आइये जानते है अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे | Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ke Fayde

अर्जुन की छाल की तरह ही दालचीनी भी अपने औषधीय गुणों के कारण हमारे शरीर को बहुत से रोगो में फायदा पहुँचती है। अर्जुन की छाल का काढ़ा या अर्जुन की छाल की चाय बनाते समय दालचीनी का इस्तेमाल करना सोने पे सुहागे वाली बात हो जाती है तो आइये जानते है अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे ( Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ke Fayde )।

अर्जुन की छाल और दालचीनी, दोनों ही औषधीय हमारे शरीर को अनेको रोगो से बचाव करने और उन्हें दूर करने काफी फायदेमंद होती है। इन दोनों को मिलाकर बनाई गई औषधि हाई B.P., कोलेस्ट्रॉल, TRIGLYCERIDE की परेशानी में फायदा पहुंचाने के साथ-2 मोटापा कम करती है , हार्ट की ARTERIES में मौजूद ब्लोकेज को दूर करने में फायदेमंद होती है।

अर्जुन की छाल और दालचीनी

अर्जुन की छाल आयुर्वेदा में एक जानी मानी औषधि है जो ह्रदय यानि दिल से जुडी बीमारीओं में बहुत ही फायदेमंद होती है। वहीँ दालचीनी खाने में स्वाद और सुगंध बढ़ाने के साथ-2 अनेको रोगो में फायदेमंद औषधि भी है। इन दोनों को मिलाकर जो मिश्रण बनता है वह बहुत ही फायदेमंद होता है लेकिन उसके बारे में जानने से पहले थोड़ी सी बात हो जाये अर्जुन की छाल और दालचीनी दोनों के बारे में।

दालचीनी

दालचीनी सुगन्धित मसाला होने के साथ-2 एक बहुत से रोगो में फायदेमंद औषधि भी है। जिस दालचीनी को व्यंजन बनाते समय मसाले के रूप में उपयोग में लाया जाता है, उसका पावडर बना कर उसे औषधि के रूप में काढ़े में या चाय बनाते समय उसमे डालकर इस्तेमाल करने से शरीर को बहुत से रोगो में फायदा पहुँचता है। दालचीनी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स गुण हमारे शरीर को कई बीमारियों जैसे आर्थराइटिस, डायबिटीज, B.P., Cholesterol और यहाँ तक की कैंसर से भी बचाने में फायदेमंद है ।

जानिए 16 रोगो में दालचीनी के फायदे || Dalchini ke Fayde

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे
दालचीनी

अर्जुन की छाल

अर्जुन की छाल क्या काम आती है?

हृदय रोगों के साथ-साथ हाई बीपी यानी उच्च रक्तचापमधुमेहहृदय शूल यानी एनजाइनारक्त में कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड की मात्रा को कम करने, तेज धड़कन को कंट्रोल करने के लिए और बहुत से अन्य रोगो में अर्जुन की छाल के चूर्ण का प्रयोग बहुत ही फायदेमंद सिद्ध हुआ है और इन रोगो में अर्जुन की छाल का उपयोग करने या सेवन करने के कई तरीके हो सकते है जिनमे सबसे आसान और फायदेमंद तरीका है अर्जुन की छाल का काढ़ा या अर्जुन की छाल की चाय बना कर उसका सेवन करना।

अर्जुन की छाल की तासीर

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे | Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ke Fayde

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा या चाय हाई B.P., कोलेस्ट्रॉल, TRIGLYCERIDE को ठीक करने के साथ-2 मोटापा कम करती है , हार्ट की ARTERIES में अगर कोई ब्लोकेज है तो वो ब्लोकेज को भी निकाल देती है।

अर्जुन की छाल और दालचीनी को मिलाकर बनाई गई यह औषधि ( Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ke Fayde ) :-

1. प्राकृतिक पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण यह हृदय को भरपूर पोषण प्रदान करती है।

2. यह शरीर में Bad कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करके शरीर में कोलेस्ट्रोल के संतुलन को बनाये रखती है।

3. रक्त को पतला करके हृदय की पम्पिंग क्षमता में सुधार लाती है।

4. प्राकृतिक फ़्लवोनोइद्स और एंटीओक्सीडैन्ट्स से भरपूर होती है।

5. यह औषधि ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करती है।

6. इसके सेवन से वजन कम करने में सहायता मिलती है।

7. अर्जुन की छाल का काढ़ा पाचन तंत्र सही बनाये रखने में सहायक होता है।

8. यह औषधि इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाने में फायदेमंद होती है।

अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय कैसे बनाये ?

अर्जुन की छाल और दालचीनी का भरपूर फायदा उठाने के लिए आधा चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर और एक चौथाई चम्मच दालचीनी का पाउडर, एक गिलास पानी में मिलाकर उबाल ले, इसमें थोड़ा सा दूध और स्वादानुसार मीठा मिलाकर और खूब उबालने के बाद अर्जुन की छाल की चाय तैयार है | यह चाय अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे से भरपूर है | इसे छानकर कप में डाल ले और उसका चाय की तरह सेवन करे ।

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा कैसे बनाएं ?

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदों का लाभ उठाने के लिए आप इनका सेवन काढ़े के रूप में भी कर सकते है। इसके लिए आपको चाहिए एक चम्मच अर्जुन की छाल का चूर्ण और आधा चम्मच दालचीनी का चूर्ण। इन दोनों को एक गिलास पानी में मिलाकर तब तक उबाले जब तक की वह पानी उबल-२ कर आधा न रह जाये।

इसे छान ले। यह काढ़ा तैयार है।

अर्जुन की छाल और दालचीनी को कैसे पिए?

आप चाहे तो पीने लायक गर्म रहने पर इसमें शहद मिलाकर चाय की तरह भी इसका सेवन कर सकते है। अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय या काढ़े का सेवन सिमित मात्रा में आप हर दिन कर सकते है।

डॉक्टर को बहुत से लोगो ने यह कहते हुए सुना होगा की आपका दिल कमजोर है। अगर आपका दिल कमजोर है तो अर्जुन छाल की चाय या बताई गई विधि से बना हुआ अर्जुन की छाल के काढ़े का सेवन आप हर दिन कीजिये। इसके सेवन से आपका दिल बहुत मजबूत हो जायेगा। आपका ESR ठीक होगा, ejection fraction भी ठीक हो जायेगा | बहुत गुणकारी और फायदेमंद दवा है अर्जुन की छाल ।

Disclaimer :-

अलग-२ शरीर की अलग-२ प्रकृति होती है, इसी कारण किसी भी रोग में इसका उपयोग किसी वैध की सलाह से ही करे अन्यथा अर्जुन की छाल फायदे की बजाए नुकसान भी पंहुचा सकती हैं । इस लेख में अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे बता रहे हैं, क्योंकी यह लेख लिखने का मूल उद्देश्य लोगो को भारतीय चिकित्सा पद्धति आर्युवेद के प्रति जागरूक करना है । किसी भी गंभीर रोग में किसी भी नुस्खे का सेवन करने से पूर्व चिकित्सक की सलाह अवश्य ले लें । उम्मीद करता हूं आप को यह लेख पसंद आया होगा ।

disclaimer

अर्जुन की छाल के फायदे और उसका सेवन करने के 4 तरीके || अर्जुन की छाल के नुकसान

सिर्फ फायदा चाहिए तो इतनी मात्रा में करें दालचीनी का सेवन, नहीं तो पड़ सकते हैं लेने के देने

ह्रदय रोग के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय और क्या खाये, क्या नहीं

Diabetes vs Daalchini || शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी || दालचीनी के 4 फायदे

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा कैसे बनाएं?

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदों का लाभ उठाने के लिए आप इनका सेवन काढ़े के रूप में भी कर सकते है। इसके लिए आपको चाहिए एक चम्मच अर्जुन की छाल का चूर्ण और आधा चम्मच दालचीनी का चूर्ण। इन दोनों को एक गिलास पानी में मिलाकर तब तक उबाले जब तक की वह पानी उबल-२ कर आधा न रह जाये। इसे छान ले। यह काढ़ा तैयार है।

अर्जुन की छाल और दालचीनी को कैसे पिए?

अर्जुन की छाल और दालचीनी का भरपूर फायदा उठाने के लिए आधा चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर और एक चौथाई चम्मच दालचीनी का पाउडर, एक गिलास पानी में मिलाकर उबाल ले, इसमें थोड़ा सा दूध और स्वादानुसार मीठा मिलाकर और खूब उबालने के बाद अर्जुन की छाल की चाय तैयार है | यह चाय अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे से भरपूर है | इसे छानकर कप में डाल ले और उसका चाय की तरह सेवन करे ।

अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय कैसे बनाये ?

अर्जुन की छाल और दालचीनी का भरपूर फायदा उठाने के लिए आधा चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर और एक चौथाई चम्मच दालचीनी का पाउडर, एक गिलास पानी में मिलाकर उबाल ले, इसमें थोड़ा सा दूध और स्वादानुसार मीठा मिलाकर और खूब उबालने के बाद अर्जुन की छाल की चाय तैयार है | यह चाय अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे से भरपूर है | इसे छानकर कप में डाल ले और उसका चाय की तरह सेवन करे ।

अर्जुन की छाल और दालचीनी के क्या फायदे हैं ?

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा या चाय हाई B.P., कोलेस्ट्रॉल, TRIGLYCERIDE को ठीक करने के साथ-2 मोटापा कम करती है , हार्ट की ARTERIES में अगर कोई ब्लोकेज है तो वो ब्लोकेज को भी निकाल देती है।

Leave a Comment

Ayurveda And Natural Health Tips