आइये जानते है अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे (Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ke Fayde) – अर्जुन की छाल की तरह ही दालचीनी भी अपने औषधीय गुणों के कारण हमारे शरीर को बहुत से रोगो में फायदा पहुँचाती है। और इसलिए ही अर्जुन की छाल और दालचीनी को मिलाकर तैयार किया गया मिश्रण स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता हैं। आइये जानते है क्या है इसके फायदे।

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे | Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ke Fayde

अर्जुन की छाल और दालचीनी, दोनों ही औषधीय हमारे शरीर को अनेको रोगो से बचाव करने और उन्हें दूर करने काफी फायदेमंद होती है। इन दोनों को मिलाकर बनाई गई औषधि हाई B.P., कोलेस्ट्रॉल, TRIGLYCERIDE की परेशानी में फायदा पहुंचाने के साथ-2 मोटापा कम करती है , हार्ट की ARTERIES में मौजूद ब्लोकेज को दूर करने में फायदेमंद होती है।

अर्जुन की छाल का काढ़ा या अर्जुन की छाल की चाय बनाते समय दालचीनी का इस्तेमाल करना सोने पे सुहागे वाली बात हो जाती है तो आइये जानते है अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे ( Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ke Fayde ), अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा पीने के फायदे (Arjun Ki Chaal Or Dalchini ka Kadha Pine ke Fayde ) और अर्जुन की छाल, दालचीनी और शहद को मिलाकर तैयार किया गया फेसमास्क के फायदे।।

Table of Contents

अर्जुन की छाल और दालचीनी

अर्जुन की छाल आयुर्वेदा में एक जानी मानी औषधि है जो ह्रदय यानि दिल से जुडी बीमारीओं में बहुत ही फायदेमंद होती है। वहीँ दालचीनी खाने में स्वाद और सुगंध बढ़ाने के साथ-2 अनेको रोगो में फायदेमंद औषधि भी है। इन दोनों को मिलाकर जो मिश्रण बनता है वह बहुत ही फायदेमंद होता है लेकिन उसके बारे में जानने से पहले थोड़ी सी बात हो जाये अर्जुन की छाल और दालचीनी दोनों के बारे में।

दालचीनी

दालचीनी सुगन्धित मसाला होने के साथ-2 एक बहुत से रोगो में फायदेमंद औषधि भी है। जिस दालचीनी को व्यंजन बनाते समय मसाले के रूप में उपयोग में लाया जाता है, उसका पावडर बना कर उसे औषधि के रूप में काढ़े में या चाय बनाते समय उसमे डालकर इस्तेमाल करने से शरीर को बहुत से रोगो में फायदा पहुँचता है। दालचीनी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स गुण हमारे शरीर को कई बीमारियों जैसे आर्थराइटिस, डायबिटीज, B.P., Cholesterol और यहाँ तक की कैंसर से भी बचाने में फायदेमंद है ।

जानिए 16 रोगो में दालचीनी के फायदे || Dalchini ke Fayde

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे
दालचीनी

अर्जुन की छाल

अर्जुन की छाल क्या काम आती है?

हृदय रोगों के साथ-साथ हाई बीपी यानी उच्च रक्तचापमधुमेहहृदय शूल यानी एनजाइनारक्त में कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड की मात्रा को कम करने, तेज धड़कन को कंट्रोल करने के लिए और बहुत से अन्य रोगो में अर्जुन की छाल के चूर्ण का प्रयोग बहुत ही फायदेमंद सिद्ध हुआ है और इन रोगो में अर्जुन की छाल का उपयोग करने या सेवन करने के कई तरीके हो सकते है जिनमे सबसे आसान और फायदेमंद तरीका है अर्जुन की छाल का काढ़ा या अर्जुन की छाल की चाय बना कर उसका सेवन करना।

अर्जुन की छाल की तासीर

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे बताइए | Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ke Fayde Btaiye

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा या चाय हाई B.P., कोलेस्ट्रॉल, TRIGLYCERIDE को ठीक करने के साथ-2 मोटापा कम करती है , हार्ट की ARTERIES में अगर कोई ब्लोकेज है तो वो ब्लोकेज को भी निकाल देती है।

अर्जुन की छाल और दालचीनी के बारे में जानकारी Patanjali के बाबा रामदेव जी ने भी लोगो को दी है। अर्जुन की छाल और दालचीनी को मिलाकर बनाई गई यह औषधि ( अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा ) :-

  1. हृदय रोगों में फायदेमंद – प्राकृतिक पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण यह हृदय को भरपूर पोषण प्रदान करती है।
  2. खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक – यह शरीर में Bad कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करके शरीर में कोलेस्ट्रोल के संतुलन को बनाये रखती है।
  3. ब्लड सर्कुलेशन में करे सुधार – रक्त को पतला करके हृदय की पम्पिंग क्षमता में सुधार लाती है।
  4. एंटी-कैंसर गुणों से भरपूर – दालचीनी और अर्जुन की छाल का यह मिश्रण एंटी-कैंसर गुणों से भरपूर होते हैं और कैंसर रोगियों को बहुत फायदे पहुंचा सकता है।
  5. एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर – प्राकृतिक फ़्लवोनोइद्स और एंटीओक्सीडैन्ट्स से भरपूर होती है।
  6. डायबिटीज के रोगिओं के लिए फायदेमंद – यह औषधि ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करती है।
  7. वजन कम करने में सहायक – इसके सेवन से वजन कम करने में सहायता मिलती है।
  8. पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद – अर्जुन की छाल का काढ़ा पाचन तंत्र सही बनाये रखने में सहायक होता है।
  9. इम्यूनिटी पावर बढ़ाने में सहायक – यह औषधि इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाने में फायदेमंद होती है।
  10. स्किन की झुर्रियों को कम करने में सहायक – अर्जुन की छाल, दालचीनी और शहद को मिलाकर तैयार किया गया फेसमास्क आपके चेहरे की झुर्रियां कम करने में बेहद फायदेमंद होता है।

दालचीनी और अर्जुन की छाल का उपयोग कैसे करे | How To Use Arjun Ki Chhal Powder And Cinnamon

अर्जुन की छाल और दालचीनी का उपयोग (Arjun ki Chhal or Daalchini ka Upyog) करने या सेवन करने के कई तरीके हो सकते है जिनमे सबसे आसान और फायदेमंद तरीका है अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा या अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय। इसके अलावा इन दोनों में शहद मिलाकर फेसमास्क भी तैयार किया जाता है जो त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होता है। आइये जानते है इनका उपयोग करने और तैयार करने की विधि।

अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय कैसे बनाये ? | Arjun ki Chaal or Dalchini ki Chai kaise bnaye

अर्जुन की छाल और दालचीनी का भरपूर फायदा उठाने के लिए आधा चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर और एक चौथाई चम्मच दालचीनी का पाउडर, एक गिलास पानी में मिलाकर उबाल ले, इसमें थोड़ा सा दूध और स्वादानुसार मीठा मिलाकर और खूब उबालने के बाद अर्जुन की छाल की चाय तैयार है | यह चाय अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे से भरपूर है | इसे छानकर कप में डाल ले और उसका चाय की तरह सेवन करे ।

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा कैसे बनाएं

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा कैसे बनाएं ? | Arjun Ki chhal Aur Daalchini Ka Kadha

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदों का लाभ उठाने के लिए आप इनका सेवन काढ़े के रूप में भी कर सकते है। इसके लिए आपको चाहिए एक चम्मच अर्जुन की छाल का चूर्ण और आधा चम्मच दालचीनी का चूर्ण। इन दोनों को एक गिलास पानी में मिलाकर तब तक उबाले जब तक की वह पानी उबल-२ कर आधा न रह जाये।

इसे छान ले। अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा तैयार है।

अर्जुन की छाल और दालचीनी को कैसे पिए?

आप चाहे तो पीने लायक गर्म रहने पर इसमें शहद मिलाकर चाय की तरह भी इसका सेवन कर सकते है। अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय या काढ़े का सेवन सिमित मात्रा में आप हर दिन कर सकते है।

अर्जुन की छाल, दालचीनी और शहद का फेसमास्क

अर्जुन की छाल, दालचीनी और शहद से फेसमास्क तैयार करने के लिए :-

  • 1 चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर, आधा चम्मच दालचीनी पाउडर और 1 चम्मच शहद ले।
  • इन तीनो को अच्छे मिक्स करके अपने चेहरे पर लगाएं।
  • चेहरे पर मास्क लगाने के करीब 20-30 मिनट बाद अपने फेस को धो लें।
  • इससे स्किन की झुर्रियां कम हो सकती हैं।

डॉक्टर को बहुत से लोगो ने यह कहते हुए सुना होगा की आपका दिल कमजोर है। अगर आपका दिल कमजोर है तो अर्जुन छाल की चाय या बताई गई विधि से बना हुआ अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा पीने के फायदे इसका सेवन करके आप हर दिन लीजिये। इसके सेवन से आपका दिल बहुत मजबूत हो जायेगा। आपका ESR ठीक होगा, ejection fraction भी ठीक हो जायेगा | बहुत गुणकारी और फायदेमंद दवा है अर्जुन की छाल ।

disclaimer

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा कैसे बनाएं?

अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदों का लाभ उठाने के लिए आप इनका सेवन काढ़े के रूप में भी कर सकते है। इसके लिए आपको चाहिए एक चम्मच अर्जुन की छाल का चूर्ण और आधा चम्मच दालचीनी का चूर्ण। इन दोनों को एक गिलास पानी में मिलाकर तब तक उबाले जब तक की वह पानी उबल-२ कर आधा न रह जाये। इसे छान ले। यह काढ़ा तैयार है।

अर्जुन की छाल और दालचीनी को कैसे पिए?

अर्जुन की छाल और दालचीनी का भरपूर फायदा उठाने के लिए आधा चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर और एक चौथाई चम्मच दालचीनी का पाउडर, एक गिलास पानी में मिलाकर उबाल ले, इसमें थोड़ा सा दूध और स्वादानुसार मीठा मिलाकर और खूब उबालने के बाद अर्जुन की छाल की चाय तैयार है | यह चाय अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे से भरपूर है | इसे छानकर कप में डाल ले और उसका चाय की तरह सेवन करे ।

अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय कैसे बनाये ?

अर्जुन की छाल और दालचीनी का भरपूर फायदा उठाने के लिए आधा चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर और एक चौथाई चम्मच दालचीनी का पाउडर, एक गिलास पानी में मिलाकर उबाल ले, इसमें थोड़ा सा दूध और स्वादानुसार मीठा मिलाकर और खूब उबालने के बाद अर्जुन की छाल की चाय तैयार है | यह चाय अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे से भरपूर है | इसे छानकर कप में डाल ले और उसका चाय की तरह सेवन करे ।

अर्जुन की छाल और दालचीनी के क्या फायदे हैं ?

अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा या चाय हाई B.P., कोलेस्ट्रॉल, TRIGLYCERIDE को ठीक करने के साथ-2 मोटापा कम करती है , हार्ट की ARTERIES में अगर कोई ब्लोकेज है तो वो ब्लोकेज को भी निकाल देती है।

Specially For You:-

त्रिफला चूर्ण की तासीर कैसी होती है
त्रिफला चूर्ण की तासीर कैसी होती है
त्रिफला चूर्ण की तासीर कैसी होती है (Triphala ki taseer kaisi hoti hai) - आयुर्वेदा की सबसे प्रसिद्ध औषधि है ...
Read More
साफी सिरप के फायदे और नुकसान
साफी सिरप के फायदे और नुकसान
साफी सिरप के फायदे और नुकसान (Safi Syrup Ke Fayde Or Nuksan) - साफी सिरप का उपयोग हमारे रक्त की अशुद्धियों ...
Read More
शुगर में अजवाइन के फायदे बताइये
शुगर में अजवाइन
डायबिटीज यानि शुगर में अजवाइन के फायदे बताइये (Sugar me ajwain ke fayde) - डायबिटीज यानि शुगर के मरीज की ...
Read More
बवासीर में अदरक खाना चाहिए या नहीं
बवासीर में अदरक खाना चाहिए या नहीं
बवासीर में अदरक खाना चाहिए या नहीं (Bwasir Me Adrak Khana Chahiye Ya Nahi) - बवासीर से पीड़ित व्यक्ति को ...
Read More
हाई ब्लड प्रेशर में तुलसी के फायदे
ब्लड प्रेशर में तुलसी के फायदे
ब्लड प्रेशर में तुलसी (Blood Pressure Me Tulsi) - हाई ब्लड प्रेशर या हिपरटेंशन एक ऐसी समस्या है जिसका सीधा ...
Read More
शुगर में तुलसी के फायदे
शुगर में तुलसी के फायदे
शुगर में तुलसी के फायदे ( Sugar me Tulsi Ke Fayde ) - हिन्दू धर्म ग्रंथो में तुलसी के पौधे ...
Read More

अर्जुन की छाल के फायदे और उसका सेवन करने के 4 तरीके || अर्जुन की छाल के नुकसान

सिर्फ फायदा चाहिए तो इतनी मात्रा में करें दालचीनी का सेवन, नहीं तो पड़ सकते हैं लेने के देने

ह्रदय रोग के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय और क्या खाये, क्या नहीं

Diabetes vs Daalchini || शुगर में दालचीनी के फायदे इन हिंदी || दालचीनी के 4 फायदे

Disclaimer :-

अलग-२ शरीर की अलग-२ प्रकृति होती है, इसी कारण किसी भी रोग में इसका उपयोग किसी वैध की सलाह से ही करे अन्यथा अर्जुन की छाल फायदे की बजाए नुकसान भी पंहुचा सकती हैं । इस लेख में अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे बता रहे हैं, क्योंकी यह लेख लिखने का मूल उद्देश्य लोगो को भारतीय चिकित्सा पद्धति आर्युवेद के प्रति जागरूक करना है । किसी भी गंभीर रोग में किसी भी नुस्खे का सेवन करने से पूर्व चिकित्सक की सलाह अवश्य ले लें । उम्मीद करता हूं आप को यह लेख पसंद आया होगा ।

DMCA.com Protection Status