शहद कब और कैसे नहीं खाना चाहिए ? || What makes honey toxic?

शहद कब और कैसे नहीं खाना चाहिए ?

शहद केवल औषधि की नहीं है परंतु दूध की तरह मधु और पौष्टिक एक संपूर्ण आहार भी है | भारत में प्राचीन काल से ही शहद को एक उत्तम आहार माना गया है | इसके सेवन से मनुष्य निरोगी बलवान और दीर्घायु बनता है | मगर क्या आप जानते हैं शहद को अधिक मात्रा में खाना अत्यंत हानिकारक होता है, और शहद को गर्म करके तो कभी भी उपयोग में नहीं लाना चाहिए |

क्या शहद को गर्म करना चाहिए?

आयुर्वेद में शहद को गर्म करने की सख्त मनाही है | गर्म पदार्थ के साथ शहद का विरोध है | गर्म तासीर वाले तथा गर्म पदार्थों के साथ या गर्म मौसम में दिया गया शहर विष के समान नुकसानदायक होता है | यहां तक की शहद खाने के बाद गर्म पानी भी नहीं पीना चाहिए | 

वैसे सुबह खाली पेट गर्म पानी और शहद का सेवन करने से वजन कम करने का तरीका आयुर्वेदा में बताया गया है लेकिन कोई भी आपको यह नहीं बताता की गरम पानी बहुत अधिक गर्म नहीं होना चाहिए यानि गुनगुना होना चाहिए | जिसे आप आसानी से फटाफट पी सके। यानि की गुनगुने पानी में शहद मिलाइये और उसे एक साँस में गटागट करके पी जाइये |

घी शहद खाने से क्या होता है?

साथ ही घी और शहद को समान मात्रा में एक साथ कभी भी नहीं खाना चाहिए | समान मात्रा में घी और शहद को एक साथ मिलना विष सामान घातक होता है | अगर शहद और घी को साथ-साथ लेने की जरूरत पड़ने पर विषम मात्रा में ही लीजिये मतलब कि असमान मात्रा में ही दोनों का सेवन किया जाना चाहिए | कफप्रधान रोगों में घी से शहद अधिक मात्रा में लेना चाहिए जबकि पित्त प्रधान और वात प्रधान रोगों में शहद से घी से अधिक मात्रा में लेना चाहिए |

चढ़ते हुए बुखार में सेवन न करे :-

चढ़ते हुए बुखार में दूध, घी और शहद का सामान विष के बराबर होता है |

विषाक्त पदार्थ को खा लेने पर शहद का सेवन न करे :-

जिसने भी विष यानी जहर अथवा विषाक्त पदार्थ को खा लिया हो उसे शहद खिलाने से विष का प्रकोप एकदम बढ़कर व्यक्ति की तत्काल मृत्यु हो जाती है |

ज्यादा शहद खाने से क्या होता है?  शहद कितना खाना चाहिए ?

साथ ही दोस्तों शहद अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए | बच्चों को 20 से 25 ग्राम की मात्रा में और बड़ों को 40 से 50 ग्राम की मात्रा से अधिक शहद एक साथ नहीं खाना चाहिए | साथ ही लंबे समय तक अधिक मात्रा में शहद का सेवन भी नहीं करना चाहिए | शहद का अजीर्ण मार डालने वाला अथवा अत्यंत हानिकारक होता है |

शहद ज्यादा खाने से होने वाले नुकसान को कैसे दूर करे ?

दोस्तों आपको यह भी बता दें कि शहर की विकृति यानी उसके क्यों कुप्रभाव को दूर करने के लिए कच्ची धनिया और अनार खाने चाहिए |

Our YouTube Channel is -> A & N Health Care in Hindi
https://www.youtube.com/channel/UCeLxNLa5_FnnMlpqZVIgnQA/videos

Join Our Facebook Group :- Ayurveda & Natural Health Care in Hindi —-
https://www.facebook.com/groups/1605667679726823/

Leave a Comment

A & N Health Care Tips