Cauliflower and Diabetes || क्या शुगर के मरीजों को फूलगोभी खानी चाहिए?

शुगर के मरीज और फूलगोभी || क्या शुगर के मरीजों को फूलगोभी खानी चाहिए ?


डायबिटीज के मरीज के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि वह अपने खान पान का ध्यान रखे और ऐसी कोई भी चीज न खाये जिसके सेवन से उसके ब्लड में शुगर का लेवल बढ़े | अगर डायबिटीज को सही समय पर कंट्रोल न किया जाये, तो इससे त्वचा और आंखों से जुड़ी आम समस्याओ से लेकर कैंसर और शरीर में सूजन जैसी गंभीर समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है |

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल और सही खानपान बहुत जरूरी है | हरी पत्तेदार सब्जियों के रोजाना सेवन से डायबिटीज यानि मधुमेह की बीमारी को कंट्रोल करने में मदद मिलती है |

#Diabetes || #मधुमेह को नियंत्रण में रखने के लिए क्या खाये क्या नहीं || Food for Diabetes

अक्सर आहार विशेषज्ञों (Dietitians) द्वारा यह सलाह दी जाती है कि स्वास्थ्य के लिए वे सब्जिया ज्यादा फायदेमंद हैं जो गहरे हरे, नारंगी और लाल रंग की होती हैं मतलब है कि रंगीन सब्जियां खाएं।

दोस्तों आप इस सलाह के चक्कर में पड़ कर शानदार, गुणों से भरपूर पौष्टिक सफेद फूलगोभी के साथ अन्याय कर रहे है | वैसे तो फूलगोभी की रंगीन किस्मे भी बजार में आसानी से मिल जाती है लकिन इन सबके बीच सफेद फूलगोभी की अपनी ही एक विशिष्ट जगह है | फूलगोभी बहुत से पोषक तत्वों का एक महत्वपूर्ण स्रोत है।

फैट को तेजी से पिघलाती है फूलगोभी, सर्दियों में इन 5 कारणों से करें इसका नियमित सेवन

दोस्तों, यहां पर हम शुगर के मरीजों को फूलगोभी खानी चाहिए या नहीं ? और अगर खानी चाहिए तो उसका क्या कारण है ? इन सवालों का जवाब देने की कोशिश कर रहे है।

शुगर के मरीज और फूलगोभी || Cauliflower and Diabetes

डायबिटीज से पीड़ित ज्यादातर लोग बिना स्टार्च वाली सब्जियां खाने के लिए कहा जाता है । अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन एक बार में आधी प्लेट सब्जियां खाने या प्रति दिन गैर-स्टार्च वाली ½ कप पकी हुई या 1 कप कच्ची सब्जियों को कम से कम 3-5 खाने की सलाह देता है।

गैर-स्टार्च वाली सब्जियों में पाए जाने वाले पोषण के कारण डायबिटीज से पीड़ित व्यक्तियों को उन्हें खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि वे विटामिन, खनिज, फाइबर और फाइटोकेमिकल्स से भरपूर होती हैं और इस काम के लिए सबसे ज्यादा योग्य सब्जी है फूलगोभी |

शुगर के मरीज और फूलगोभी Cauliflower and Diabetes

फूल गोभी में प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस, विटामिन ‘ए’, ‘सी’ तथा निकोटीनिक एसिड जैसे पोषक तत्व होते है। फाइबर की उच्च मात्रा के अलावा फूलगोभी में कैलोरीज बहुत कम होती हैं । 1 कप कच्ची सफेद फूलगोभी में केवल 25 ग्राम कैलोरी, 2 ग्राम आहार फाइबर और एक दिन के अंदर एक व्यक्ति को जितना विटामिन ‘सी’ चाहिए उसका 80% विटामिन ‘सी’ होता है |

फूलगोभी खाने से आपको कैंसर से लड़ने वाले यौगिकों के एक असाधारण स्रोत का लाभ मिलता है जिसमें सल्फर और नाइट्रोजन होते हैं। इनमें ग्लूकोसाइनोलेट्स शामिल हैं, जो आइसोथियोसाइनेट्स, इंडोल्स और सल्फोराफेन बनाते हैं। ये पदार्थ शरीर में सूजन को कम करने और कैंसर के सेल के विकास को रोकने में मदद करते हैं |

सावधानी

  1. अगर आपको फूलगोभी से एलर्जी या असहिष्णुता है तो फूलगोभी का सेवन न करें।
  2. अगर आपको यूरिक एसिड, किडनी में पथरी है तो फूलगोभी से परहेज करने की सलाह दी जा सकती है।
  3. अगर किसी को किडनी की बीमारी है तो उन लोगों के लिए फूलगोभी का सेवन करना जहर के समान है। क्योंकि फूलगोभी में बहुत अधिक मात्रा में पानी पाया जाता है किडनी की रोगी डॉक्टर के सलाह से ही फूलगोभी का उपयोग करे |
  4. फूलगोभी का अत्यधिक सेवन पेट में गैस, खाने में अरुचि, पथरी, पेट फूलना एवं किडनी की बीमारी आदि रोगों का कारण बन सकती हैं।
  5. अपने डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ से पूछें कि क्या आपको किसी भी कारण से फूलगोभी से बचना चाहिए।

Related Topics You May Interested:-

डायबिटीज का होता है इन अंगों पर असर, जानें कैसे करें इलाज और बचाव || 8 IMPORTANT COMPLICATIONS OF DIABETES

डायबिटीज रोगियों के लिए जरूरी 12 टिप्स

Sugar ke lakshan in Hindi || मधुमेह के लक्षण || डायबिटीज के 10 लक्षण || Diabetes ke lakshan

Diabetes || मधुमेह यानि डायबिटीज में लाभ पहुंचाने वाले करेले और जामुन के कुछ घरेलू नुस्खे

Visit our other health-related Website  Better Vikalp

 

Leave a Comment

A & N Health Care Tips