My Blogs

क्या किडनी रोगी प्याज खा सकते है?

70 / 100

क्या किडनी रोगी प्याज खा सकते है? Is onion good for Kidney Patients?

अगर आपको गुर्दे की बीमारी है, साथ ही आप डायबिटीज के मरीज भी है, तो आप के लिए यह जानना अत्यंत आवश्यक है की प्याज को अपनी डाइट में शामिल करना क्यों इतना जरूरी है |

मधुमेह रोग से पीड़ित लोगो की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं | मधुमेह रोग का सीधा असर हमारी किडनी पर पड़ता है |

इससे गुर्दा (किडनी) खराब होने का भी खतरा रहता है और इसी कारण गुर्दा रोगियों की संख्या भी बढ़ती जा रही है |

किडनी का रोगी कंफ्यूज रहता है कि वह अपने आहार में किन चीजों को खा सकता है और किन चीजों से उसे बच कर रहना है |

क्योंकि किसी भी बीमारी के दौरान खाया गया खाना, उस बीमारी के बिगड़ने या उसमे सुधार होने के दिशा को तय करता है |

इसलिए अपने आहार में हमें ऐसे खाद्य पदार्थो को शामिल करना चाहिए जो उस बीमारी को ठीक करने में सहायक हो |

प्याज ( Onion)

आज हम एक ऐसी चीज के बारे में बात करने जा रहे है जो डायबिटीज के साथ-२ किडनी के रोगो को दूर करने में बहुत ही असरकारक है |

प्याज एक विश्व स्तरीय सुपरफ़ूड है जिसे उतनी ख्याति प्राप्त नहीं हुई जिसके वो काबिल है |

प्याज अनार, रेड वाइन और ग्रीन टी जैसे हाई-प्रोफाइल खाद्य पदार्थों की तुलना में, विभिन्न प्रकार के कैंसर, कोरोनरी हृदय रोग, टाइप 2 डायबिटीज, मोतियाबिंद, गुर्दे की बीमारी सहित कई खतरनाक बीमारियों की रोकथाम और उपचार दोनों के लिए फायदेमंद होता है ।

इसके अलावा, प्याज एक शक्तिशाली एंटीबायोटिक के रूप में कार्य करता हैं और खाद्य पदार्थो के कारण होने वाली बीमारियों, Microbial Contamination और सूजन को कम करने में सहायक होता हैं।

प्याज में असाधारण रूप से शक्तिशाली यौगिक (compounds) होते हैं जो हमारे शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।

Is onion good for Kidney Patients?

Is onion good for Kidney Patients ?

इन प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले यौगिकों पर प्रकाशित सैकड़ों वैज्ञानिक अध्ययन बताते हैं कि वे तंत्रिकाओं (nerves) और हृदय प्रणाली के लिए अत्यधिक सुरक्षात्मक हैं, और यह कि वे Immunity Power को बढ़ाते हैं, कई प्रकार के ट्यूमर के विकास को रोकते हैं, स्वस्थ हार्मोन को बढ़ावा देने में मदद करते हैं ।

अजमेर के एक फिजीशियन डॉ. तरुण सक्सेना का एक article अमेरिकी पत्रिका आर्चिव्स ऑफ क्लिनिकल नेफ्रोलोजी में प्रकाशित हुआ |

जिसमे मधुमेह से किडनी खराब होने के कई कारणों में सें Basement Membrane का मोटा होना एवं सामान्य रूप से काम नहीं करने को प्रमुख कारण बताया है.

शोध में यह पाया गया कि किडनी के अन्दर जाने वाली सूक्ष्म धमनियों में एडवांस्ड ग्लाइकोसिलेटेड एंड प्रोडक्ट्स (AGP) जमा हो जाता है | इस कारण इन धमनियों में रक्त प्रवाह कम होने से किडनिया खून को सही से फ़िल्टर नहीं कर पाती ( GFR  में कमी आती है) |

खून के सही से फ़िल्टर न होने पर शरीर में सूजन, यूरीया क्रिएटनिन का बढ़ना एवं पेशाब में प्रोटीन जाना जैसी परेशानिया शुरू हो जाती है |

किडनी में रक्तसंचार कम होने से वह सिकुड़ने लगता है, खून बनना कम होता है और मरीज का रोग खतरनाक ढंग बढ़ने लगता है |

इस शोध के अनुसार अनेक मरीजों पर प्रयोग से यह पाया गया कि प्याज, लहसुन एवं जिनसेंग में यह विशेषता है कि ये एडवांस्ड ग्लाइकोसिलेटेड एंड प्रोडक्ट्स (AGP) से रिएक्शन क्रिया करके उसको निष्क्रीय कर देते हैं, इससे प्रोटीन का पेशाब में जाना रुक जाता है और यूरिया क्रिएटनिन का लेवल भी सामान्य हो जाता है तथा सूजन में कमी आती है |

डॉ. सक्सेना के मुताबिक प्याज के उपयोग के बहुत सकारात्मक परिणाम मरीजों में देखे गए हैं |

साथ ही प्याज में कई यौगिकों की उपस्थिति आपकी मांसपेशियों और तंत्रिकाओं को स्वस्थ रखती है।

मधुमेह से गुर्दे में आने वाली खराबी से बचने और उसके उपचार के लिए मधुमेह के रोगी प्याज को कच्चा या पकाकर किसी भी प्रकार से रोजाना उपयोग करें तो उन्हें लाभ मिल सकता है |

जो लोग प्याज-लहसुन नहीं खाते हैं वे होमियोपैथिक की दवा एलियम सीपा भी ले सकते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *