मधुमेह का काल है आम के पत्ते || शुगर का देसी इलाज [ 4 घरेलु उपचारो की जानकारी और विधि ]

मधुमेह जैसी खतरनाक बीमारी का इलाज आम के पत्तो से भी किया जा सकता है यानि मधुमेह की अचूक दवा है आम के पत्ते । मधुमेह यानि डायबिटीज इतनी खतरनाक बीमारी है जो शरीर के सभी अंगो पर असर डालती है। इसके असर से शरीर की हड्डिया तक खोखली हो जाती है।

इतनी खतरनाक बीमारी यानि मधुमेह का काल है आम के पत्ते। जी हां दोस्तों, शुगर का देसी इलाज आम जैसे मीठे फल के पत्तो में छिपा है। मधुमेह यानि डायबिटीज के इलाज की 4 विधियों के बारे में जानकारी आपको इस लेख में मिल जायगी।

मधुमेह का काल है आम के पत्ते

मधुमेह का काल है आम के पत्ते | मधुमेह यानि डायबिटीज को नियंत्रण में रखने में आम के पत्ते कैसे फायदेमंद हो सकते है और आम के पत्तो के उपयोग की विधि की जानकारी आपको इस लेख में दे रहे है।

मधुमेह का काल है आम के पत्ते

मधुमेह क्या है?

मधुमेह सिर्फ एक बीमारी नहीं है बल्कि यह बिमारिओ का बण्डल है। मधुमेह होने पर शरीर को बहुत सी बीमारिया जकड़ लेती है और व्यक्ति का शरीर धीरे-२ खोखला होता जाता है। यह इतनी गंभीर बीमारी है की इसे धीमी मौत यानि साइलेंट किलर – Silent Killer के नाम से भी जाना जाता है।

संसार भर में मधुमेह रोगियों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है, विशेष रूप से भारत में। मधुमेह यानि डाइबिटीज Diabetes होने पर खून में शर्करा यानि ग्लूकोस की मात्रा बढ़ जाती है और समस्या के बढ़ने पर पेशाब के साथ चीनी जैसा मीठा पदार्थ निकलने लगता है |

10 Foods that reduce High Blood Sugar / Glucose

इस बीमारी में इन्सुलिन रेजिस्टेंस के कारण रक्त में ग्लूकोज का स्तर सामान्य से अधिक बढ़ जाता है तथा शरीर की कोशिकाएं इस शर्करा को उपयोग नहीं कर पाती। यदि ग्लूकोज का बढ़ा हुआ लेवल खून में लगातार बना रहे तो शरीर के अंग प्रत्यंगों को नुकसान पहुँचाना शुरू कर देता है।

मधुमेह यानि डाइबिटीज होने का प्रमुख कारण होता है शरीर में इन्सुलिन प्रतिरोध पैदा होना। शरीर में इन्सुलिन प्रतिरोध उत्पन्न होने के प्रमुख कारण है :-

  • शरीर का अतिरिक्त वजन या मोटापे का बढ़ना
  • बहुत अधिक पेट की चर्बी,
  • शारीरिक गतिविधि या व्यायाम की कमी,
  • आनुवांशिकी कारण,
  • उम्र का बढ़ना,
  • धूम्रपान, और
  • यहां तक ​​कि नींद की कमी भी शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध विकसित करने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं |

मधुमेह यानि डाइबिटीज के मुख्य लक्षण : Symptoms of Diabetes

  • बहुत ज्यादा भूख और प्यास लगना
  • बार बार पेशाब जाना
  • घाव नहीं भरना
  • नज़रें धुंधली होना (Vision Problem)
  • मुँह सुखना और अत्यधिक प्यास लगना ( Dehydration)
  • त्वचा से जुड़ी तकलीफ़ें (Skin Complications)
  • पाचन क्रिया का बिगड़ना और पेट की समस्या (Stomach Problem)
  • एकाग्रता की कमी (Lack of Concentration)
  • थकान (Fatigue)
  • ज़ख़्मों का जल्दी न भरना (Slow Healing Of Sores And Cuts) :-
  • हृदय संबंधी समस्याएं ( cardiovasular Problems)
  • मीठी या फल की तरह की सांस की महक

डाइबिटीज यानि मधुमेह का काल है आम के पत्ते | शुगर का देसी इलाज

आम का वृक्ष एक ऐसा वृक्ष है जिसका फल ही नहीं इसकी छाल, आम के पत्ते, आम की गुठली और आम का रस भी औषधीय गुणों से भरपूर होता है। भले ही डायबिटीज यानि मधुमेह के मरीजों के लिए आम जैसा अत्यंत मीठा फल खाना सही नहीं होता, लेकिन उसके पत्ते उनके लिए बहुत लाभदायक होते हैं।

आम का पत्ता

आम के पत्‍ते में कई ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो डायबिटीज के मरीजों के लिए ही नहीं बल्कि कई अन्य बिमारियों में भी बहुत फायदा पहुंचाते है। आम के पत्‍तों में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण तो होते हैं, साथ ही विटामिन ‘A’, ‘B’ और ‘C’ भी भरपूर मात्रा में होते है। आम के पत्त्तों और गुठली का इस्तेमाल करके मधुमेह को नियंत्रित किया जा सकता है।

आम के पत्ते के फायदे

आम के पत्ते आपके स्वास्थ्य के लिए विशेष रूप से फायदेमंद होते हैं, क्योंकि वे विभिन्न खनिजों, विटामिन, एंजाइम और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते है। इसी कारण, वे सर्दी, अस्थमा, बुखार, अनिद्रा, दस्त, वैरिकाज़ नसों और ब्रोंकाइटिस सहित विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी समस्याओ का प्रभावी इलाज कर सकते हैं। इसके अलावा, आम के पत्ते रक्त वाहिकाओं को मजबूत करते हैं और ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक होते है। आम के पत्त्तों और गुठली का इस्तेमाल करके मधुमेह को नियंत्रित किया जा सकता है।

आम के पत्तों के औषधीय गुणों का लाभ उठाने के लिए उन्हें किसी भी रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। आप चाहें तो पत्तियों को सुखा कर, उनको पीसकर या कूटकर उनका पावडर बना लें या उसे उबाल कर काढ़े के रूप में पियें। इन पत्तों की चाय बनाकर भी इन्हे इस्तेमाल किया जा सकता है।

शुगर का देसी इलाज | Diabetes ka Ilaj

आइये दोस्तों जानते है मधुमेह के मरीजों के लिए आम के पत्तो और आम की गुठली के इस्तेमाल से बनने वाले चमत्कारी घरेलू नुस्खे, जो डायबिटीज यानि मधुमेह की बीमारी में राहत पाने का आसान उपाय है | आप चाहे तो यह भी कह सकते है की मधुमेह का काल है आम के पत्ते :-

  1. मधुमेह प्रारंभिक स्थिति में हो तो आम के कोमल पत्तों का रस अथवा प्रातः काल आम के पत्तो का काढ़ा बनाकर पिए, रोग आगे नहीं बढ़ेगा तथा गंभीर रूप धारण नहीं करेगा।
  2. आम के पत्तों को सुखाकर उनका चूर्ण बनाकर पानी के साथ दिन में 2 बार लेने से निश्चित रूप से लाभ होता है।
  3. आम की गुठली का चूर्ण बनाकर 3 ग्राम की मात्रा में तीन से चार बार पानी के साथ सेवन करने से मूत्र में शर्करा की मात्रा कम होती है तथा मधुमेह के रोगी की प्यास शांत होती है।
  4. आम व जामुन का रस समान मात्रा में मिलाकर, थोड़े समय तक पीने से मधुमेह में लाभ होता है।

डायबिटीज यानि मधुमेह पर नियंत्रण पाने के लिए आपको औषधियों के साथ-२ शारीरिक रूप से सक्रीय रहना भी अत्यंत आवश्यक है। नित्य रूप से व्यायाम करना, प्राणायाम व अन्य योग क्रियाओ का नियमित अभ्यास करना, सुबह शाम की सैर करना, डायबिटीज यानि मधुमेह रोग में शुगर के स्तर पर कंट्रोल रखने के लिए बहुत आवश्यक है।

Disclaimer

मधुमेह का काल है आम के पत्ते नाम से बनाया गया यह लेख आपको कैसा लगा हमें जरूर बताये। साथ ही दोस्तों यह भी जान लीजिये की किसी भी आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे को इस्तेमाल करने से पूर्व अपने चिकित्सक या वैद्य की सलाह अवश्य ले लेनी चाहिए क्योकि वही आपको आपके शरीर के हिसाब से आपको सही जानकारी दे सकता है की कौन सा घरेलु उपचार आपको माफिक आएगा।

For Ullu web question answer website, World’s best business plans, Osho Stories, Tarot cards Horoscopes Astrology Click on this Link Wealthhiwealth

People also Ask:-

आम के पत्ते कौन-२ से रोगो में फायदेमंद होते है ?

सर्दी, अस्थमा, बुखार, अनिद्रा, दस्त, वैरिकाज़ नसों और ब्रोंकाइटिस सहित विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी समस्याओ का प्रभावी इलाज कर सकते हैं आम के पत्ते । इसके अलावा, आम के पत्ते रक्त वाहिकाओं को मजबूत करते हैं और ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक होते है। इतना ही नहीं मधुमेह का काल है आम के पत्ते।

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips