फालसा फल के फायदे और नुकसान ( falsa fal ke fayde aur nuksan )

मौसमी बीमारियों से बचने और सेहतमंद रहने का सबसे बढ़िया उपाय है मौसमी फलों का सेवन करना। गर्मियों मे आने वाले फालसा फल के फायदे और नुकसान जानकर आप भी अपने शरीर को बहुत सी बीमारीओं से बचा सकता है।

गर्मियों में प्राकृतिक रूप से शरीर को ठंडा रखने में फालसा फल (Falsa Fruit) आपकी बहुत सहायता कर सकता है। इस मौसम में पित्त के प्रकोप से बचाने में फालसा फल बेहद फायदेमंद होता है। इसके साथ ही यह एनीमिया, गठिया, मधुमेह, डायरिया जैसी बीमारीओं में भी लाभ पहुंचाता है। इतना ही नहीं यह दिल के लिए भी फायदेमंद होता है। तो चलिए जानते है फालसा के फायदों के बारे में।

फालसा फल | Falsa Fruit

Table of Contents

गर्मियों में फालसा फल की पैदावार होती है। इस छोटे आकार के कच्चे फल का रंग हरा होता है जो पकने के बाद बैंगनी, लाल और गहरे-बैंगनी रंग का हो जाता है। यह फल स्वाद में खट्टा-मिट्ठा होता है और शायद इसी कारण छोटे बच्चो से लेकर बड़े बुजुर्गो तक इसे बड़े चाव से खाना पसंद करते है। पके हुए फालसा फल पर थोड़ा सा काला नमक छिड़ककर आप इसके स्वाद को कई गुना तक बढ़ा सकते है।

फालसा फल के फायदे और नुकसान Falsa Fal Ke Fayde Nuksan

फालसा फल के अन्य भाषाओं में नाम

अन्य भाषाओ में फलसा फल क नाम इस प्रकार है :-

  • Scientific Name – Grewia asiatica
  • हिंदी – फालसा,
  • बंगाली – फाल्‍सा व शुंकरी,
  • गुजराती – शुक्री,
  • कन्नड – दगला व दादासाला,
  • मराठी – पाल्‍शी व फाल्‍सा,
  • तेलुगु – फुटिकी
  • तमिल – पलिकमाराम व अननु

फालसा फल की तासीर

गर्मियों में पैदा होने वाले फालसा फल की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसके सेवन से शरीर को ठंडक मिलती है। इसी कारण यह शरीर में पित्त के कारण होने वाली बीमारीओं से राहत प्रदान करता है।

फालसा फल में पाए जाने वाले पोषक तत्व

फालसा फल में पोटेशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह विटामिन-ए, विटामिन-सी, और विटामिन-बी1,बी2, बी3 जैसे कई पोषक तत्वों और कैल्शियम, फास्फोरस और फाइबर से भरपूर होता है। फालसा के बीजों में पामिटिक, स्टीयरिक, ओलिक और लिनोलिक एसिड होते हैं। इस फल के छिलके में सबसे अधिक एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते है, इसके बाद गूदा और फिर बीज में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं।

Nutrient values per 100 g fruit:

Calories (Kcal) 90.5
Calories from fat (Kcal)0.0
Moisture (%)76.3
Fat (g)<0.1
Protein (g)1.57
Carbohydrates (g)21.1
Dietary Fiber (g)5.53
Ash (g)1.1
Calcium (mg)136
Phosphorus (mg)24.2
Iron (mg)1.08
Potassium (mg)372
Sodium (mg)17.3
Vitamin A (µg)16.11
Vitamin B1,Thiamin (mg)0.02
Vitamin B2, Riboflavin (mg)0.264
Vitamin B3, Niacin (mg)0.825
Vitamin C, Ascorbic acid (mg)4.385

फालसा फल के सेवन का तरीका

फालसा के पके हुए फलो को धो कर, उनमे थोड़ा सा काला नमक छिड़ककर उनका सेवन किया जाता है। इसके अलावा इसके रस का शरबत बनाकर, मीठा सिरप बनाकर, जूस, फ्रूट सलाद, आइसक्रीम, जेम बनाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है।

फालसा फल के फायदे और नुकसान | Falsa Fal Ke Fayde Nuksan

फालसा फल स्वादिष्ट होने के साथ-साथ अपने औषधीय गुणों के कारण, अच्छी सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है। दरअसल फालसा फल में मौजूद पोषक तत्व और इसके गुण, शरीर की इम्युनिटी पावर को बढ़ाकर कई शारीरिक बीमारियों से शरीर की रक्षा करते है। इतना ही नहीं बहुत सी बीमारीओं में फालसा फल का सेवन करने से शरीर को फायदा होता है और रोग दूर करने में सहायता मिलती है।

लेकिन जैसा की आप जानते ही है की किसी भी चीज का अधिक मात्रा में सेवन करना नुकसानदायक हो सकता है , इसी तरह से फालसा फल की अधिक मात्रा, कई शारीरिक समस्याओं का कारण बन सकती है। इसी लिए अगर आप इसके लाभों का भरपूर लाभ उठाना चाहते है तो फालसा फल के फायदे और नुकसान, दोनों की जानकारी होना अत्यंत आवश्यक है। इसलिए आइए विस्तार में जाने फालसा फल के फायदे और नुकसान के बारे में।

फालसा फल के फायदे | Benefits of Falsa Fruit in Hindi

एनीमिया में फायदेमंद

फालसा फल आयरन से भरपूर होता है। आयरन की कमी होने पर शरीर में खून की कमी होने लगती है जो एनीमिया रोग का कारण बनती है। ऐसे में शरीर में आयरन की कमी को पूरा कर , खून की कमी को दूर करने में फालसा फल सहायक सिद्ध हो सकता है। रोजाना फलसा फल का सेवन करने से शरीर में खून की कमी नहीं होती और एनीमिया रोग से बचाव होता है।

हड्डियों के लिए फायदेमंद

शरीर की हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ बनाये रखने के लिए कैल्शियम की आवशयकता होती है और फालसा फल में कैल्शियम भरपूर मात्रा में मौजूद होता है। इसलिए रोजाना फालसा फल का सेवन करने से शरीर को कैल्शियम भरपूर मात्रा में मिलता है और हड्डिया स्वस्थ और मजबूत रहती है।

गठिया में फायदेमंद

गठिया होने के लक्षणों में दर्द और जोड़ों का सही से कार्य न करना शामिल है। और इसका प्रमुख कारण है सूजन यानि इंफ्लमैशन। फालसा फल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी मौजूद होते है, जो गठिया के रोगी को होने वाली जोड़ों के दर्द व सूजन को कम करने में मदद करते हैं। फालसा फल इस रोग में काफी फायदेमंद है और गठिया के प्रभावी इलाज में मददगार है।

गर्मियों में लू से बचाये फालसा फल

फालसा फल में भरपूर मात्रा में पौष्टिक तत्व पाए जाते है। शरीर में पौष्टिक तत्वों की कमी होने पर लू लगने की सम्भवना बढ़ जाती है। ऐसे में फालसा फल का सेवन, आपके शरीर में इनकी कमी नहीं होने देता और लू लगने की सम्भावना को खत्म कर देता है। साथ हो फालसा फल की तासीर ठंडी होती है इसी कारण यह पित्त के बढ़ने से होने वाले रोगो में काफी फायदेमंद माना जाता है। यह उल्टी, दस्त, मतली, बेचैनी होने पर राहत प्रदान करता है।

मधुमेह में फायदेमंद

फालसा फल एक ऐसा फल है जिसमे ऐसे एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते है जो रक्त में मौजूद ग्लूकोस के स्तर पर नियंत्रण रखकर मधुमेह के रोग में फायदा पहुंचाते है।

एनर्जी का अच्छा स्रोत्र

फालसा फल में प्रोटीन अच्छी मात्रा में पाया जाता है। प्रोटीन की अधिक मात्रा होने के करण यह शरीर को अधिक ऊर्जा प्राप्त करने में मदद करता है। इसलिए अगर आप कमजोरी महसूस करते है तो तो इन गर्मियों में फालसो का सेवन जरूर करे।

दिल के लिए फायदेमंद

कहा जाता है कि फालसा फल सूजन को दूर करने में मदद करता है। इसका यह गुण इसे स्वस्थ हृदय के लिए लाभकारी फल बनाता है। 50 मिलीलीटर फालसा के रस में एक चुटकी काली मिर्च और नमक मिलाकर पिएं। यह नुस्खा आपको सूजन में मदद कर सकता है, और आपके ह्रदय को भी यह फायदा पहुंचाता है।

पेट दर्द से राहत दिलाये फालसा फल

फालसा फल में मौजूद फाइबर पेट दर्द से राहत दिलाने में अहम भूमिका निभाता है। पेट दर्द, जी मिचलाना और पाचन तंत्र की अन्य समस्याओं से राहत पाने के लिए आप फालसा का जूस पी सकते हैं। पेट दर्द होने के खतरे से बचने के लिए रोजाना फालसा का जूस पिएं।

एसिडिटी में फायदेमंद

भोजन के सही से न पचने के कारण एसिडिटी, अपच जैसी समस्याएं शरीर को घेर लेती है। गर्मियों में आने वाला फालसा फल, पाचन क्रिया को मजबूत बनाकर, न पाचन सम्बन्धी समस्याओं के इलाज में मदद करता है।

फ्री रेडिकल्स को रोकने में सहायक

फ्री रेडिकल्स शरीर में कैंसर का कारण बन सकते है। ऐसे में फ्री रेडिकल्स से बचने के लिए आपको ऐसे फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए जिनमे पोषक तत्वों भरपूर मात्रा में मौजूद हों। जैसा की ऊपर हम बता ही चुके है की फालसा फल में पोषक तत्व बहुत अधिक मात्रा में बहुत अच्छे पोषक तत्व पाए जाते है इसलिए फालसा फल खाने के लिए सबसे अच्छे विकल्पों में से एक हो सकता है।

घाव भरने में सहायक फालसा के पत्ते

फालसा के पत्ते, घाव और एक्जिमा को ठीक करने में फायदेमंद होते हैं। इनसे उपचार के लिए पत्तियों को पीसकर त्वचा के प्रभावित हिस्से पर लगाएं, कुछ मिनट के लिए छोड़ दें ताकि वे काम कर सकें। इतना करने भर से ही आपको फायदा मिलेगा।

disclaimer

फासला फल के नुकसान | Falsa Fal Ke Nuksan

  • कई बार फालसा फल का सेवन करना एलेर्जी का कारण बन सकता है। ऐसे में फालसा फल के सेवन से बचना चाहिए।
  • पौष्टिक से पौष्टिक वस्तु का अधिक मात्रा में सेवन नुकसान दायक हो सकता है, इसलिए एक साथ अधिक मात्रा में फालसा फल का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अपने खान-पान के बारे में सजग रहना चाहिए। ऐसे में फालसा का सेवन करने से पहले, अप्न्मे चिकित्सक से सलाह अवश्य ले ले।
  • अगर कोई व्यक्ति किसी प्रकार की विशेष दवाओं का उपयोग केर रहा है, तो उसे फालसा फल का सेवन करने से पहले, अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए ।

फालसा फल के फायदे और नुकसान, दोनों को जानकर, आप भी फालसा फल खाने और उसके स्वास्थ्य लाभों का फायदा जरूर उठाना चाहेंगे।

फालसा फल खाने से क्या फायदे मिलते है?

फालसा फल में आवश्यक पोषक तत्वों और एंटीऑक्सिडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते है। यह न केवल शरीर को ठंडक प्रदान करता है बल्कि इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखने और जोड़ों के दर्द को दूर करने के लिए, मलेरिया, मधुमेह, उच्च रक्तचाप जैसी मौसमी और पुरानी बीमारीओं में भी असरकारक रूप से प्रभावी होता है।

क्या फालसा लीवर के लिए फायदेमंद है?

फालसा या ग्रोशिया एशियाटिक एक स्वादिष्ट फल है जिसकी तासीर ठंडी होती है और उसका शरीर पर शीतल प्रभाव पड़ता है। यह न सिर्फ हृदय की रक्षा करता है, रक्त को शुद्ध करता है,रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है बल्कि लीवर और पित्ताशय की थैली की समस्याओं के इलाज में मदद करता है।

क्या फालसा त्वचा के लिए अच्छा होता है?

ऊपर बताये गए स्वास्थ्य लाभों के अलावा, फालसा त्वचा के लिए भी अच्छा होता है। यह त्वचा में ताजगी भरने के साथ-२ मुँहासे या मच्छर के काटने जैसी त्वचा की समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स को खत्म करने में मदद करते हैं, जिससे त्वचा साफ दिखती है।

क्या फालसा एसिडिटी के लिए अच्छा है?

भोजन के सही से न पचने के कारण एसिडिटी, अपच जैसी समस्याएं शरीर को घेर लेती है। गर्मियों में आने वाला फालसा फल, पाचन क्रिया को मजबूत बनाकर, न पाचन सम्बन्धी समस्याओं के इलाज में मदद करता है।

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips