अजवाइन के दाने छोटे और गुण बड़े

अजवाइन क्या होती है? What is Carom Seeds in Hindi ?

Table of Contents

अजवाइन (Carom Seeds in Hindi) हर भारतीय रसोई में इस्तेमाल होने वाला एक मसाला है जिसका बड़े बुजुर्गो द्वारा छोटे-मोटे रोगो को दूर करने के लिए घरेलु औषधि के रूप में वर्षो से प्रयोग में लाया जाता रहा है । यह मसाला के रूप में, चूर्ण के रूप में, काढ़ा के रूप में, क्वाथ के रूप में और अर्क के रूप में भी रोगो को दूर करने के लिए प्रयोग में लाया जाता रहा है। यह जीरा और सौंफ के परिवार का ही है। अजवाइन (Ajwain) का वैज्ञानिक नाम ट्रेकिस्पर्मम अम्मी (Trachyspermum ammi) है। यह कड़वी, तीखी और सुगन्धयुक्त होती है।

अजवाइन के विभिन्न नाम || Names of Carom Seeds

अजवाइन का प्रयोग सारे देश में होता है | भारत विभिन्न भाषाओ का देश है। ऐसे में अजवाइन को विभिन्न भाषाओ में विभिन्न नामो से जाना जाता है, जैसे कि तमिल में ओमम, तेलुगु में वामु, कन्नड़ में ओम कलुगलु, और मलयालम में अयोधमकम। भाषा में भेद के कारण यह यवानी, अजमोदीका, अजमो, ओवा जोवन आदि नामों से जानी जाती है।
पेट के रोगों और पाचन के लिए तो अजवाइन (Carom Seeds ) रामबाण मानी जाती है।

अजवाइन के पौष्टिक तत्व – Nutritional Value of Carom Seeds in Hindi

अजवाइन इतनी फायदेमंद उसमें मौजूद पौष्टिक तत्वों की वजह से ही होती है | 100 Gm अजवाइन में ऊर्जा 238 kcal , प्रोटीन 23.81 g , कार्बोहाइड्रेट 47. 62 g , फाइबर 47.6 g , कैल्शियम 667 mg , आयरन 16.19 mg, पोटैशियम 1333 मग, फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड 0.62 g.

अजवाइन के फायदे – Benefits of Carom Seeds in Hindi

अजवाइन एंटीऑक्‍सीडेंट और जलनरोधी तत्वों से भरपूर होता है | अजवाइन के छोटे-छोटे बीजों में ऐसे बहुत से गुणकारी तत्‍व मौजूद होते हैं जो हमारे शरीर से जुडी बहुत से समस्याओ को दूर करने में फायदेमंद होते है। लेकिन अजवाइन का सेवन करने से पहले अजवाइन खाने के फायदे और नुकसान के बारे में जान लेना चाहिए जिससे की आपको यह पता रहे की यह शरीर को किन-२ रोगो से दूर करने में फायदेमंद (Benefits of Carom Seeds in Hindi) हो सकती है। यह जानकारी हम नीचे विस्तारपूर्वक देने की कोशिश कर रहे हैं।

ajwain carom seeds in hindi

गैस और कब्ज में Benefits of Carom Seeds in Hindi

गैस और कब्ज की समस्या आजकल आम बनी हुई है। ऐसे में अजवाइन (Carom Seeds in Hindi) इस समस्या को दूर करने में काफी असरदार साबित हो सकती है। इतना ही नहीं, अगर किसी भी तरह का खाया गया खाना न पच रहा हो तो अजवाइन खाने से भोजन को पचाने में सहायता मिलती है। सही तरिके से पचा हुआ खाना कब्ज और गैस की समस्या को दूर रखता है, जिससे मल त्यागने में आसानी हो जाती है। ऐसे में कहा जा सकता है कि अजवाइन के फायदे गैस और कब्ज को दूर रखने में फायदेमंद होते है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

अस्थमा / दमा में Benefits of Carom Seeds in Hindi

श्वसन तंत्र की एक गंभीर समस्या है अस्थमा यानि दमा। जिससे राहत दिलाने में भी अजवाइन लाभकारी होती है। अजवाइन में अस्थमा को दूर करने वाले गुण पाए जाते जाते है और अजवाइन को गर्म करके, उसकी पोटली बनाकर, सूंघने से सकारात्मक प्रभाव श्वसन प्रणाली पर पड़ता है। इससे अस्थमा की समस्या से कुछ हद तक राहत मिल सकती है। फिलहाल, इस पर और अधिक जानकारी के लिए शोध की आवश्यकता है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

सर्दी, फ्लू और वायरल इन्फेक्शन में Benefits of Carom Seeds in Hindi

अजवाइन में लगभग 50% थाइमोल पाया जाता है, जो एक एंटीबैक्टीरिया के रूप में जाना जाता है। इसके अलावा, थाइमोल शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली यानि इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग बनाने में भी सहायक होता है, और जुकाम, फ्लू और अन्य वायरल इन्फेक्शन से शरीर को बचने में और उन्हें दूर रखने में सहायक होता है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

डायरिया में Benefits of Carom Seeds in Hindi

अजवाइन खाने के फायदे डायरिया जैसी बीमारी में भी काम आते है। अजवाइन में डायरिया या दस्त की स्तिथि में लाभ पहुंचने वाले गुण भी पाए जाते हैं, जो इस समस्या के इलाज में सहायक साबित हो सकते है । डायरिया में अजवाइन का किस तरह से प्रयोग करना है इसकी जानकारी आपको आगे इस लेख में मिल जायगी। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

गठिया, जोड़ों में दर्द में Benefits of Carom Seeds in Hindi

अर्थराइटिस (गठिया) और जोड़ों में दर्द में आराम दिलाने में अजवाइन फायदेमंद हो सकती है । अर्थराइटिस से जुड़ी समस्या से राहत दिलाने के लिए अजवाइन में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मदद कर सकते हैं। जोड़ो के दर्द में अजवाइन के प्रयोग का तरिके की जानकारी आगे दी गई है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

इन 3 घरेलु मसालों से घुटनो का दर्द, जोड़ों का दर्द और गठिया दूर भगाये

मसूड़ों की सूजन में Benefits of Carom Seeds in Hindi

अजवाइन में एंटी-इंफ्लामेन्ट्री गुण मौजूद होते है। जिस कारण मसूड़ों की सूजन को दूर करने के लिए आप अजवाइन का इस्तेमाल कर सकते है। मसूड़ों में सूजन की समस्या होने पर गुनगुने पानी में अजवाइन के तेल की कुछ बूंदे डालकर, इस पानी से कुल्‍ला करने से मसूड़ों की सूजन में आराम मिलता है। इसके अलावा अजवाइन को भुनने के बाद उसको पीसकर उसक पाउडर बना लें। इस पाउडर से ब्रश करने से मसूड़ों के दर्द और सूजन में फायदा मिलता है।

कोलेस्ट्रॉल में Benefits of Carom Seeds in Hindi

शरीर में बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल ह्रदय रोग का कारण बनता है। ऐसे में बढ़ते कोलेस्ट्रोल को कम करने के लिए अजवाइन फायदेमंद सिद्ध हो सकती है। दरअसल, अजवाइन के बीज में एंटीहाइपरलिपिडेमिक गुण पाया जाता है, जो शरीर में कोलेस्ट्रोल, एलडीएल-कोलेस्ट्रोल, ट्राइग्लिसराइड्स और टोटल लिपिड को कम करने में सहायता कर सकता है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

Cholesterol || कोलेस्ट्रॉल कम करना चाहते है तो यह चीजे रोजाना खाये || 18 Foods that Lower Cholesterol in Hindi

स्तनपान के लिए में Benefits of Carom Seeds in Hindi

प्रसव के बाद कुछ महिलाओं में ठीक तरह से दूध नहीं बनता, जिस कारण शिशु की भूख पूरी तरह से नहीं मिट पाती और उसे पर्याप्त पोषण नहीं मिल पाता है। ऐसे में स्तनपान करने वाली महिलाओं को उनके भोजन के साथ अजवाइन का सेवन करने की सलाह भी दी जाती है क्योकी इससे उनके शरीर में दूध बनने की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

वजन कम करे में Benefits of Carom Seeds in Hindi

अगर आप अपने वजन को ले केर चिंतित रहते है तो भुनी हुई अजवाइन खाने के फायदे आपके शरीर के वजन को कम करने के लिए काफी असरकारक हो सकते हैं। इसका कारण है की अजवाइन भूख को शांत रखने और मोटापे को कम करने के लिए काफी फायदेमंद होती है । इससे वजन कम हो सकता है । इसमें कुछ मात्रा में फाइबर भी पाई जाती है, जो चयापचय के कार्य को बेहतर करने में मदद कर सकता है ।

अर्जुन की छाल वजन कम करने की प्रभावशाली औषधि

इतना ही नहीं अजवाइन पाचन क्रिया को भी स्ट्रांग करता है जिससे भोजन को पचाने में आसानी हो सकती है। साथ ही फाइबर एक ऐसा तत्व है जो लंबे समय तक भूख को शांत रखने में मददगार साबित होता है, जिससे वजन पर नियंत्रण पाया जा सकता है। इसलिए, वजन घटाने के लिए अजवायन के फायदे काफी असरकारक साबित हो सकते है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

Ajwain in Hindi || रोज सुबह पी लें अजवाइन का पानी, तेजी से कम होगी पेट की चर्बी

पथरी किडनी स्टोन के लिए Benefits of Carom Seeds in Hindi

अजवाइन खाने के फायदे में से एक फायदा किडनी स्टोन से राहत का भी हो सकता है। अजवाइन में ड्यूरेटिक गुण पाया जाता है, जिसे किडनी स्टोन के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है । ड्यूरेटिक गुण के कारण पेशाब में कैल्शियम की मात्रा को कम किया जा सकता है और किडनी में स्टोन बनने के प्रक्रिया को रोका जा सकता है ।

जानिए किडनी स्टोन यानि गुर्दे की पथरी के लक्षण, कारण, 10 घरेलु उपाय और बचाव के कुछ तरीके

सूजन से आराम दिलाये Benefits of Carom Seeds in Hindi

शरीर में सूजन की समस्या किसी को भी हो सकती है, ऐसे में घरेलु इलाज के तौर पर अजवाइन का इस्तेमाल करने से इसके बढ़ने और समस्या को गंभीर होने से रोका जा सकता है। इस समस्या में आराम पाने के लिए अजवाइन का सेवन फायदेमंद हो सकता है या फिर इसका पेस्ट बनाकर सूजन वाली जगह पर लगाने से आराम मिल सकता है। दरअसल, अजवाइन में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो इंफ्लेमेशन की समस्या को दूर करने में सहायक हो सकते है।

पाचन के लिए Benefits of Carom Seeds in Hindi

अगर आप जानना चाहते है कि पाचन से जुडी समस्या में अजवाइन खाने से क्या होता है, तो आपके लिए यह जानना अत्यंत आवश्यक है की यह पेट से जुडी कई समस्याओं को दूर करने में काफी फायदेमंद होती है, जिनमें से एक पाचन भी है। कई बार हम कुछ ऐसा खा लेते है जिसे हमारा पेट सही तरीके से पचा नहीं पाता है, जो पेट की समस्या का कारण बनता है। ऐसे में अजवाइन का उपयोग पाचन तंत्र से जुडी समस्या को दूर करने में लाभकारी सिद्ध हो सकता है।

अजवाइन गैस्ट्रिक एसिड और डाइजेस्टिव एंजाइमों की गतिविधि को भी बढ़ावा देने का काम करता है। इससे किसी भी प्रकार का खाना ना पच रहा हो तो उसे पचाने में मदद मिल सकती है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

ब्लड प्रेशर में Benefits of Carom Seeds in Hindi

शरीर में ब्लड प्रेशर के बढ़ने पर हम कई घातक समस्याओं की चपेट में आ सकते है। ऐसे में ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखना जरूरी होता है, और इस काम के लिए अजवाइन का सेवन करना एक अच्छा उपाय साबित हो सकता है। इसमें थाइमोल प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने में सहायता कर सकता है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

क्या अर्जुन की छाल ब्लड प्रेशर [Low or High] में है फायदेमंद

त्वचा के लिए Benefits of Carom Seeds in Hindi

अजवाइन त्वचा (Skin) के लिए भी फायदेमंद हो सकता हैं। अजवाइन में कई विटामिन्स, सोडियम, मैग्नीशियम और थाइमोल जैसे जरुरी तत्व पाए जाते है, जो त्वचा के संक्रमण को दूर करने में सहायक हो सकते है। साथ ही इसमें एंटीवायरल, एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीफंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण भी पाए जाते है, जो त्वचा में होने वाले फंगस, बैक्टीरिया और सूजन जैसे समस्याओ में फायदेमंद हो सकते है। ऐसी स्तिथि में किस तरह से अजवाइन का प्रयोग किया जाये इसकी जानकारी के लिए लेख को पढ़ते रहे |

बालों के लिए Benefits of Carom Seeds in Hindi

बालों को पर्याप्त मात्रा में पोषण न मिलने पर बालों की समस्या उत्पन्न होने लगती है। ऐसे में बालो से जुडी समस्याएं दूर करने और उन्हें पर्याप्त पोषण देने के लिए अजवाइन के तेल का प्रयोग किया जा सकता है। अजवाइन के अधिकतर गुण तो उसके तेल में ही निहित होते है और यह तेल बालों को पर्याप्त पोषण प्रदान करके उन्हें झड़ने और टूटने की समस्या से बचाए रख सकता है।

इस लेख के अगले भाग में हम अजवाइन के उपयोग करने के विभिन्न तरीके बताएंगे।

अजवाइन के उपयोग || Uses of Carom Seeds in Hindi

पाचन के लिए

किसी भी प्रकार का खाना ना पच रहा हो तो थोड़ी सी अजवाइन का चूर्ण चबाकर खा ले। इससे खाना पच जाएगा।

जुकाम

अजवाइन को सूती कपड़े में बांधकर, हथेली पर खूब रगड़ कर सूंघने से जुकाम में लाभ होता है।

सिरदर्द, जुकाम

सिरदर्द, जुकाम, मस्तिष्क में कीड़ों के लिए अजवाइन का चूर्ण बनाकर, कपड़े में छानकर, नसवार की तरह सूंघना फायदेमंद रहता है। यह बारीक़ मसाला चूर्ण, काढ़ा और अर्क के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

पेट दर्द, मंदाग्नि, अपच, अफरा और अजीर्ण

इस का चूर्ण बनाकर, आठवां हिस्सा सेंधा नमक मिलाकर, 2 या 3 ग्राम की मात्रा में गुनगुने पानी के साथ लिया जाए तो पेट दर्द, मंदाग्नि, अपच, अफरा और अजीर्ण में लाभ होता है।

कब्ज

कब्ज से परेशान लोग आधा से एक चम्मच अजवाइन को खूब चबाकर गर्म पानी के साथ पिए।

पेट के कीड़े

पेट के कीड़ों से परेशान बच्चे और बड़े हो तो इसकी चूर्ण में गुड़ मिलाकर चने के बराबर बच्चों को और 2 से 3 ग्राम की मात्रा में बड़ों को दिन में दो से तीन बार गर्म पानी के साथ देने से फायदा होता है।

मसूड़ों पर सूजन, मुख से दुर्गंध

मसूड़ों पर सूजन हो, मुख से दुर्गंध आती हो तो इसको उबालकर, कुल्ला करने से फायदा होता है।

पेट में भारीपन, हवा भरना, भूख की कमी

पेट में भारीपन, हवा भरना, भूख की कमी, अशुद्ध वायु का बनना आदि परेशानियों के लिए अजवाइन काला नमक और सौंठ तीनो बराबर मात्रा में मिलाकर चूर्ण बना ले। भोजन के बाद आधा चम्मच, गर्म पानी के साथ लेने से फायदा होता है।

पथरी

कुछ दिनों तक रोजाना थोड़ी-सी अजवायन फाककर, ऊपर से ताजा जल पीने से किडनी की पथरी मूत्राशय से गल कर निकल जाती है |

आंतों के होने वाले कीड़ों के लिए

आंतों के होने वाले कीड़ों के लिए इसका सेवन काले नमक के साथ करना चाहिए।

दर्द

सरसों के तेल में अजवाइन डालकर तेल को खूब उबाले। जब तेल ठंडा हो जाये तो इस तेल को शीशी में भरकर रख लें। जोड़ों पर या दर्द वाली जगह पर मालिश करने से लाभ होता है।

चोट

शरीर की वह जगह जहां पर चोट लगी हो, उस जगह पर दर्द हो तो हल्दी के साथ इस को पीसकर पुल्टिस बनाकर बांधना फायदेमंद रहता है।

आधासीसी यानी अधकपारी का सिर का दर्द

आधासीसी यानी अधकपारी का सिर का दर्द हो तो एक चम्मच अजवाइन, आधा लीटर पानी में अच्छे से उबालकर, छानकर, ढक कर रख दें। दिन में दो-दो चम्मच तीन बार लेने से लाभ होता है।

ज्यादा पेशाब

ज्यादा पेशाब से परेशान लोग अजवाइन में तिल मिलाकर खाये। इससे इस परेशानी में आराम मिलेगा।

जुएं

सिर में होने वाली जुएं परेशान करें तो एक चम्मच पीसी फिटकरी, एक चम्मच अजवाइन, एक कप छाछ में मिलाकर बालों की जड़ों पर सोते समय लगाएं। सुबह उठ केर सर धो ले, फायदा होगा।

खटमल

खटमल परेशान करें तो पलंग के चारों तरफ इसकी पोटली बांधकर लगा ले, राहत मिलेगी।

एक ही औषधि के सैकड़ों प्रयोग है जिन्हे विद्वानों द्वारा सेकड़ो परीक्षण करके, आपके लिए उपयोगी तरीको को बनाया गया है। आवश्यकता के अनुसार मात्रा बदलकर कई अन्य उपचार भी संभव है। एक बात का खास ध्यान रखें कि यह सभी प्रयोग किसी वैद्य की सलाह लेकर ही करें।

नींबू के फायदे || nimbu ke fayde || lemon ke fayde in hindi || lemon in hindi

अदरक के फायदे || अदरक खाने के फायदे || अदरक के 9 फायदे

अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल

सोंठ के फायदे || दूध और सोंठ के फायदे || सोंठ वाले दूध के फायदे

लौंग खाने से क्या फायदा होता है? || लौंग खाने के 9 फायदे

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips