#Daalchini || दालचीनी का तेल किस प्रकार और किस-2 बीमारी में इस्तेमाल किया जा सकता है ?

Daalchini Ka Tel, दालचीनी का तेल, दालचीनी के तेल के फायदे, दालचीनी की तासीर
85 / 100

 

का उपयोग भोजन में सुगंध व स्वाद लाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा, इसका उपयोग औषधि के रूप में भी किया जाता है क्योंकि इसे स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी माना जाता है। वहीं, की तरह ही कई शारीरिक समस्याओं में इससे बनने वाले तेल यानी के तेल का उपयोग भी फायदेमंद माना जाता है।

Cinnamon And Honey Benefits

का तेल || Daalchini Ka Tel

Daalchini Ka Tel, दालचीनी का तेल, दालचीनी के तेल के फायदे, दालचीनी की तासीर

Daalchini Ka Tel, का तेल, के तेल के फायदे, की तासीर

के पेड़ की छाल, पत्ते और जड़ तीनो से 3 किस्म का तेल निकलता है। इनमे की छाल का तेल उत्तम माना जाता है। के तेल को cinnamon oil भी कहता है। यह तेल आपको किसी भी आयुर्वेदिक मेडिसिन वाले के यहां से आसानी से मिल जायगा।

का तेल नया होने पर पीलापन लिए हुए और पुराना होने पर लालिमा लिए हुए पीला हो जाता है। का तेल (Daalchini ka tel) भारी (गरिष्ठ ) होता है और पानी में डूब जाता है। यह वेदनास्थापक, व्रणशोधक तथा व्रणरोपण है। औषधि के रूप में इसका बहुत उपयोग होता है।

के तेल के फायदे

के तेल का प्रयोग दर्द दूर करने, घाव और सूजन को समाप्त करने,  त्वचा की खुजली को भी खत्म करने के साथ, दांतों के दर्द में के लिए किया जाता है |  मुखशुद्धि और कण्ठशुद्धि करती है इसलिए मुंह से बदबू आने की समस्या में को मुंह में रखकर चूसना काफी फायदेमंद सिद्ध होता है | 

दालचीनी के नुकसान || दालचीनी की तासीर 

  1. दालचीनी की तासीर गर्म होती है इसलिए गर्म प्रकृति वाले इसका उपयोग खूब सावधानी से करे।
  2. दालचीनी का अत्यधिक मात्रा में या लम्बे समय तक सेवन करने से वीर्यशोधक-नपुसंकता लानेवाला सिद्ध होता है इसलिए दालचीनी का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। 
  3. दालचीनी के तेल की अत्यधिक मात्रा विषतुल्य होती है। दालचीनी का तेल या अर्क अत्यंत उग्र होता है इसलिए इसे आँखों पर नहीं लगने देना चाहिए।
  4. संवेदनशील त्वचा पर दालचीनी के तेल का इस्तेमाल जलन और रैशेज का कारण भी बन सकता है।

सिर्फ फायदा चाहिए तो इतनी मात्रा में करें दालचीनी का सेवन, नहीं तो पड़ सकते हैं लेने के देने

दालचीनी के तेल (daalchini ka tel) के प्रयोग और दालचीनी के नुकसान जानने के बाद अब नीचे जानिए दालचीनी का तेल किस प्रकार और किस-२ बीमारी में इस्तेमाल किया जा सकता है

दालचीनी के तेल के औषधीय उपयोग

  1. दालचीनी का तेल २-३ बुँदे एक कप पानी में मिला कर देने से इन्फ्लुएंजा, जिहवास्तंभन, ग्रहणी, अंतर्षुल, हिचकी, उलटी वगेहरा में लाभ होता है।
  2. दालचीनी का तेल या अर्क लेने से उदरशूल मिटता है।
  3. दालचीनी का तेल या काढ़ा लेने से कष्टत्व में लाभ होता है।
  4. दालचीनी पानी में पीसकर, गर्म करके कनपटी पर लेप करने से अथवा दालचीनी का तेल या अर्क लगाने से सर्दी के कारण होने वाला सिरदर्द मिटता है।
  5. दालचीनी का तेल वातविकार पर मलने से फायदा करता है।
  6. दालचीनी के तेल या अर्क वाला रुई का फाहा दुखती दाढ़ पर रखने से राहत मिलती है।
  7. दालचीनी के तेल को तिल के तेल के साथ मिलाकर हैजे में या अन्य प्रकार के बेहोशी में ( शरीर क्षीण हो जाने या शीतल (ठंडा) हो जाने पर ) मलने से गर्मी आती है और बेहोशी दूर होती है।
  8. त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए दालचीनी के तेल का इस्तेमाल हर्बल साबुन और क्रीम में किया जाता है।
  9. अरोमाथेरेपी ( एक प्राकृतिक उपचार पद्धति है जिसमे प्राकृतिक पौधों के अर्क या तेल का उपयोग करते है।) के लिए दालचीनी के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  10. एक गिलास गुनगुने पानी में इसके तेल की कुछ बूंदों का इस्तेमाल कर कुल्ला (Mouthwash) करने से मुँह की दुर्गन्ध दूर करने में को दूर करने में काफी फायदेमंद होता है |
  11. दालचीनी के तेल का इस्तेमाल कई परफ्यूम में भी किया जाता है।
  12. दालचीनी का तेल जोड़ों में दर्द के कारण होने वाली परेशानी को दूर करने में काफी फायदेमंद होता है।

Cinnamon

Disclaimer:-

सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। हम इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करते |

 

Related Topics You May interested:- 

सर्दी-खांसी और जुकाम से हैं परेशान, अपनाएं ये 11 घरेलू नुस्खे || सर्दी जुकाम का इलाज

इन 3 घरेलु मसालों से घुटनो का दर्द, जोड़ों का दर्द और गठिया दूर भगाये

जोड़ो के दर्द में मेथी दाने का उपयोग कैसे करे? || किन लोगो को मेथी दाने का उपयोग नहीं करना चाहिए?

Sugar ke lakshan in Hindi || मधुमेह के लक्षण || डायबिटीज के 10 लक्षण || Diabetes ke lakshan

डायबिटीज रोगियों के लिए जरूरी 12 टिप्स

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *