अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल

अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में फायदेमंद

रक्त में कोलेस्ट्रॉल या ट्राइग्लिसराइड का ज्यादा बढ़ना दिल के लिए घातक हो जाता है जो की नसों में ब्लॉकेज और दिल की बिमारिओ जैसे हार्ट अटैक का कारण बनता है। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल या ट्राइग्लिसराइड को कंट्रोल में रखने के लिए अर्जुन की छाल का सेवन फायदेमंद सिद्ध होता है।

अर्जुन की छाल क्या काम आती है?

इसके सेवन से रक्त में गुड कोलेस्ट्रोल (H.D.L.) बढ़ जाएगा और बैड कोलेस्ट्रॉल (L.D.L.) खत्म होता चला जाएगा | अर्जुन की छाल का सेवन करने से रक्त का बहाव सुचारु रुप से नसों में लगता है और रक्त पतला होकर हृदय को भली प्रकार से पहुंचता है | इतना ही नहीं ब्लकि इसका सेवन हृदय को शक्ति भी प्रदान करता है |

अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बहुत फायदेमंद होती है। इसका सेवन करने की विधि के बारे में बात करने से पहले आइये कुछ बातें कोलेस्ट्रॉल के बारे में हो जाये की क्या सच में कोलेस्ट्रॉल नुकसानदायक होता है ?

कोलेस्ट्रॉल क्या है? || व्हाट इस कोलेस्ट्रॉल?

कोलेस्ट्रॉल एक प्रकार की वसा है, जो लिवर यानि यकृत से उत्पन्न होता है। यह मोम जैसा एक पदार्थ होता है जो सभी पशुओं और मनुष्यों के रक्त शिराओं व कोशिकाओं समेत शरीर के हर भाग में पाया जाता है। कोलेस्ट्रॉल कोशिका झिल्ली का एक महत्वपूर्ण भाग है, साथ ही शरीर की हर कोशिका को जीवित रहने के लिए कोलेस्ट्रॉल का होना आवश्यक है |

शरीर में मौजूद 80 प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल का निर्माण लीवर के द्वारा किया जाता है और बाकी 20 प्रतिशत हमारे द्वारा ग्रहण किये गए भोजन के माध्यम से प्राप्त होता है |

कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हमारा शरीर इसका उपयोग:-

  • कोशिकाओं के निर्माण के लिए
  • एस्ट्रोजन, टेस्टोस्टेरोन और अधिवृक्क हार्मोन जैसे हारमोन के निर्माण के लिए
  • बाइल जूस या पित्त का निर्माण के लिए करता है जो वसा के पाचन में मदद करता है।
  • अपने चयापचय को कुशलतापूर्वक काम करने में मदद करता है।
  • आपके शरीर में विटामिन डी, के उत्पादन के लिए भी इसका उपयोग शरीर द्वारा किया जाता है |

शरीर में कोलेस्ट्रॉल दो तरह से मिलता है। रक्त में मौजूद 80 प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल का निर्माण लीवर के द्वारा किया जाता है और बाकी 20 प्रतिशत हमारे द्वारा ग्रहण किये गए भोजन जैसे अंडे, मांस, मछली और मक्खन, क्रीम, मलाईयुक्त दूध के माध्यम से प्राप्त होता है | फल, साग-सब्जी एवं गेहूं में कोलेस्ट्रॉल नहीं पाया जाता है।

Cholesterol || कोलेस्ट्रॉल कम करना चाहते है तो यह चीजे रोजाना खाये || 18 Foods that Lower Cholesterol in Hindi

अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल
अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल

कोलेस्ट्रॉल के प्रकार

कोलेस्ट्रॉल मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है:

कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल), या बैड कोलेस्ट्रॉल, और
उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल), या गुड कोलेस्ट्रॉल या एच डी एल कोलेस्ट्रॉल

जैसा की अपने अपने बड़े बुजुर्गो से सुना होगा की अधिकता हर चीज की बुरी होती है, इसी तरह अगर रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा हो जाये तो यह हृदय संबंधी रोगों का कारण बन जाता है। कोलेस्ट्रॉल की अधिकता के कारण ब्लड सर्कुलेशन में रुकावट आने के साथ कई समस्याएं जन्म ले लेती हैं।

ऐसे में दिल के मरीजों को रोज अर्जुन की छाल का इस्तेमाल किसी न किसी रूप में अवश्य करना चाहिए।
विशेषज्ञों की मानें तो अर्जुन की छाल में हाइपोलिपिडेमिक पाया जाता है, जो कोलेस्ट्रॉल को कम अथवा नियंत्रित करता है, फैट बर्न करता है और हाइपरटेंशन को भी नियंत्रित करता है।

अर्जुन की छाल :- शुगर और दिल की बीमारी के मरीजों के लिए वरदान

इससे दिल को रक्त पहुंचाने वाली धमनियां सुचारू काम करने लगती हैं। इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि कोलेस्ट्रॉल या ट्राइग्लिसराइड का ज्यादा बढ़ना दिल के लिए घातक हो जाता है। इससे कई बार हार्ट अटैक आने का भी खतरा रहता है। ऐसे मरीजों को रोज अर्जुन की छाल का इस्तेमाल किसी न किसी रूप में अवश्य करना चाहिए।

ह्रदय रोग के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय और क्या खाये, क्या नहीं

अर्जुन छाल के सेवन की विधि

लगभग 10 ग्राम अर्जुन की छाल और एक छोटी हरी इलायची को 250 ग्राम पानी में उबालें | जब पानी उबल-2 कर लगभग 100 ग्राम रह जाये तो उसमे दूध डालकर थोड़ा और उबालिये | फिर इसे छानकर किसी कप या ग्लास में निकाल ले |

इसे बगैर मीठे के ही पिया जाये तो बढ़िया है फिर भी अगर आप मीठा डालना ही चाहे तो स्वादानुसार चीनी या फिर मिश्री डाले तो अच्छा है।

अर्जुन की छाल की तासीर

जिनका ट्राइग्लिसराइड खून में बढ़ा हुआ है या सीरम कोलेस्ट्रॉल बढ़ा हुआ है या मान लीजिए एलडीएल (बैड कोलेस्ट्रॉल) बढ़ा हुआ है तो उन लोगो के लिए इस तरह से बनी हुई अर्जुन की छाल की चाय और अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल को कम करने और दिल की बिमारिओ में बहुत फायदेमंद होती है |

कोलेस्ट्रॉल या ट्राइग्लिसराइड का ज्यादा बढ़ना दिल के लिए घातक होता है। अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बहुत फायदेमंद होती है। इसका सेवन करने की विधि और कोलेस्ट्रॉल के बारे में दी गई जानकारी आपको कैसी लगी ? प्लीज कमेंट करके हमारे इस लेख पर अपने विचार हमसे जरूर शेयर कीजिये। धन्यवाद।

आयुर्वेद के 3 घरेलू उपचार करे हाई बी पी || मधुमेह || कोलेस्ट्रॉल || दिल की बीमारियां ( एनजाइना, हार्ट अटैक, कार्डियक अरेस्ट ) का नाश

रक्तधमनियों में जमी हुई कोलेस्ट्रॉल को दूर करके ह्रदय की कार्यक्षमता बढ़ाता है चुम्बकीय पानी

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips