामिन ए, बी और ई, मैग्नीशियम, कॉपर, पोटेशियम और बीटा-कैरोटीनमें जैसे पोषक तत्व पाए जाते है जिनकी कमी से डायबिटीज यानि मधुमेह का रोग होने की सम्भावना बनती है।

मधुमेह के कारण आप हृदय रोगों के शिकार बन सकते है ऐसे में पपीते का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। पपीते में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो आपकी धमनियों में प्लाक जमा नहीं होने देते। प्लाक आपकी खून की धमनियों को सख्त और संकीर्ण कर, खून के प्रवाह को बाधित कर सकता है जिससे दिल का दौरा पड़ सकता है। यह मधुमेह के कारण होने वाली तंत्रिका शांति की भरपाई करके, शरीर की कोशिका को विकसित होने में सहायता करता है।

मधुमेह का गलत प्रभाव किडनी पर भी पड़ता है। अध्ययनों ने साबित कर दिया है कि पपीता यूरिक एसिड के स्तर में सुधर लेकर आपकी किडनी के कार्य क्षमता में भी सुधार करता है।

इंसुलिन बूस्ट पपीता

पपीते में पाए जाने वाले विटामिन्स और मिनरल्स आपके शरीर में इन्सुलिन की मात्रा को बढ़ाकर, ब्लड शुगर की मात्रा को नियंत्रण में रखने में सहायक होते है। इतना ही नहीं यह पौष्टिक और स्वादिष्ट फल डायबिटीज की बीमारी को रोकने में भी सहायक होता है लेकिन सिर्फ इस एक फल के सेवन से ही आप मधुमेह की बीमारी को नहीं रोक सकते।

फाइबर से भरपूर पपीता

पपीता फाइबर का अच्छा स्रोत है। फाइबर ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ने नहीं देते क्योंकि आपका शरीर फाइबर को तोड़ नहीं सकता है। इतना ही नहीं पपीते में कई अन्य एंटीऑक्सीडेंट्स भी मौजूद होते है जो डाईबेटिस के रोगी के लिए फायदेमंद होते है।

पाचन क्रिया को मजबूत बनाने में सहायक

पपीते में मौजूद विटामिन्स, खनिज और अन्य पोषक तत्व कब्ज दूर करके शरीर की पाचन सम्बन्धी समस्याओ को दूर करने में सहायक होता है। पाचन क्रिया का कमजोर हो जाने से शरीर को मधुमेह के साथ-२ बहुत सी अन्य बीमारिया भी जकड़ लेती है।

पपीते का सेवन कैसे करना चाहिए?

  • पपीते के रस का सेवन कर सकते है।
  • आप इसे कच्चा खा सकते हैं।
  • इसे अपने साथ काम पर ले जाएं और उस पर नाश्ता करें।
  • संतरे, स्ट्रॉबेरी या एवोकाडो जैसे अन्य मधुमेह के अनुकूल फलों के साथ अपने भोजन के लिए फलों का सलाद बनाकर इसका सेवन किया जा सकता है।
Disclaimer

इस बात का रखें ध्यान

  • पपीता उन कुछ फलो में से है जिन्हे मधुमेह के रोगी बिना डर के सेवन कर सकते है ( शुगर में पपीता खाना चाहिए या नहीं, Papaya for Diabetes in Hindi ), लेकिन इसका अर्थ यह बिल्कुल नहीं है कि आप जितना चाहे उतना पपीता खा जाये। अधिकता तो हर चीज की बुरी होती है इसलिए इसका सेवन भी सिमित मात्रा में ही करना चाहिए।
  • ध्यान रखें कि पपीते कटने या छीलने के बाद जल्द से जल्द खा ले। कटे हुए पपीते को फ्रिज में स्टोर ना करें।

पपीता खाने से शुगर बढ़ती है क्या?

पपीता एक मीठा फल होने के बावजूद डायबिटीज में फायदेमंद होता है।

शुगर में पपीता खा सकते हैं क्या ?

जी हाँ, शुगर में पपीता खा सकते है क्योकि पपीते में ऐसे-२ गुण भरे हुए है जो डायबिटीज यानि मधुमेह के कारण होने वाली समस्याए जैसे ऑंखें कमजोर होने की समस्या, इम्युनिटी कमजोर होने की समस्या, हार्ट प्रॉब्लम आदि को दूर करने में फायदेमंद होते है।

Ayurveda And Natural Health Tips