Benefits and Side Effects of Cucumber in Hindi || Kheera ke Gharelu Nuskhe

Cucumber in Hindi || खीरा क्या है?

Table of Contents

खीरा ग्रीष्म ऋतु में आने वाला शीतल, सुपाच्य और तरावट भरा फल है। खीरा एक स्वादिष्ट और सलाद के रूप में खाया जाने वाला फल है।

आयुर्वेद के अनुसार खीरा (Cucumber) स्वादिष्ट व शीतल होता है। यह प्यास, क्लांति, दाह, पित्त तथा रक्तपित्त दूर करने वाला, रक्त विकार और मृतकृच्छु का नाश करने वाला फल है। मोटापा, गुर्दे से संबंधित बीमारियां, उदर विकार में खीरा फायदेमंद होता है।

पेट के रोगो जैसे उदर विकार, कब्ज और भूख न लगना में भी खीरा औषधि के रूप में फायदेमंद होता है । खीरे में भरपूर मात्रा में फाइबर मौजूद होता है। खीरे का रस पथरी में लाभदायक है। पेशाब में जलन, रुकावट और मधुमेह जैसे रोगो में भी लाभदायक होता है खीरा । घुटनों में दर्द को दूर करने के लिये खीरे का सेवन किस प्रकार करना चाहिए इसकी जानकारी आपको आगे मिल जायगी |

खीरे में पाए जाने वाले पोषक तत्व || Nutrient in Cucumber in Hindi

इसमें पोटेशियम, कैल्शियम, फास्फोरस, गंधक, आयरन, सिलिकॉन, क्लोरीन और फ़्लोरिन पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। इसके अलावा विटामिन ‘बी’ और विटामिन ‘सी’ भी काफी मात्रा में विद्यमान होते हैं। कच्‍चे खीरे में पानी, कैलोरी, प्रोटीन, फैट, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, मैग्‍नीशियम, मैग्‍नीशियम, पोटाशियम, सोडियम, विटामिन ‘सी’, फोलेट, बीटा कैरोटीन और विटामिन ‘के’ मौजूद रहता है।

खीरे के तासीर || Kheere ki Tasir in Hindi

ग्रीष्म ऋतु यानि गर्मियों के मौसम में इसे खाने से शरीर में ठंडक और ताजगी का संचार होता है। गुणों की दृष्टि से यह ककड़ी से मिलता-जुलता फल है। खीरे की तासीर ठंडी होती है। खीरा और ककड़ी एक ही प्रजाति के फल हैं। इसके सेवन से प्यास और पेट तथा जिगर की जलन मिटती है।

खीरा कब्ज दूर करता है। पीलिया, प्यास, शरीर की जलन, गर्मी में होने वाले विकारों तथा त्वचा रोग में खीरा लाभदायक है। छाती की जलन, अजीर्ण, पेट की गैस और एसिडिटी में नियमित रूप से खीरा खाने से फायदा होता है।

Cucumber in Hindi खीरा

खीरे का उपयोग के तरीके || Kheere ka Upyog

खीरे का रायता, खीरे की सब्जी, खीरे का सलाद या फिर ऐसे ही खीरा काटकर खूब खाया जाता है। खीरे का सेवन दोपहर तक ही करना चाहिए तथा एक साथ पर्याप्त से अधिक मात्रा में कीड़ा खाना हानिकारक हो सकता है। खीरे में जल पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसका सेवन करने के बाद 1 घंटे तक पानी नहीं पीना चाहिए।

खीरा खाने के फायदे || Health Benefits of Cucumber in Hindi

आइए जानते हैं खीरा किस तरह से फायदेमंद हो होता है:-

न्यूट्रिएंट्स से भरपूर है खीरा || Benefits of Cucumber in Hindi

खीरे में शरीर के लिए आवश्यक न्यूट्रिएंट्स और मिनरल्स काफी मात्रा में पाए जाते हैं। तक़रीबन एक कप या 140 ग्राम कच्‍चे खीरे में 130 ग्राम पानी, 16 कैलोरी, 0.8 ग्राम प्रोटीन, 0.2 ग्राम फैट, 3.0 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 1 ग्राम फाइबर, 19.8 ग्राम कैल्शियम, 0.3 ग्राम आयरन, 17 मि.ग्रा मैग्‍नीशियम, 29.7 ग्राम मैग्‍नीशियम, 192 मि.ग्रा पोटाशियम, 2.8 मि.ग्रा सोडियम, 4.5 मि.ग्रा विटामिन सी, 19.8 माइक्रोग्राम फोलेट, 44 माइक्रोग्राम बीटा कैरोटीन और 10.2 माइक्रोग्राम विटामिन ‘के’ मौजूद रहता है। खीरे में पाए जाने वाले पोषक तत्वों को पाने के लिए इसे छिलके समेत यान बगैर छीले खाना चाहिए क्योकि खीरे को छिलने से इसके छिलके में मौजूद फाइबर और कुछ विटामिन्स की मात्रा घट जाती है।

एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर खीरा || Cucumber Contains Antioxidants

एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को होने वाली कई बीमारियों से बचाव करने में सहायक होते हैं। फ्री रेडिकल्स के कारण ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस होता है जिससे दिल की बीमारियों और कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। खीरे में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, ऑक्सिडेशन को रोकने का काम करते हैं।

खीरे में फ्लेवोनॉयड्स के तत्व होते हैं जो शरीर को नुकसान पहुंचने वाले फ्री रेडिकल्स को ब्लॉक करते हैं।

हाइड्रेशन बेहतर करता है खीरा – Cucumber for Dehydration in Hindi

हमारे शरीर के लिए पानी का सही मात्रा में सेवन करना काफी जरूरी होती है। पानी से हमारे शरीर के तापमान को सही करने में मदद मिलती है। सही मात्रा में पिया गया पानी फिजिकल परफॉर्मेंस और मेटाबॉलिज्म को सही रखने में सहायक होता है। हमारे शरीर को जितनी पानी की जरूरत होती है उसका 40 प्रतिशत तक पानी खाने से हासिल होता हैं। खीरे में पानी की मात्रा तक़रीबन 96 प्रतिशत तक होती ह। ऐसे में खीरा शरीर को हाइड्रेट करने का एक अच्छा सोर्स होता है।

वजन कम करने में फायदेमंद खीरा – Cucumber for Weight Loss in Hindi

खीरा कई तरह से आपको वजन कम करने में मदद कर सकता है। एक तो खीरे में कैलोरी काफी कम मात्रा में पाई जाती है। अगर आप करीब 300 ग्राम खीरा खाते हैं तो उससे आपको सिर्फ 45 ग्राम कैलोरी ही मिलती है। ऐसे में आप अपनी भूख को शांत करने के लिए कई खीरे आराम से खा सकते हैं वो भी कैलोरी की चिंता किये बगैर।

खीरे में 96 प्रतिशत पानी मौजूद रहता है जो आपके वजन को कम करने में सहायक होता है और यह तो आप जानते ही होंगे की अधिक पानी और कम कैलोरी वाले खाद्य पदार्थो से वजन कम करने में बहुत मदद मिलती है।

Weight Loss: ओट्स या दलिया, दोनों में से क्‍या खाने से तेजी से घटता है वजन

ब्लड शुगर कंट्रोल करने में सहायक खीरा – Cucumber May Lower Blood Sugar

खीरा ब्लड शुगर लेवल को घटा कर डायबिटीज से जुड़ी परेशानियों को कम करने में मदद कर सकता है। एक स्टडी में कई अन्य प्लांट फूड को भी शामिल किया गया था। इस दौरान देखा गया कि खीरा ब्लड शुगर कंट्रोल करने में अन्य प्लांट फूड से बेहतर रहा।

#Diabetes || #मधुमेह को नियंत्रण में रखने के लिए क्या खाये क्या नहीं || Food for Diabetes

कब्ज दूर करने में फायदेमंद खीरा – Constipation can be Cured by Cucumber in Hindi

खीरे में पाया जाने वाला फाइबर और अधिक मात्रा में पाया जाने वाला पानी, हमारे शरीर में रेगुलर बाउल मूवमेंट में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं यह शरीर में मौजूद हानिकारक विषाक्त पदार्थो को भी शरीर से बाहर निकालने में सहायक होता है। कब्ज की एक वजह पानी का कम मात्रा मे सेवन करना भी होता है। ऐसे में खीरा शरीर में पानी की कमी को दूर करके कब्ज को दूर करने में फ़ायदेमदं होता है।

कब्ज दूर करने की आयुर्वेदिक औषधि || पुरानी से पुरानी कब्ज दूर करने की ताकतवर || घरेलु औषधि || Constipation

हड्डियों के लिए भी है अच्छा- Cucumber in Hindi for Bone health

खीरे में भरपूर मात्रा में ऐसे विटामिन्स और खनिज पाए जाते है जो हमारे शरीर की हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते है। जिनमे से एक है विटामिन ‘K’ । विटामिन ‘K’ शरीर में होने वाली ब्लड क्लॉटिंग में मदद करता है और हड्डियों के विकास के लिए भी अच्छा होता है। विटामिन ‘K’ शरीर को कैल्शियम अब्जॉर्प्शन में मदद करता है। खीरे में कैल्शियम, प्रोटीन, मैग्नीशियम और फोलिक एसिड भी पाए जाते है जो हड्डियों के लिए आवश्यक होते है।

सौंदर्यवर्धक खीरा – Beauty Expert Cucumber in Hindi

दूध की मदद से सौंदर्य निखारने के 12 बेहतरीन उपाय

सिर्फ भोजन के रूप में ही नहीं खीरा सौंदर्य को बनाये रखने और उसे बढ़ाने के लिए भी सदियों से इस्तेमाल किया जाता रहा है। खीरे की स्लाइस काटकर, उन्हें आंखों के ऊपर रखने से न सिर्फ आँखों को ठंडक और आराम मिलता है ब्लकि इससे आँखों के आसपास के काले घेरे दूर करने में भी सहायता मिलती है। आंखों में सूजन को दूर करना हो या घरेलू फेशियल मास्क बनाना हो, खीरे का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है। धूप के कारण स्किन पर सनबर्न हो गया हो तो ताजे कटे हुए खीरे के स्लाइस उसपर रखने से फायदा होता है ।

Cucumber in Hindi || खीरा खाने के फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

खीरे के घरेलू नुस्खे || Gharelu Nuskhe of Cucumber in Hindi

खीरे का विभिन्न रोगों में प्रयोग इस प्रकार है:-

चेहरे के रोग में खीरे के घरेलु नुस्खे || Cucumber in Hindi

मुहासे

  1. रात को चेहरे पर खीरे का रस लगाने से मुंहासे व दाग धब्बे दूर होते हैं।
  2. खीरे के रस में जैतून का तेल मिलाकर चेहरे पर मलने से भी मुहांसो में फायदा होता है।
  3. खीरे का रस व जों का आटा मिलाकर, पेस्ट बनाकर, चेहरे पर लगाने से दाग धब्बे व मुंहासे दूर हो जाते हैं।
  4. खीरे के टुकड़े को त्वचा व चेहरे पर मलने और थोड़ी देर बाद सादा पानी से चेहरा धोने से मुंहासे कम होते हैं।

झाइयां

खीरे के रस में जरा सा नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाने से काली झाइयां मिट जाती हैं।

सौंदर्य वर्धक

खीरे का रस गाजर का रस मिलाकर पीने से त्वचा सुंदर बनती है तथा दाग धब्बे दूर होते हैं।

त्वचा में निखार

  1. खीरे के रस में अंडे की जर्दी व नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं, थोड़ी देर बाद चेहरा धो ले, त्वचा में निखार आ जाएगा।
  2. खीरे के रस में नींबू व मलाई फेंटकर लगाने से रंग साफ हो जाता है।
  3. खीरे के रस में दूध, नींबू तथा शहद मिलाकर पूरे शरीर पर मलने से त्वचा में निखार आता है।

त्वचा की खुश्की

गुलाब जल में खीरे का रस मिलाकर हाथ, पैर व चेहरे पर लगाने से खुश्की दूर होती है।

तेलीय त्वचा (Oily Skin)

खीरे के रस में मुल्तानी मिट्टी पीसकर मिलाएं। कुछ देर बाद इस गाढ़े पेस्ट को चेहरे व गर्दन पर लगाएं। सूखने पर मुंह धो लें। इससे त्वचा की तैलीयता घट जाए।

पेट के रोग में खीरे के घरेलु नुस्खे || Cucumber in Hindi

उदर विकार

खीरे का रस दिन में दो-तीन बार पीने से उदर विकार दूर होते हैं।

कब्ज

प्रतिदिन भोजन से पूर्व एक खीरा नमक लगाकर खाने से कब्ज की परेशानी से छुटकारा मिलता है।

भूख न लगने पर खीरे के फायदे

भोजन के साथ नमक, काली मिर्च और नींबू डालकर, खीरे के रस का सेवन करने से भोजन आसानी से पचता है तथा भूख खुलकर लगती है।

आंखों के रोग में खीरे के घरेलु नुस्खे || Cucumber in Hindi

आंखों की जलन

खीरे का रस आंखों की पलकों पर, आँखों के नीचे लगाने से या खीरे की स्लाइस पलकों पर रखने से आंखों की जलन दूर होती है व आंखों के नीचे का कालापन दूर होता है।

अन्य रोग में खीरे के घरेलु नुस्खे || Cucumber in Hindi

घुटनों का दर्द

भोजन में एक कली लहसुन के साथ खीरा खाने से घुटनो का दर्द दूर होता है।

मूत्र विकार

शरीर में गर्मी की अधिकता के कारण या गर्म चीजों या दवाइयों के अधिक सेवन के कारण मूत्र त्याग करते समय होने वाली जलन को खीरा दूर करता है । मूत्र संबंधी सभी विकारों में खीरा फायदेमंद होता है।

पीलिया

खीरे का रस पीने से पीलिया में लाभ होता है। यह यकृत में पित्त की अधिकता होने पर पित्त का शमन करता है, जिससे रक्त में आया पीलिया दूर होता है और रक्त के लाल कणों में वृद्धि होती है।

मूत्रावरोध

  1. इसके बीजों को पीसकर, ठंडाई बनाकर, पीने से पेशाब खुलकर आता है।
  2. खीरे का नियमित सेवन करने से पेशाब खुलकर आता है।

गुर्दे का दर्द

खीरे का रस गर्म करके पिलाने से गुर्दे के दर्द में फौरन आराम मिलता है।

अमाशय की जलन

खीरे के रस का सेवन करने से अमाशय में हगोने वाली जलन में बहुत लाभ होता है।

मोटापा

प्रातः काल खीरे का सेवन करने से शरीर में ताजगी और हल्कापन आता है।

सिर दर्द

खीरा काटकर, सूंघने और उसका एक टुकड़ा मस्तक पर रगड़ने से पित्त विकार से उत्पन्न सिर दर्द दूर हो जाता है।

लू लगना

खीरे के स्लाइस बिछाकर, उस पर सिर रखने से लू का असर जाता रहता है।

पथरी

खीरे का रस एक-एक कप दिन में 3 बार पीने से गुर्दे की पथरी गल कर निकल जाती है। इसके रस में थोड़ा सेंधा नमक मिलाकर पीने से शीघ्र आराम मिलता है।

खीरे खाने के नुकसान- Side Effects of Eating Cucumber in Hindi

खीरा खाने के फायदे जानकर अतिउत्साह में अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करेंगे तो यह फायदे के बजाय नुकसान भी कर सकता है। साथ ही कुछ और स्थितियों भी हो सकती है जब खीरे खाने से नुकसान हो। आइये जानते है खीरा कब नुकसान कर सकता है :-

  1. आजकल अधिक उपज पाने के लालच में और फसल को कीटो से बचाने के लिए पौधों पर कीटनाशक दवाइयों का अधिक मात्रा में प्रयोग होने लगा है जिस की वजह से छिलके के साथ खीरा खाना कई बार नुकसानदायक भी हो सकता है। इसलिए या तो छिलके को उतारकर खीरा खाएं या फिर खाने से पहले खीरे को गर्म पानी से अच्छी तरह धो लें।
  2. खीरे की तासीर ठंडी होने की वजह से साइनोसाइटिस के रोग से जूझ रहे लोगों के लिए खीरा अच्छा नहीं समझा जाता। इसके सेवन से साइनोसाइटिस से पीड़ित व्यक्ति की तकलीफ़ बढ़ सकती है।
  3. प्रेगनेंट महिलाओं को अधिक मात्रा में खीरा खाने से इनडाइजेशन या अपच की समस्या हो सकती है। साथ ही खीरे में मौजूद पानी की अधिकता से प्रेगनेंट महिलाओं को बार-बार यूरिनेशन भी हो सकता है।
  4. अगर आप रग्वीड एलर्जी से पीड़ित है तो आपको खीरे से एलर्जी होती है जिससे सूजन और इचिंग की तकलीफ हो सकती है।
  5. कुछ खीरे कड़वे होते है और खीरा खाने से पहले इसके कड़वेपन दूर कर लेना चाहिए नहो तो आपके मुँह का स्वाद खराब हो जायगा।
  6. खीरे में पोटैशियम की अधिक मात्रा पाई जाती है जिससे कुछ लोगो को पेट में दर्द और किडनी की समस्या हो सकती है।

क्या रात में खीरा खाना चाहिए?

खीरे को भोजन के साथ सलाद के रूप में खाया जाता है लेकिन रात के वक्त रात के वक्त खीरे को खाने से बचना चाहिए क्योंकि खीरे में 95% पानी मौजूद होता है और यह मूत्र को बढ़ाने वाला होता है इसलिए अगर आप रात में ज्यादा खीरे खा लेते हैं तो आपका पेट काफी देर तक भरा रहेगा, भारीपन महसूस होगा और रात में बार-२ मूत्र आने की समस्या भी हो सकती है।

खीरे में कौन सी विटामिन पाई जाती है?

खीरे में विटामिन ए, बी1, बी6 सी,डी, K के साथ-२ पौटेशियम, फास्फोरस, आयरन जैसे खनिज भी प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं।

चेहरे पर खीरा लगाने से क्या होता है?

खीरे की स्लाइस काटकर, उन्हें आंखों के ऊपर रखने से न सिर्फ आँखों को ठंडक और आराम मिलता है ब्लकि इससे आँखों के आसपास के काले घेरे दूर करने में भी सहायता मिलती है। आंखों में सूजन को दूर करना हो या घरेलू फेशियल मास्क बनाना हो, खीरे का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है। धूप के कारण स्किन पर सनबर्न हो गया हो तो ताजे कटे हुए खीरे के स्लाइस उसपर रखने से फायदा होता है ।

कड़वा खीरा खाने से क्या होता है?

कुछ खीरे कड़वे होते है। उनमे मौजूद क्‍यूकरबिटासिन के कारण खीरा कड़वा हो जाता है। इस तत्‍व में टॉक्सिक यौगिक की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है। टॉक्सिक होने की वजह से कड़वा खीरा सेहत पर हल्‍के और गंभीर दुष्प्रभावों का कारण बन सकता है।

खीरे की तसीर कैसी होती है ?

ग्रीष्म ऋतु यानि गर्मियों के मौसम में इसे खाने से शरीर में ठंडक और ताजगी का संचार होता है। खीरे की तासीर ठंडी होती है। खीरा और ककड़ी एक ही प्रजाति के फल हैं। इसके सेवन से प्यास और पेट तथा जिगर की जलन मिटती है।

खीरा खाने से क्या फायदा होता है ?

खीरा कब्ज दूर करता है। पीलिया, प्यास, शरीर की जलन, गर्मी में होने वाले विकारों तथा त्वचा रोग में खीरा लाभदायक है। छाती की जलन, अजीर्ण, पेट की गैस और एसिडिटी में नियमित रूप से खीरा खाने से फायदा होता है।

क्या खीरा खाने के बाद पानी पीना चाहिए ?

खीरे में जल पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसका सेवन करने के बाद 1 घंटे तक पानी नहीं पीना चाहिए।

Cucumber

Leave a Comment

A & N Health Care Tips